चंडीगढ़ : डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को पंचकूला की विशेष सीबीआई अदालत में सुनवाई को लेकर हरियाणा सरकार को बड़ी दी है। छत्रपति हत्याकांड में सीबीआई कोर्ट ने सरकार को बड़ी राहत दे दी है। दरअसल, कोर्ट में अब डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम को पेश नहीं करना पड़ेगा। कोर्ट ने 11 जनवरी को बाबा की पेशी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कराने के निर्देश दे दिए हैं।

लेकिन बाकी के तीनों आरोपियों को प्रत्यक्ष रूप से कोर्ट में पेश होना होगा। विशेष सीबीआई कोर्ट के जज जगदीप सिंह ने हरियाणा सरकार द्वारा दाखिल याचिका पर सुनवाई की। काबिलेजि़क्र है कि दो साध्वियों से दुष्कर्म के मामले में 20 साल कैद की सजा काट रहे डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम पर एक और मामले में अदालत का फैसला आने वाला है।

गुरमीत राम रहीम पर 16 साल पूर्व हुई पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या के मामले में 11 जनवरी को बड़ा फैसला सुनाया जाने की संभावना है। मामले में बुधवार को पंचकूला की विशेष सीबीआई अदालत में इस मामले पर सुनवाई पूरी हो गई। साध्वी दुष्कर्म मामले में सजा सुनाने वाले जज जगदीप सिंह छत्रपति हत्याकांड में फैसला सुनाएंगे। विशेष सीबीआई कोर्ट के जज जगदीप सिंह ने 11 जनवरी को पत्रकार रामचंद्र छत्रपति हत्या मामले में डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से पेश किए जाने का निर्देश दिया है।

गुरमीत राम रहीम दो साध्वियों से दुष्कर्म के मामले में रोहतक की सुनारिया जेल में 20 साल कैद की सजा काट रहा है। सीबीआई की विशेष अदालत के जज जगदीप सिंह ने ही साध्वियों से दुष्कर्म मामले में फैसला सुनाया था। जज जगदीप सिंह ने सुनारिया जेल के अधीक्षक को निर्देश दिया कि वह डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को पंचकूला स्थित विशेष सीबीआई कोर्ट में विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पेश करें।

(आहूजा)