BREAKING NEWS

जम्मू-कश्मीर के रियासी में आतंकी ठिकाने का भंडाफोड़, भारी मात्रा में हथियार और गोला-बारूद जब्त ◾विकास दर में कमी, महंगाई में तेजी की ‘दोहरी मार’ से लोग प्रभावित : कांग्रेस ◾विधानसभा चुनावों की घोषणा : कांग्रेस ने निर्णय का किया स्वागत, कहा - लोग भाजपा को ‘करारा’ जवाब देंगे ◾टीएमसी, अन्य ने बंगाल में आठ चरणों में चुनाव पर सवाल उठाए, भाजपा ने आयोग के फैसले का किया स्वागत◾सीतारमण ने जी-20 बैठक में कोरोना संकट से निपटने की भारत की नीति की जानकारी दी ◾कांग्रेस ने अर्थव्यवस्था को लेकर केंद्र सरकार पर साधा निशाना ◾ममता बनर्जी ने उठाए आठ चरणों में वोटिंग पर सवाल, कहा- BJP के कहने पर चुनाव आयोग ने लिया फैसला◾TMC के शासन काल में राजनीतिक हिंसा ‘‘नई ऊंचाइयों’’ पर पहुंच गई है : राजनाथ सिंह ◾विधानसभा में जो भाषा मुख्यमंत्री बोलते है, वह किसी योगी द्वारा नहीं बोली जा सकती : अखिलेश यादव ◾ईंधन मूल्यों की बढ़ोतरी को सीतारमण ने बताया धर्मसंकट, शिवसेना ने कहा- पद पर बने रहने का अधिकार नहीं ◾अर्थव्यवस्था में आयी ऊंचाई , तीसरी तिमाही में जीडीपी में दर्ज हुई 0.4 प्रतिशत की वृद्धि ◾कोविड टीके के लिए वरिष्ठ नागरिक, बीमारी से ग्रसित 45 वर्ष से अधिक आयु के लोग कराएं ‘ऑन-साइट’ पंजीकरण ◾निर्वाचन आयोग ने बंगाल सहित 5 राज्यों में किया चुनावी तारीखों का ऐलान, 2 मई को आएंगे सभी राज्यों के नतीजे ◾बंगाल चुनाव के ऐलान से पहले ममता बनर्जी ने घोषणाओं की लगाई झड़ी, श्रमिकों का बढ़ाया वेतन ◾केंद्रीय गृह मंत्रालय ने किया ऐलान - कोविड-19 पर मौजूदा दिशानिर्देश 31 मार्च तक लागू रहेंगे ◾गुजरात में बोले केजरीवाल - जनता जानती है हम सच्चे देशभक्त हैं, 2022 चुनाव में एक बड़ी क्रांति आएगी◾पश्चिम बंगाल में रोड शो कर स्मृति रानी ने ममता बनर्जी को दिया जवाब, कहा - बंगाल में खिलेगा कमल◾CTET Result 2021: सीबीएसई द्वारा घोषित किए गए नतीजे, 6.5 लाख उम्मीदवार सफल◾PM मोदी ने किया खेलो इंडिया Winter games का उद्घाटन, कहा -स्पोर्ट सिर्फ एक हॉबी नहीं स्पिरिट है ◾MGR यूनिवर्सिटी को संबोधित करते हुए PM मोदी बोले- देश में 2014 से मेडिकल PG की बढ़ीं 24 हजार सीटें◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

मुख्यमंत्री खट्टर ने लोगों से पर्यावरण संरक्षण का संकल्प लेने के लिए किया आग्रह

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने विश्व पर्यावरण दिवस पर राज्य के लोगों से पर्यावरण का संरक्षण करने और पारिस्थितिकी संतुलन बरकरार रखने का संकल्प लेने का आग्रह किया। खट्टर ने ट्वीट किया, ‘‘विश्व पर्यावरण दिवस पर आइये, पर्यावरण संरक्षण के प्रति अपना योगदान करने का संकल्प लें।’’ उन्होंने एक अन्य ट्वीट में पारिस्थितिकी संतुलन बरकरार रखने की जरूरत पर बल देते हुए कहा, ‘‘पृथ्वी प्रत्येक मनुष्य की जरूरतों को पूरा करने के लिए पर्याप्त मुहैया कराती है लेकिन प्रत्येक व्यक्ति की लालसा पूरी नहीं होती।’’ 



वहीं हरियाणा के वन एवं पर्यावरण मंत्री कंवर पाल ने यमुनानगर में कहा कि इस वर्ष राज्य में एक करोड़ से अधिक वृक्षारोपण का लक्ष्य निर्धारित किया गया है जिसके लिए 1,100 गांवों की पहचान की गई है। पाल ने यमुनानगर में पौधारोपण करने के बाद कहा कि वृक्षारोपण राज्य के प्रत्येक जिले के 50 गांवों में किया जाएगा। इससे पहले खट्टर ने विश्व पर्यावरण दिवस पर जारी एक संदेश में जल संरक्षण की जरूरत पर बल दिया। उन्होंने कहा, ‘‘इसे ध्यान में रखते हुए हरियाणा सरकार ने हाल ही में ‘मेरा पानी मेरी विरासत’ योजना शुरू की है ताकि पानी को भविष्य की पीढ़ियों के लिए बचाया जा सके।’’ 


उन्होंने कहा कि जलवायु परिवर्तन आज एक अन्य वैश्विक मुद्दा बन गया है। उन्होंने संदेश में कहा, ‘‘जलवायु परिवर्तन के कारण, हमारे मौसम बदल रहे हैं, तापमान बढ़ रहा है और भूजल स्तर गिर रहा है। मानसून के रुख में बदलाव के कारण बाढ़, सूखा, भूकंप, सुनामी और चक्रवाती तूफान जैसी अन्य प्राकृतिक आपदाएं लगातार आ रही हैं। प्रकृति के साथ हस्तक्षेप से स्वच्छ जल और वायु की कमी होगी।” 


इस बीच, अंबाला जिले में मुल्लाना निर्वाचन क्षेत्र से कांग्रेस विधायक वरुण चौधरी ने कहा कि हरियाणा सरकार ने आने वाले वर्षों में वन प्रसार वर्तमान के 3.90 प्रतिशत से बढ़ाकर 20 प्रतिशत करने का लक्ष्य रखा है लेकिन उसे स्वयं को केवल वृक्षारोपण अभियान तक ही सीमित नहीं रखना चाहिए बल्कि पौधों के बचे रहने की दर पर भी ध्यान देना चाहिए। 


चौधरी ने कहा, ‘‘राज्य सरकार को खुद को केवल वृक्षारोपण अभियान तक ही सीमित नहीं रखना चाहिए बल्कि विशेष रूप से पहले वर्ष के दौरान पेड़ों के बचे रहने की दरों पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए। साथ ही वृक्षारोपण के लिए कई प्रकार के वृक्षों को बढ़ावा देना चाहिए, जिनमें देसी वृक्षों की प्रजातियां शामिल हों क्योंकि इनका पर्यावरण पर बेहतर प्रभाव होता है।’’ उन्होंने सरकार को यह लक्ष्य हासिल करने के लिए बिना शर्त समर्थन की पेशकश की और इस उद्देश्य में सभी 90 विधायकों को शामिल करने का सुझाव दिया।