BREAKING NEWS

राजस्थान : कांग्रेस विधायक दल की दूसरी बैठक आज, सचिन पायलट को किया आमंत्रित ◾नेपाल के पीएम ओली का बेतुका बयान, कहा - भगवान राम नेपाली है और भारत की अयोध्या है नकली◾दिल्ली में कोरोना का कहर जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 1.13 लाख के पार, बीते 24 घंटे में 1,246 नए केस◾राजस्थान में जारी सियासी उठापटक पर भाजपा ने कहा- विधायकों की गिनती के लिए सड़क या होटल नहीं, विधानसभा उपयुक्त स्थान ◾महाराष्ट्र में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 2.60 लाख के पार, मरने वालों का आंकड़ा 10,482 पहुंचा◾पायलट को मनाने में लगे राहुल और प्रियंका, कई वरिष्ठ नेताओं ने भी किया संपर्क ◾एलएसी विवाद : कल होगी भारत-चीन के बीच लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की चौथी बैठक◾बौखलाए चीन ने निकाली खीज, अमेरिका के शीर्ष अधिकारियों - नेताओं पर वीजा प्रतिबंध लगाया ◾कांग्रेस विधायक दल की बैठक में गहलोत के समर्थन में प्रस्ताव पारित, हाईकमान के नेतृत्व में जताया विश्वास ◾बच गई राजस्थान की कांग्रेस सरकार, मुख्यमंत्री गहलोत ने विधायकों के संग दिखाया शक्ति प्रदर्शन◾सीबीएसई बोर्ड की 12वीं कक्षा के परिणाम घोषित, 88.78% परीक्षार्थी रहे उत्तीर्ण ◾श्रीपद्मनाभ स्वामी मंदिर प्रबंधन पर शाही परिवार का अधिकार SC ने रखा बरकरार◾सियासी संकट के बीच CM गहलोत के करीबियों पर IT का शकंजा, राजस्थान से लेकर दिल्ली तक छापेमारी◾राहुल ने केंद्र पर साधा सवालिया निशाना, कहा- क्या भारत कोरोना जंग में अच्छी स्थिति में है?◾जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ जारी, एक आतंकवादी ढेर ◾देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 8 लाख 78 हजार के पार, साढ़े पांच लाख से अधिक लोगों ने महामारी से पाया निजात ◾दुनियाभर में कोरोना संक्रमितों के आंकड़ों में बढ़ोतरी का सिलसिला जारी, मरीजों की संख्या 1 करोड़ 29 लाख के करीब ◾CM शिवराज ने किया मंत्रिमंडल में विभागों का बंटवारा, नरोत्तम मिश्रा बने MP के गृह मंत्री◾असम में बाढ़ और भूस्खलन में चार और लोगों की मौत, करीब 13 लाख लोग प्रभावित◾चीन से तनाव के बीच सेना के आधुनिकीकरण के तहत अमेरिका से 72,000 असॉल्ट राइफल खरीद रहा भारत◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

भाजपा -जजपा ने जुमलेबाजी करके वोट हथियाने का काम किया: अभय

हरियाणा विधानसभा के बजट सत्र में राज्यपाल महोदय के अभिभाषण में भाजपा-जजपा की सरकार ने जल-संरक्षण बारे ध्यान देने की वचनबद्धता का गुणगान किया है। इनेलो नेता चौधरी अभय सिंह चौटाला ने कहा कि भाजपा और जजपा ने जुमलेबाजी करके आम आदमी का वोट हथियाने का काम किया है जबकि संगठन की सरकार के दोनों सहयोगियों ने सत्ता प्राप्ति के बाद अपने किए वायदे रद्दी की टोकरी में डाल दिए हैं। 

महामहिम राज्यपाल के अभिभाषण में जल-संरक्षण के बारे में सरकार के रोडमैप को अगर देखा जाए तो हरियाणा में राष्ट्रीय जल मिशन के तहत जल-संरक्षण योजनाएं एवं रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम भ्रष्टाचार की मिट्टी में दबती जा रही हैं। प्रत्येक जिले में 100 रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाने की योजना पर भी महज खानापूर्ति हो रही है। योजना लगाने वाले अधिकारी अमलीजामा पहनाने की बजाय आगे दौड़ पीछे चौड़ वाली रणनीति के तहत काम कर रहे हैं।

इनेलो नेता ने कहा कि सरकार ने जल संरक्षण योजना को अगर साफ नीयत और नीति से कामयाब करना है तो सबसे पहले हरियाणा की जीवनरेखा एसवाईएल के बारे में उच्चतम न्यायालय का फैसला लागू करवाकर नहर का निर्माण करवाएं। साउथ हरियाणा में भू-जल स्तर को बढ़ाने के लिए एसवाईएल एक उपयुक्त योजना साबित होगी जिससे किसान के खेत को पानी मिलेगा और भू-जल स्तर भी बढ़ेगा। सरकार दादूपुर-नलवी नहर योजना रद्द करके अम्बाला, कुरुक्षेत्र और यमुनानगर जिलों में भू-जल स्तर को और ज्यादा डार्कजोन में डाल दिया है। 

लगातार चौथे दिन शाहीन बाग पहुंचीं साधना रामचंद्रन कहा- पार्क में जाने के लिए मैंने कभी नहीं बोला

यह योजना जल संरक्षण के लिए इन जिलों के लिए एक वरदान साबित होती। सरकार द्वारा अगर घग्गर व मारकण्डा दरिया पर जगह-जगह बांध बनाकर जल का भंडारण किया जाए तो इससे भू-जल स्तर बढ़ेगा और सिंचाई, पीने के पानी की व्यवस्था को उचित बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने कहा कि सरकार ने गांवों और शहरों में शौचालयों के लिए जो अभियान चलाया था उसका गंदा पानी सीधा जमीन में डालने पर नीचे का पानी गंदा हो गया है जिसकी वजह से कैंसर और पीलिया जैसी बीमारियों को बढ़ावा मिला है। 

इनेलो नेता ने कहा कि सरकार ने जोहड़ आदि खोदने के लिए अनावश्यक राशि ऐसी जगह पर खर्च की है जिसका जल संरक्षण के लिए फायदा न के बराबर है। अगर सरकार द्वारा गांवों के जोहड़ों  को पक्का करके उसमें बारिश का पानी भण्डारण किया जाए तो भू-जल स्तर के लिए ये बेहतर तरीका होगा। सरकार को चाहिए कि प्रत्येक घर में बारिश का पानी भण्डारण करने के लिए एक योजना तैयार करनी चाहिए जिसके लिए आर्थिक सहायता देकर डिग्गी आदि बनाकर पानी का भण्डारण किया जा सकता है। 

जन स्वास्थ्य विभाग भी अपनी गैर जिम्मेदारी से नहीं बच सकता क्योंकि शहरों व गांवों में पीने का पानी गलियों और सडक़ों पर बगैर किसी रोक टोक के चलता रहता है। पानी की पाइपें जगह-जगह से लीक कर रही हैं जिसकी वजह से नागरिकों को पीने का पानी उपलब्ध नहीं होता। ऐसे पानी को जमीन में पाइपें डालकर रि-चार्जिंग के लिए प्रयोग किया जा सकता है।

उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय जल मिशन के तहत मुख्य सचिव की अध्यक्षता में कमेटियां तो गठित की गई हैं परंतु यह कमेटी सिर्फ कागजों तक ही सीमित है। सरकार को चाहिए कि इन कमेटियों की मार्फत जल संरक्षण प्रबंधन बारे प्रदेश में जिले व स्थान चिह्नित करके जल संरक्षण योजना एवं रेन वाटर हार्वेस्टिंग योजना को सुचारू रूप से लागू किया जाए। भाजपा-जजपा की सरकार ने चुनाव से पहले बुलंद वायदे किए थे कि पानी की व्यवस्था को सुचारू रूप से प्रबंधित किया जाएगा और किसानों के लिए सिंचाई, गांवों और शहरों में पीने के पानी के लिए उचित व्यवस्था की जाएगी। 

गिरते भू-जल स्तर को उठाने के लिए जल संरक्षण योजनाओं से लाभ उठाया जाएगा। विधानसभा सत्र में महामहिम से सिर्फ विजन पेश करने से सरकार का कर्तव्य पूरा नहीं हो जाता बल्कि सरकार को अपनी योजनाओं को क्रियान्वित करने के लिए अपनी नीयत और नीति साफ करनी होगी, नहीं तो प्रदेश की जनता वायदे न पूरे करने पर समय पर सबक भी सिखाना जानती है।