BREAKING NEWS

कोरोना कहर के बीच सरकार का बड़ा ऐलान, संक्रमण के मरीजों के लिए प्लाज्मा थेरेपी पर लगाई रोक◾ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की कीमत पर लगाम लगाने के लिए फॉर्मूला बनाए केंद्र सरकार : दिल्ली HC◾पश्चिम बंगाल : नारदा मामले में गिरफ्तारी के 7 घंटे बाद चारों टीएमसी नेताओं को CBI कोर्ट से मिली जमानत◾दिल्ली को कोरोना से मिली राहत, पिछले 24 घंटे में आए 4524 नए मामले, 340 की हुई मौत◾नारदा केस : TMC का प्रदर्शन, अभिषेक बनर्जी बोले- लॉकडाउन का करें पालन, लड़ाई कानूनी तरीके से लड़ेंगे◾ऑक्सीजन एक्सप्रेस का 13 राज्यों को मिला है लाभ, रेलवे ने अब तक पहुंचाई रिकॉर्ड 10000 टन जीवनदायी गैस◾सुरजेवाला ने केंद्र को बताया ‘जन लूट सरकार’, कहा- कोरोना काल में राहत देने की बजाय लाद रही टैक्स का बोझ ◾TMC नेताओं पर हुई CBI कार्रवाई के बाद ममता ने शुरू किया धरना, कहा- ये गिरफ्तारियां राजनीति से प्रेरित और अवैध◾डीआरडीओ की एंटी कोविड दवा 2-DG की पहली खेप जारी,राजनाथ सिंह ने बताया- 'उम्मीद की किरण' ◾गुजरात की ओर बढ़ रहा Cyclone Tauktae, सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाए गए एक लाख लोग ◾PMCares के वेंटिलेटर और पीएम में कई समानताएं, दोनों का हद से ज्यादा झूठा प्रचार, काम करने में फेल : राहुल ◾तेजस्वी यादव ने CM नीतीश पर साधा निशाना, बोले- 'कुर्सी छोडें, हम बताएंगे कैसे पहुंचाई जाती है लोगों को मदद◾नारदा केस: TMC के 2 मंत्रियों समेत 4 नेता अरेस्ट, CBI के दफ्तर पहुंची CM ममता, कहा- मुझे भी करो गिरफ्तार ◾कोरोना वायरस : देश में बीते 24 घंटे में आए 3 लाख से कम नए केस, 4106 लोगों ने गंवाई जान ◾कोरोना महामारी के बीच खुले केदारनाथ के कपाट, PM मोदी की ओर से की गई पहली पूजा◾तालाबंदी का हो रहा गहरा प्रभाव, कोरोना महामारी को मात देने में असरदार, आज से कई राज्यों में बढ़ा लॉकडाउन◾विश्व में कोरोना महामारी का प्रकोप जारी, अब तक 33.7 लाख लोगों ने गंवाई जान◾गुजरात की तरफ बढ़ा चक्रवात तौकते, मुंबई में तेज हवाओं के साथ हो रही है बारिश, अब तक 8 लोगों की मौत ◾ताउते तूफान : गुजरात,दीव के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी◾ऑक्सिजन कंसंट्रेटर्स की कालाबाजारी के मामले में दिल्ली के कारोबारी नवनीत कालरा को गुरुग्राम से किया गिरफ्तार◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

बडख़ल झील आज भी प्यासी

फरीदाबाद: प्रदेश में भाजपा की सरकार बने लगभग ढाई साल बीत चुका है, मगर इन बीते ढाई सालों में सरकार ढाई कोस भी न चल पाई है और हालात ज्यों के त्यों हैं। चुनावों से पूर्व बडख़ल झील बडख़ल विधानसभा क्षेत्र का सबसे बड़ा चुनावी मुद्दा था और समय-समय पर कभी पर्यटन मंत्री तो कभी मुख्यमंत्री ने स्वयं इस क्षेत्र का दौरा किया, मगर बीते ढाई साल में झील को भरने की बात तो दूर सरकार एक बूंद पानी भी लाने में कामयाब नहीं हो पाई है। अब हालात यह हैं कि लोगों का जो बडख़ल झील भरने का सपना था, वह टूट गया और उन्होंने उम्मीद छोड़ दी है। बडख़ल झील को भरना तो दूर की बात इसकी मरम्मत तक करना प्रशासन के लिए टेढ़ी खीर साबित हो रहा है।

लोगों को नहीं लगता कि बडख़ल झील को भरने की सरकार की नीयत है। बडख़ल झील की दुर्दशा का आलम यह है कि बडख़ल झील का पानी रोकने के लिए बनाई गई बाउंड्री वॉल की हालत इतनी खराब है कि अगर इसमें पानी भरा भी जाता है, तो इसकी मोरी कभी भी टूट सकती है और बाउंड्री वॉल पानी का बहाव नहीं सह पाएगी। झील की पटरी पर लगी सीढिय़ां, टाइलें एवं बैठने के लिए बनाई गई सीटों की हालत खस्ता हो चुकी है, मगर सरकार को इसकी कोई चिंता नहीं है। कभी शहर की रौनक कहलाने वाली बडख़ल झील आज अपनी बदहाली पर आंसू बहा रही है।

- राकेश देव