BREAKING NEWS

भारत दौरे से पहले डोनाल्ड ट्रम्प बोले- भारत के साथ अभी अमेरिका नहीं करेगा ट्रेड डील◾जम्मू-कश्मीर : पुलवामा में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, तीन आतंकियों को किया ढेर◾राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास की पहली बैठक आज◾केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह बोले - कश्मीरी पंडितों का पुनर्वास सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता◾पासवान ने केजरीवाल को साफ पानी मुहैया करवाने की याद दिलाई◾J&K में पंचायतों के उपचुनाव सुरक्षा कारणों से स्थगित किए गए : जम्मू कश्मीर CEO◾मारिया खुलासे को लेकर BJP ने विपक्ष पर बोला हमला ,पूछा - क्या भगवा आतंकवाद साजिश कांग्रेस व ISI की संयुक्त योजना थी ?◾कोरोना वायरस से प्रभावित वुहान से और भारतीयों को वापस लाने, दवाएं पहुंचाने के लिए C-17 विमान भेजेगा भारत◾INX मीडिया मामले में CBI को आरोपपत्र से कुछ दस्तावेज चिदंबरम, कार्ति को सौंपने के निर्देश ◾मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त राकेश मारिया का दावा : लश्कर की योजना मुंबई हमले को हिंदू आतंकवाद के तौर पर पेश करने की थी◾ट्रम्प यात्रा को लेकर कांग्रेस ने BJP पर साधा निशाना , कहा - गरीबी को दीवार के पीछे छिपाने का प्रयास कर रही है सरकार◾संजय हेगड़े , साधना रामचंद्रन और वजाहत हबीबुल्लाह जाएंगे शाहीन बाग, शुरू होगी मध्यस्थता की कार्यवाही◾झारखंड और दिल्ली विधानसभा चुनाव में हार के बाद चिंतित बीजेपी बदल सकती है रणनीति◾ट्रंप को साबरमती आश्रम के दौरे के समय महात्मा गांधी की आत्मकथा, चित्र और चरखा भेंट किये जाएंगे◾जामिया वीडियो वार : नए वीडियो से मामले में आया नया मोड़ ◾अमर सिंह ने अमिताभ बच्चन से मांगी माफी, आपत्त‍िजनक टिप्पणियों को लेकर जताया खेद ◾UP आम बजट को कांग्रेस ने बताया किसानों और युवाओं के साथ धोखा◾जामिया हिंसा मामले में पुलिस ने दायर की चार्जशीट, कुल 17 लोगों की हुई गिरफ्तारी◾उत्तर प्रदेश : योगी सरकार ने 5 लाख 12 हजार करोड़ का बजट किया पेश, जानें क्या रहा खास◾CAA-NRC दोनों अलग, किसी को चिंता करने की जरूरत नहीं : उद्धव ठाकरे◾

किसानों ने किया प्रदर्शन

गुरुग्राम: अखिल भारतीय किसान सभा की राज्य कमेटी के आह्वान पर प्रदेश भर में होने वाले कमिश्नरी स्तर के प्रदर्शनों की कड़ी में वीरवार को कमला नेहरू पार्क में मेवात, पलवल, फरीदाबाद, गुड़गांव व रेवाड़ी से आए किसानों ने सभा व प्रदर्शन कर प्रधान मंत्री के नाम कमिश्नर को ज्ञापन सौंपा। कार्यक्रम की संयुक्त अध्यक्षता किसान नेता धर्म चंद पलवल, धर्मपाल यादव, काले खान मेवात व मेजर एसएल प्रजापति तथा संचालन डाक्टर रघुबीर सिंह ने किया। राज्य अध्यक्ष मास्टर शेर सिंह, वरिष्ठ उपाध्यक्ष डाक्टर इंद्रजीत सिंह, राज्य सचिव फूल सिंह श्योकंद, डाक्टर वीरेंद्र मालिक, केंद्रीय कमेटी प्रतिनिधि मनोज कुमार व जिला स्तर के पदाधिकारियों ने कहा कि आज खेती व किसान कि जो हालत बनी हुई है उससे हम सब परिचित हैं। सरकार कि किसान विरोध नीतियों ने खेती को घाटे का सौदा बना दिया है। आमदनी घटने से कर्ज का बोझ लगातार बढ़ रहा है इसी कारण किसान आत्महत्या करने को मजबूर हो रहे हैं।

शिक्षा व स्वास्थ्य आम आदमी कि पहुंच से बाहर होते जा रहे हैं। खास तौर पर वर्तमान बीजेपी कि सरकार में आम आदमी अपने आप को ठगा महसूस कर रहा है। सरकार बनाने से पहले वादा तो 50 ज्यादा देने का किया था लेकिन इस बात से सरकार बिलकुल मुकर गई है बल्कि पशुओं कि खरीद फरोख्त व भूमि अधिग्रहण जैसे काले कानून लाकर जीएसटी के बहाने खेती में प्रयोग होने वाली वस्तुओं को महंगा कर मुसीबत ही बढ़ा दी है। किसान सभा लगातार संघर्ष कर रही है। मध्य प्रदेश व महाराष्ट्र के किसान आंदोलनों के बाद अब हरियाणा के किसानों में भी उत्तेजना है। विगत 16 मई को किसान सभा ने जिला स्तर पर धरने प्रदर्शन करके रोष प्रकट किया था। 2 जुलाई को राज्य के नौ किसान संगठनों ने जींद में महा पंचायत कर संयुक्त रूप से आंदोलन तेज करने का फैसला लिया, जिस के तहत 24 जुलाई को हिसार, 2 अगस्त को रोहतक, 17 अगस्त यानि आज, गुडग़ावं में प्रदर्शन किए गए। 28 अगस्त को अम्बाला कमिश्नरी के करनाल में मुख्य मंत्री हरियाणा के निवास का घेराव करना भी तय है।

वक्ताओं ने कहा कि बीजेपी सरकार द्वारा कारपोरेट घरानों को तो लाखों करोड़ की छूट दी जा रही है, जबकि किसान मजदूर के कर्जा माफी के नाम पर सरकार अपने आप को दिवालिया घोषित कर हाथ खड़े कर रही है। किसान नेताओं ने प्रधान मंत्री के नाम दिये ज्ञापन में मांग कि है कि सरकार जल्द से जल्द स्वामीनाथन रिपोर्ट को लागू करे तथा कर्जा माफ करके कर्जा मुक्ति बोर्ड का गठन किया जाए। आवारा पशुओं पर रोक लगाई जाए तथा पशुओं कि खरीद फरोख्त के कानून को रद्द किया जाए। फसल बीमा योजना के नाम पर निजी बीमा कंपनियों द्वारा जारी लूट को बंद किया जाए तथा सूखाग्रस्त क्षेत्रों के लिए मुआवजा सुनिश्चित किया जाए। किसानों कि फसल का लाभकारी मूल्य देकर सभी फसलों कि सरकारी खरीद सुनिश्चित कि जाए।

मनरेगा योजना को सभी जगह लागू कर साल भर काम करना सुनिश्चित किया जाए तथा दिहाड़ी दर 600 रुपए प्रति दिन की जाए। 60 साल से अधिक आयु के किसानों व खेत मजदूरों के लिए 10 हजार रुपए मासिक पेंशन दी जाए। भविष्य की रणनीति तय करते हुये किसान सभा ने फैसला लिया की रोजकामेव में 31 अगस्त को एक सभा का आयोजन किया जाएगा जहां से तीन दिन के लिए एक किसान जत्था मेवात, गुडग़ांव, रेवाड़ी, महेन्द्रगढ़, भिवानी, हिसार, जींद होते हुये पंजाब में प्रवेश करेगा। राज्य पदाधिकारियों के अतिरिक्त इस जत्थे में केंद्रीय कमेटी के सदस्य भी भाग लेंगे। 3 से 6 अक्तूबर को हिसार में होने वाले किसान सभा के 34वें अखिल भारतीय सम्मेलन की रेली में एक लाख के करीब लोगों के भाग लेने की संभावना व्यक्त करते हुये स्थानीय नेताओं ने आश्वासन दिया की गुडग़ांव कमिश्नरी से भी हजारों की संख्या में हिसार पहुंच कर किसान मजदूर अपनी एकता का परिचय देंगे।

प्रदर्शन में अपने साथियों के साथ पधारे सीआईटीयू के जिला सचिव राजेन्द्र सरोहा, सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के राज्य उपाध्यक्ष सुरेश नोहरा, जिला अध्यक्ष कंवर लाल यादव, ओमवीर शर्मा, मेवात जिला अध्यक्ष तायब हुसैन व सचिव योगेश दीक्षित, अखिल भारतीय जनवादी महिला समिति की जिला प्रधान भारती देवी, राज्य उपाध्यक्ष व जिला सचिव उषा सरोहा, रेहड़ी पटडी फेरी कमेटी के जिला प्रधान योगेश कुमार, अखिल भारतीय अधिवक्ता संघ के जिला सचिव एडवोकेट विनोद भारद्वाज, ज्ञान विज्ञान समिति के जिला संयोजक ईश्वर नास्तिक आदि ने किसानों की मांगों का समर्थन करते हुये किसान-मजदूर-कर्मचारी-महिलाओं को आह्वान किया की सरकार की जन विरोधी नीतियों का मुकाबला करने के लिए अपनी एकता को मजबूत करें।

- एमके अरोड़ा