BREAKING NEWS

जमातियों का जमघट : देर रात इंडोनेशियाई की 5 महिला मौलवी सहित मस्जिद में छिपे 15 दबोचे गए◾कोरोना वायरस : देश में संक्रमितों की संख्या 3,300 के पार, 77 लोगों की मौत की पुष्टि ◾अमेरिका में कोरोना वायरस संक्रमण मामलों की संख्या 3 लाख के पार हुई, इटली में 15362 लोगों की मौत ◾कोविड-19: दिल्ली में संक्रमण के मामले बढ़कर हुए 445, उनमें से 301 लोग हुए थे निजामुद्दीन के कार्यक्रम में शामिल ◾लॉकडाउन : शहर में फंसे विदेशियों के लिए ट्रांजिट पास जारी करेगी दिल्ली सरकार◾ कोरोना वायरस : राष्ट्रपति ट्रम्प ने दी मास्क पहन कर घर से बाहर निकलने की सलाह, खुद नहीं पहनेंगे मास्क ◾PM मोदी ने की उच्चाधिकार प्राप्त समूहों की संयुक्त बैठक की अध्यक्षता◾तिहाड़ जेल कैदियों ने जेल में ही बना डाले 75000 मास्क, सेनेटाइजर◾महाराष्ट्र के मंत्री जितेंद्र आव्हाड का दावा : गृह मंत्रालय ने ही दी थी तबलीगी जमात को अनुमति◾कोविड-19 का प्रकोप : दुनियाभर में कोरोना के मामले 11 लाख के पार, 59 हजार से अधिक लोगों की मौत ◾स्वास्थ्य मंत्रालय : देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 3,072 तक पहुंची, अब तक 75 लोगों की मौत ◾दिल्ली में 445 लोग COVID-19 से संक्रमित, और बढ़ सकते हैं मामलें : CM केजरीवाल◾तबलीगी जमात के मुखिया मौलाना साद ने क्राइम ब्रांच को भेजा जवाब, कहा- अभी सेल्फ क्वारनटीन में हूं, बाकी सवाल बाद में◾स्वास्थ्य मंत्रालय का बयान : देश के कुल कोरोना संक्रमित मामलों में 30 फीसदी तबलीगी जमात के लोग◾राहुल गांधी ने PM मोदी पर साधा निशाना, ट्वीट कर कही ये बात ◾कोविड-19 पर सरकार ने जारी किया परामर्श, चेहरे और मुंह के बचाव के लिए घर में बने सुरक्षा कवर का करे प्रयोग◾जानिये क्यों, पीएम की 9 मिनट लाइट बंद करने की अपील के बाद अलर्ट मोड पर है बिजली विभाग की कंपनियां◾तबलीगी जमातियों पर भड़के राज ठाकरे,कहा- ऐसे लोगों को गोली मार देनी चाहिए ◾PM मोदी ने अटल बिहारी बाजपेयी की कविता को शेयर करते हुए कहा- आओ दीया जलाएं◾देश में कोरोना वायरस का प्रकोप जारी, गौतम बुद्ध नगर में वायरस के 5 नए मामले आए सामने ◾

सरकार पर चौधरियों ने बोला हल्ला

जींद: अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष यशपाल मलिक पर गांव समैण में हुए हमले के लिए उनके समर्थक चौधरियों ने सीधे-सीधे सरकार की चाल बताया है। समर्थक चौधरियों ने इसे बराला घटनाक्रम से ध्यान हटाने की कुचाल बताते हुए 18 अगस्त को फतेहाबाद में प्रदेश स्तरीय पंचायत कर निर्णायक निर्णय लेने का आह्वान किया है। बुधवार को जींद की जाट धर्मशाला में समिति से जुड़े चौधरियों ने एक बैठक कर यशपाल मलिक पर हुए हमले की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग बुलंद की। पत्रकारों से बात करते हुए माजरा खाप के प्रधान महेन्द्र सिंह और समिति के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य रणधीर चहल ने कहा कि यशपाल मलिक 27 अगस्त को झज्जर में प्रस्तावित जनसभा को लेकर समैण में न्यौता देने के लिए गए हुए थे।

किंतु जनसभा में कुछेक समाज के जयचंदों के इशारों पर भटके हुए युवाओं ने यशपाल मलिक पर पीछे से वार कर दिया। इस हमले के पीछे सीधे-सीधे सरकार जिम्मेदार है। क्योंकि जनसभा में जब भारी संख्या में पुलिस बल मौजूद था, तो उन्होंने हमलावरों को रोकने की कोशिश क्यों नहीं की। इस हमले के पीछे सरकार की मंशा साफ तौर पर जाहिर हो रही है कि वह पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बराला के वर्णिका कुंडू से छेड़छाड़ मामले पर लोगों का ध्यान हटाना चाहते हैं। सरकार जाट समाज में फूट डालकर अपनी राजनीतिक रोटी सेंकने की फिराक में है। महेंद्र सिंह रिढाल ने कहा कि सरकार की इस चाल का जवाब देने के लिए 18 अगस्त को फतेहाबाद में पूरे हरियाणा का जाट समाज जुटेगा। उन्होंने कहा कि सूबे सिंह समैण की पिछले एक-दो सालों में आरक्षण आंदोलन के दौरान जाट समाज ने कतई भी पूछ नहीं की। इसलिए वह अब सरकार के इशारे पर खेलते हुुए औच्छी हरकतें करवा रहा है।

आरक्षण आंदोलन के दौरान एकत्रित हुए लाखों के चंदे पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि समिति के पूर्व प्रधान वीरभान ढुल और कुछेक लोग समाज को भ्रमित करने का प्रयास कर रहे हैं। रणधीर चहल ने कहा कि चंदे की राशि में से एक कोड़ी भी वीरभान ढुल और दूसरे गिने-चुने लोगों को नहीं सौंपी जाएगी। यह राशि जींद जिले में होने वाले आरक्षण आंदोलनों में ही खर्च की जाएगी। उन्होंने कहा कि ढुल तथा उनके गिने-चुने जो साथी चंदे की राशि के चैक को लेकर जो कानून का सहारा लेने की बात कर रहे है, वे इससे घबराने वाले नहीं है। वे लोग कानून की लड़ाई भी बखूबी से लडऩा जानते हैं। कानून का जवाब कानून के हिसाब से दिया जाएगा। इसलिए जो आदमी संगठन से भागकर आएं दिन ब्यानबाजी कर रहे है, उनका चंदे पर कोई हक नहीं है। यह पैसा आरक्षण आंदोलनों पर ही लगाया जाएगा। बैठक में सत्यवान ईक्कस समेत दर्जनों चौधरियों ने अपने विचार रखे।

- संजय शर्मा