सोनीपत : हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने यहां सोनीपत में दलबल के साथ नामांकन पत्र दाखिल किया। उनकी पत्नी आशा हुड्डा ने कवरिंग कैंडिडेट के तौर पर पर्चा दाखिल किया। नामांकन से पूर्व यहां लघु सचिवालय के बाहर जनसभा को संबोधित करते हुए सीएम मनोहर लाल पर सीधा वार किया और कहा कि आरक्षण में हरियाणा को जलाने वाले खुद ही बेनकाब हो गए हैं। उन्होंने कहा अब सीएम के माफी मांगने से जनता उन्हें माफ करने वाली नहीं है।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि कुरूक्षेत्र में हरियाणा के सीएम ने माफी मांगते हुए स्वीकार किया है कि सैनी ने भाईचारा बिगाड़ा और वह रोक नहीं पाए। इधर, सांसद राजकुमार सैनी का कहना है कि सीएम ने चंडीगढ़ में बैठ कर हरियाणा जलवाया और कारवाई नहीं होने दी। इससे साफ हो गया है कि हरियाणा जलाने के पीछे सरकार और राजकुमार सैनी का गठजोड़ काम कर रहा था। उन्होंने कहा कि सरकार का इससे चेहरा पूरी तरह बेनकाब हो गया है। अब सरकार को जवाब नहीं दिए बन रहे हैं, तो सीएम माफी मांगते फिर रहे हैं।

उन्होंने मुख्यमंत्री पर चुटकी लेते हुए कहा कि उन्हें कांटे बहुत याद आते हैं। अभी भी समय बचा है, अगर उनके मन में कोई शंका है, तो प्रदेश में किसी भी सीट से नामांकन कर लें, मैं वहीं से चुनाव लडऩे को तैयार हूं। तब पता चलेगा कि किसका कांटा कैसे निकलता है। उन्होंने कहा कि वह एक-दूसरे पर आरोप लगाने में विश्वास नहीं रखते बल्कि काम में विश्वास रखते हैं। सोनीपत की जनता जानती है कि दस साल के राज में यहां क्या-क्या काम हुआ है। अगर मौका मिला, तो फिर से दोगुना काम करेंगे।