BREAKING NEWS

सीबीएसई बोर्ड की 12वीं कक्षा के परिणाम घोषित, 88.78% परीक्षार्थी रहे उत्तीर्ण ◾राजस्थान : कांग्रेस विधायकों का बैठक में पहुंचना जारी, सुरजेवाला बोले- कोई मतभेद है तो निकालेंगे समाधान◾श्रीपद्मनाभ स्वामी मंदिर प्रबंधन पर शाही परिवार का अधिकार SC ने रखा बरकरार◾सियासी संकट के बीच CM गहलोत के करीबियों पर IT का शकंजा, राजस्थान से लेकर दिल्ली तक छापेमारी◾राहुल ने केंद्र पर साधा सवालिया निशाना, कहा- क्या भारत कोरोना जंग में अच्छी स्थिति में है?◾जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ जारी, एक आतंकवादी ढेर ◾देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 8 लाख 78 हजार के पार, साढ़े पांच लाख से अधिक लोगों ने महामारी से पाया निजात ◾दुनियाभर में कोरोना संक्रमितों के आंकड़ों में बढ़ोतरी का सिलसिला जारी, मरीजों की संख्या 1 करोड़ 29 लाख के करीब ◾CM शिवराज ने किया मंत्रिमंडल में विभागों का बंटवारा, नरोत्तम मिश्रा बने MP के गृह मंत्री◾असम में बाढ़ और भूस्खलन में चार और लोगों की मौत, करीब 13 लाख लोग प्रभावित◾चीन से तनाव के बीच सेना के आधुनिकीकरण के तहत अमेरिका से 72,000 असॉल्ट राइफल खरीद रहा भारत◾पूर्वी लद्दाख में तनाव कम करने के लिए बुधवार तक होगी लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की वार्ता◾राजस्थान : कांग्रेस महासचिव अविनाश पांडे का दावा- गहलोत सरकार के पास 109 विधायकों का समर्थन ◾सचिन पायलट ने 30 विधायकों के समर्थन का दावा किया, कांग्रेस बोली- सुरक्षित है गहलोत सरकार ◾विकास दुबे के लिए मुखबिरी करने के आरोपी पुलिसकर्मी को खुद के एनकाउंटर का डर, SC में दी याचिका◾सचिन पायलट की खुली बगावत, विधायक दल की बैठक में नहीं होंगे शामिल, बोले- अल्पमत में है गहलोत सरकार◾राजस्थान में गुटबाजी के संकट को टालने के लिये अजय माकन और रणदीप सुरजेवाला जयपुर भेजे गए ◾राजस्थान में जारी सियासी घमासान के बीच, सिंधिया का ट्वीट, बोले- कांग्रेस पार्टी में प्रतिभा और क्षमता का स्थान नहीं◾नहीं थम रहा महाराष्ट्र में कोरोना का विस्फोट, बीते 24 घंटे में 7,827 नए केस, संक्रमितों का आंकड़ा 2.54 लाख के पार◾राजस्थान सियासी संकट के बीच, ज्योतिरादित्य सिंधिया से मिले सचिन पायलट ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

ओमप्रकाश चौटाला की फरलो रद्द करवाने के मामले की गृह मंत्री से कराएंगे जांच : अभय चौटाला

जींद : चौटाला परिवार में तकरार को तूफान आ गया है। प्रतिपक्ष नेता अभय सिंह चौटाला ने कहा है कि दुष्यंत-दिग्विजय और केजरीवाल ने षड्यंत्र के तहत इनेलो सुप्रीमो चौधरी ओमप्रकाश चौटाला की फरलो रद्द करवाई है। इस षड्यंत्र का पर्दाफाश करने के लिए गृह मंत्री से इसकी जांच की मांग करेंगे ताकि षड्यंत्रकारियों को बेनकाब किया जा सके।

इनेलो सुप्रीमो के साथ कोई ना-इंसाफी को लेकर वह न्यायालय का दरवाजा भी खटखटाएंगे। उन्होंने दिग्विजय-दुष्यंत को औरंगजेब की संज्ञा देते हुए कहा कि दादा की पीठ में छुरा घोंपकर जेल भेजने का जो काम इन दोनों ने किया है, ऐसा ही इतिहास में औरंगजेब ने अपने पिता को जेल में डालकर किया था। यहां पार्टी कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत करते हुए।

अभय सिंह चौटाला ने कहा कि 16 जनवरी को ओमप्रकाश चौटाला के फरलो की अर्जी लगाई थी जिसको 17 जनवरी डीजी ने मंजूर कर दिया था और शर्त लगाई थी कि वह तेजा खेड़ा फार्म पर ही रहेंगे और सप्ताह में एक बार पुलिस स्टेशन में उपस्थिति दर्ज कराएंगे। उन्होंने कहा कि 19 जनवरी को जेल प्रशासन ने फिर एक चिट्टी लिख कहा कि वे किसी भी राजनैतिक कार्यक्रम में भाग नहीं ले सकते। इसके बाद एक तीसरी चिट्टी होम मिनिस्ट्री की तरफ से लिखी गई जिसमें कहा गया कि उनके खिलाफ कोई साजिश नहीं की गई और उन्हें 28 तारीख को फरलो दी जाएगी।

नेता विपक्ष ने दिल्ली सरकार के इस रवैये की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि फरलो के मामले में तिहाड़ में बंद अन्य कैदियों पर उस तरह के नियम लागू नहीं किए जाते हैं जो इनेलो सुप्रीमो पर किए गए। पिछले दिनों अजय सिंह चौटाला को चुनावी दिनों में फरलो पर आए और उन्हें राजनैतिक सभाएं भी की।

दिल्ली सरकार के दोहरे व्यवहार से स्पष्ट है कि यह ओमप्रकाश चौटाला को जींद चुनाव में आने से रोकने की साजिश थी। नेता विपक्ष ने कहा कि जेल प्रशासन ने इनेलो सुप्रीमो की फरलो खारिज करने के पीछे यह दलील दी है कि उनके खिलाफ शिकायत याचिका आई है जिसके चलते ऐसा किया गया लेकिन उस याचिका पर न तो किसी का नाम है और वह फरलो के दो दिन बाद 21 जनवरी को जेल प्रशासन को मिली।