BREAKING NEWS

केंद्र सरकार को कम से कम अब हमसे बात करनी चाहिए: शाहीन बाग प्रदर्शनकारी ◾केजरीवाल ने जल विभाग सत्येंन्द्र जैन को दिया, राय को मिला पर्यावरण विभाग ◾कश्मीर पर टिप्पणी करने वाली ब्रिटिश सांसद का भारत ने किया वीजा रद्द, दुबई लौटा दिया गया◾हर्षवर्धन ने वुहान से लाए गए भारतीयों से की मुलाकात, आईटीबीपी के शिविर से 200 लोगों को मिली छुट्टी ◾ जामिया प्रदर्शन: अदालत ने शरजील इमाम को एक दिन की पुलिस हिरासत में भेजा ◾दिल्ली सरकार होली के बाद अपना बजट पेश करेगी : सिसोदिया ◾झारखंड विकास मोर्चा का भाजपा में विलय मरांडी का पुनः गृह प्रवेश : अमित शाह ◾दोषियों के खिलाफ नए डेथ वारंट पर निर्भया की मां ने कहा - उम्मीद है आदेश का पालन होगा ◾TOP 20 NEWS 17 February : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन राजनीतिक दुर्भावना से प्रेरित : रविशंकर प्रसाद ◾शाहीन बाग पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा - प्रदर्शन करने का हक़ है पर दूसरों के लिए परेशानी पैदा करके नहीं ◾निर्भया मामले में कोर्ट ने जारी किया नया डेथ वारंट , 3 मार्च को दी जाएगी फांसी◾महिला सैन्य अधिकारियों पर कोर्ट का फैसला केंद्र सरकार को करारा जवाब : प्रियंका गांधी वाड्रा◾शाहीन बाग : प्रदर्शनकारियों से बात करने के लिए SC ने नियुक्त किए वार्ताकार◾सड़क पर उतरने वाले बयान पर कायम हैं सिंधिया, कही ये बात ◾गार्गी कॉलेज मामले में जांच की मांग वाली याचिका पर कोर्ट ने केन्द्र और CBI को जारी किया नोटिस◾SC ने दिल्ली HC के फैसले पर लगाई मोहर, सेना में महिला अधिकारियों को मिलेगा स्थाई कमीशन◾निर्भया मामले को लेकर आज कोर्ट में सुनवाई, जारी हो सकता है नया डेथ वारंट◾शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों को हटाने के लिए निर्देशों की मांग करने वाली याचिकाओं पर SC में सुनवाई आज ◾केजरीवाल की तारीफ पर आपस में भिड़े कांग्रेस नेता देवरा - माकन, अलका लांबा ने भी कस दिया तंज ◾

पांच योजनाएं प्रदेश की महिलाओं को समर्पित

सोनीपत : शहरी स्थानीय निकाय, महिला एवं बाल विकास मंत्री कविता जैन ने सोमवार को दीनबंधु छोटूराम विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय मुरथल में सखी मंच, पोषण माह सप्ताह, महिला ई-हाट योजना, एसिड अटैक के खिलाफ अभियान, स्टेट रिसार्स सेंटर फॉर वुमन वेबसाईट का शुभारंभ किया। इस अवसर पर श्रीमती जैन ने कहा कि समाज में लड़कियों व महिलाओं को उच्च स्थान प्राप्त हो सके और उनमें आत्मसम्मान की भावना पैदा हो सके इस उद्देश्य से आज इन पांच अलग-अलग योजनाओं का शुभारंभ किया जा रहा है। 

इस अवसर पर संबोधित करते हुए श्रीमती जैन ने कहा कि समाज में लड़कियों व महिलाओं को उच्च स्थान प्राप्त हो सके इसी उद्देश्य से सखी मंच का संचालन किया जा रहा है। आज एक ही दिन में अकेले सोनीपत जिला में 20 सखी मंच गठित किए गए हैं। यह मंच महिलाओं के मुद्दों पर चर्चा करने और उनका हल तलाशने के लिए स्थापित किए गए हैं। यह मंच महिलाओं को हरियाणा सरकार की योजनाओं के लिए भी जागरूक करेगा। 

महिला एवं बाल विकास मंत्री ने कहा कि दूसरा कार्यक्रम एसिड अटैक के खिलाफ है। उन्होंने कहा कि एसिड अटैक एक अक्षक्वय अपराध है। इसके पीड़ितों के लिए जिला कार्यक्रम अधिकारी, डीसीपीओ, वन स्टाप सेंटर, महिला हैल्पलाईन 181 व महिला शक्ति केंद्रों के स्टाफ के साथ अभियान चलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि तेजाब पीडि़त महिलाएं जो हरियाणा की निवासी हैं उन्हें सहायता भी प्रदान की जाती है। इसके साथ ही महिलाएं के लिए स्टेट रिसोर्स सेंटर फॉर वुमन की वेबसाईट भी उन्होंने लांच की। इस वेबसाईट की लांचिंग के बाद उन्होंने कहा कि इस वेबसाईट पर कोई भी महिला घर बैठे अपने से संबंधित योजनाओं की जानकारी अच्छे से ले सकती है। 

इस दौरान ई-हॉट योजना भी उन्होंने शुरू की और कहा कि हरियाणा की जो भी महिला किसी भी क्षेत्र में कार्यरत है एवं अपने घर रहकर किसी भी तरह के प्रोडक्ट तैयार करती हो तो उस महिला द्वारा ई-हाट के माध्यम से उस प्रोडञ्चट को बेचा जा सकता है। यह मुहिम जिला करनाल व पंचकुला में पायलेट बेस पर चलाई गई है और राज्य की महिलाओं को इससे अधिक लाभ मिलता है तो उसे प्रत्येक जिला में चला दिया जाएगा। 

अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि हरियाणा में नौनिहाल से लेकर किशोरी, युवतियों और महिलाओं के लिए लगातार वातावरण अनुकूल बनाने की दिशा में काम कर रही सरकार ने अगले एक साल की अवधि में इस वर्ग को अलग-अलग मोर्चे पर उनकी कमजोरियों को ताकत में बदलते हुए हर क्षेत्र में उनकी भागीदारी को बढाने की दिशा में कदम बढा रही है। 

इस दौरान कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए महिला एवं बाल विकास विभाग की प्रधान सचिव दीप्ती उमाशंकर ने कहा कि पोषण अभियान एक जन आंदोलन है और किशोरियों व महिलाओं को पोषण के लिए यह अभियान जरूरी है। उन्होंने कहा कि आज भी काफी स्थानों पर स्थिति यह है कि किशोरियां एनिमिया से ग्रस्त हैं। ऐसे में पोषण अभियान सबसे महत्वपूर्ण कदम है।