BREAKING NEWS

किसानों को अमित शाह का संदेश- हर समस्या और मांग पर सरकार विचार करने को तैयार◾दिल्ली में 24 घंटे में संक्रमण के 4998 नए मामले आये सामने, 89 और लोगों की मौत◾दिल्ली में कम हो रहा महामारी का संक्रमण, बीत चुका है कोरोना का तीसरा पीक : CM केजरीवाल◾पंजाब के CM अमरिंदर का बड़ा हमला- मेरे किसानों पर हुई निर्दयता, माफी मांगें खट्टर◾ओवैसी के गढ़ में CM योगी का भव्य स्वागत, लोगों ने लगाए आया-आया शेर आया के नारे◾हैदराबाद नगर निगम चुनाव: भाजपा के संबित पात्रा ने AIMIM और TRS पर जमकर हमला बोला ◾हरियाणा : प्रदर्शनकारी किसान नेताओं पर हत्या के प्रयास और दंगा करने के आरोप में मामला दर्ज ◾दिल्ली के निरंकारी मैदान में इकट्ठा हुए सैकड़ों किसान, नारों, गीतों व ढोल-नगाड़ों से गूंजा मैदान◾कोरोना वैक्सीन निर्माण की समीक्षा करने के लिए पुणे के सीरम इंस्टिट्यूट पहुंचे PM मोदी◾किसानों से बात करने के लिए पूरी तरह तैयार केंद्र, आंदोलन पर राजनीति न करें पार्टियां : नरेंद्र सिंह तोमर◾हजारों किसानों ने सिंघू बॉर्डर पर डटे रहने का किया फैसला, लगा सात किलोमीटर लंबा जाम◾राकेश टिकैत के ऐलान के बाद दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर भी किसान मोर्चा खुलने की आशंका, पुलिस सतर्क ◾कोरोना महामारी की चपेट में आए NCP के विधायक भारत भालके का हुआ निधन◾दिल्ली बॉर्डर पर किसानों का हल्लाबोल जारी, बोले - छह महीने तक भी कर सकते है प्रदर्शन ◾राहुल और प्रियंका का वार- PM मोदी के अहंकार ने जवान को किसान के खिलाफ खड़ा कर दिया◾आंदोलन में भाग लेने के लिए 2 लाख और किसान पहुंचेंगे दिल्ली, 40 किलोमीटर लंबा है गाड़ियों का काफिला◾UP : राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने गैर कानूनी धर्म परिवर्तन के खिलाफ अध्यादेश को दी मंजूरी◾TOP 5 NEWS 28 NOVEMBER : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾विश्व के लगभग हर देश में कोरोना का प्रकोप तेज, संक्रमितों का आंकड़ा 6 करोड़ 15 लाख से अधिक ◾देश में कोरोना के एक्टिव केस साढ़े चार लाख से अधिक, संक्रमितों का आंकड़ा साढ़े 93 लाख के पार ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

धान खरीद को लेकर गठबंधन सरकार के मंत्रियों में मतभेद

अम्बाला : हरियाणा की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और जननायक जनता पार्टी (जजपा) गठबंधन सरकार में हुये पहले मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर अभी एक हफ्ता भी बीता नहीं है कि सरकर के मंत्रियों के बीच मतभेद सामने आने लगे हैं। सरकार में भाजपा मंत्री अनिल विज और जजपा नेता एवं उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला धान खरीद को लेकर आमने-सामने हैं। 

दुष्यंत धान खरीद में चोरी होने का शक जाहिर होने और इसके लिये राइस मिलरों के खिलाफ कार्रवाई करने को लेकर अपनी पीठ थपथपा रहे हैं तो वहीं प्रदेश के गृह मंत्री अनिल विज उनसे एकदम उलट घोटाला न होने और राईस मिलरों को क्लीन चिट देने का काम कर रहे हैं। राज्य में धान खरीद में कथित तौर पर घोटाला होने का मामला तूल पकड़ने लगा है। इस मामले में खाद्य आपूर्ति विभाग की कमान संभाल रहे दुष्यंत चौटाला कई बार यह बयान दे चुके हैं कि वह किसानों के धान का एक-एक दाना खरीदेंगे। 

इतना ही नहीं धान खरीद में घोटाला होने के कांग्रेस के कथित आरोपों पर भी उप मुख्यमंत्री खुद की पीठ थपथपा कर यह बयान दे रहे हैं कि राज्य में राजस्व के लुटेरों को बख्शा नहीं जायेगा। गौरतलब है कि धान खरीद मामले को लेकर उठ रहे सवालों के बाद अब सरकार ने धान का एक भी दाना राईस मिलों के बाहर निकलने और अंदर जाने पर पाबंदी लगा दी है। सरकार ने राईस मिलों के बाहर कड़ पहरे के लिये ड्यूटी मजिस्ट्रेट भी तैनात कर दिए गए हैं। वहीं दूसरी और श्री विज राईस मिलरों को क्लीन चिट देते नजर आ रहे हैं। 

उनका कहना है कि ऐसा कोई घोटाला नहीं हुआ। सरकार ने अपने धान पर नजर रखने के लिए राईस मिलों में अपने नुमाइंदे बिठाये हैं। उनका कहना है कि राईस मिलों पर संदेह करने का कोई औचित्य नहीं हैं यह तो ज्वाइंट कस्टडी है। ऐसे में सरकार अगर अपना आदमी मिल के बाहर खड़ करती है तो इसका यह मतलब नहीं है कि कोई घोटाला हुआ है। वहीं श्री विज ने मामले में किसी भी प्रकार की जांच के आदेश दिये जाने को भी पूरी तरह से खारिज किया। 

उधर, राईस मिलर भी इस मामले में श्री विज के साथ सुर मिला रहे हैं। उनकी मानें तो सरकार ने आदेश दिए हैं कि सरकारी धान का एक भी दाना न तो मिल से बाहर जायेगा और न ही अंदर आएगा। मिल संचालकों की मानें तो यह सरकार का माल है और इसे लेकर वह जो भी चाहे आदेश दे सकती है। उन्हें इसमें कोई आपत्ति नहीं है।