BREAKING NEWS

आज का राशिफल (08 फरवरी 2023)◾आत्मनिर्भर नए भारत में हिंसा और वामपंथी उग्रवादी विचार की कोई जगह नहीं है : अमित शाह◾जीवीके ने राहुल गांधी के दावों को खारिज किया, कहा : मुंबई एयरपोर्ट को बेचने का कोई दबाव नहीं था◾Shraddha Walker Murder Case : श्रद्धा के शरीर के 17 से ज्यादा टुकड़े किए, आफताब ने कबूला - चार्जशीट◾तुर्किये और सीरिया में आए भीषण भूकंप में 7000 से अधिक लोगों की मौत◾शिंदे ने मछुआरे समुदाय को नजरअंदाज करने के लिए ठाकरे परिवार पर निशाना साधा◾सुप्रीम कोर्ट में MCD मेयर चुनाव के लिए आप की याचिका पर बुधवार को होगी सुनवाई ◾युवा कांग्रेस ने अडाणी समूह के मामले को लेकर किया प्रदर्शन◾मनोज तिवारी : केजरीवाल मंदिर के पुजारियों के साथ अन्याय कर रहे हैं, इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा◾Bilkis Bano case: सुप्रीम कोर्ट ने दोषियों की सजा में छूट के खिलाफ याचिका पर जल्द सुनवाई का दिया आश्वासन◾अमित शाह बोले- नयी सहकारिता नीति बनने से देश में सहकारी आंदोलन मजबूत होगा◾'कांग्रेस की अडाणी से नजदीकी...', राहुल गांधी के बयानों पर भाजपा सांसद निशिकांत दुबे का पलटवार ◾ममता बनर्जी बोलीं- सिर्फ TMC ही ‘डबल इंजन’ सरकार को सत्ता से कर सकती है बाहर◾असम : बाल विवाह के खिलाफ कार्रवाई के बाद अब समय सीमा के अंदर आरोपपत्र दाखिल करने की बड़ी चुनौती ◾श्रद्धा वाकर हत्याकांड में अदालत ने चार्जशीट पर लिया संज्ञान, 21 को सुनवाई◾ UP Politics: राहुल गांधी का बड़ा आरोप, बोले- 'CM योगी धार्मिक नेता नहीं, बल्कि एक मामूली ठग, बीजेपी कर रही अधर्म'◾AgustaWestland Scam: सुप्रीम कोर्ट ने बिचौलिये क्रिश्चियन मिशेल को जमानत देने से इंकार किया◾CM हिमंत बोले- त्रिपुरा की क्षेत्रीय अखंडता से समझौता नहीं करेगी भाजपा◾झारखंड : मंडी शुल्क के खिलाफ अनाज व्यापारियों का आंदोलन, दुकानें और प्रतिष्ठान बंद रखने का निर्णय ◾गृह मंत्रालय का बड़ा ऐलान, 'देश के 31 जिलों में अल्पसंख्यकों को नागरिकता देने का प्रावधान'◾

किसानों ने खराब फसलों के मुआवजे को लेकर प्रदर्शन में उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला का पुतला फूंका

किसानों ने खराब फसल के मुआवजा और अन्य कई मांगो को लेकर पिछले तीन दिनों से आंदोलनकारी किसानों ने बुधवार को नगर के बरनाला रोड पर बाबा भूमंन शाह चौक पर हरियाणा के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला का पुतला फूंक उनके  खिलाफ विरोध जताया है। इससे पहले उप मुख्यमंत्री के आवास पर जाकर विरोध दर्ज करवाना चाहते थे मगर आवास से पहले पुलिस ने बेरिकेड लगाकर किसानों को वहाँ पहुंचने से पहले ही रोक लिया। किसानों के विरोध के दृष्टिगत भारी पुलिस बल और वाटर केनन गाड़यों को तैनात किया गया था।

किसानों ने हरियाणा सरकार पर क्या  लगाए आरोप?

गौरतलब है कि सिरसा जिला के भारी तादाद में किसान भारतीय किसान एकता (बीकेई ) के बैनर तले बीती 16 जनवरी से अपनी मांगों को लेकर जिले भर के किसान लघु सचिवालय के समक्ष धरने पर डटे हुए हैं। किसानों का आरोप है कि हरियाणा सरकार की तरफ से अभी तक कोई भी प्रशासनिक अधिकारी किसानों से बात करने के लिए उनके बीच में नहीं पहुंचा।

प्रदर्शन पर बीकेई अध्यक्ष का क्या कहना है ?

किसानों की अगुवाई कर रहे बीकेई अध्यक्ष लखविंद, सिंह औलख ने कहा कि इस सर्दी के मौसम में जिस तरह से किसान ट्रालियों में रातें गुजारते हैं। उससे पता चलता है कि किसानों में वो जज्बा आज भी कायम है, जो दिल्ली बॉर्डर पर दिखाया और केंद, सरकार को इन कानूनो को वापिस करने पर मजबूर कर दिया। उसी हौंसले के साथ यह मोर्चा भी जीतकर ही घर वापिस जायेंगे।

किसानों की क्या –क्या है मांग? 

किसान नेता औलख ने बताया कि साल 2020 का 258 करोड़ रुपए बकाया खरीफ मुआवजा व बीमा राशि जारी करवाने, जिले में यूरिया-डीएपी) खाद की आपूर्ति, ग्वार, बागवानी, सब्जी, हराचारा सहित सभी फसलों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में शामिल करवाने, किसानों के घरों व खेतों में लगे पेड़-पौधों की पैमाईश व निशानदेही बंद करवाने, ओटू हैड पर हिसार घग्घर के पानी की निकासी के लिए सायफन बनवाने, ओटू हैड से बणी तक एनसीजी नहर का निर्माण, बेगू अरनियावाली, नेजिया व बाजेकां के किसानों की जमीन की चकबंदी बंद करवाने, नहरी खालों के निर्माण की समय सीमा न देखते हुए मौके के हालात के हिसाब से दोबारा बनवाने, शहर व कस्बों से हुक्का बार बंद करवाना, किसान की किसी भी फर्म के खिलाफ शिकायत पर एक सैंपल शिकायतकर्ता किसान को दिलवाना, वाहनों के रोड पर चलने की समय सीमा हटवाना, क्षेत्र से नशा व भ्रष्टाचार बंद करवाने संबंधी किसानों की मांगों में शामिल हैं। इस मौके पर जिले भर के गांवों से बड़ संख्या में किसान मौजूद रहे