BREAKING NEWS

म्यांमार में बड़ा हादसा, हरे पत्थर की खदान में भूस्खलन से करीब 123 लोगों की मौत ◾चीन के साथ तनाव के बीच, लद्दाख में भारत ने स्पेशल फोर्स के जवानों को तैनात किया◾बिहार में आकाशीय बिजली ने आज फिर बरपाया कहर, चपेट में आने से 20 लोगों की हुई मौत◾चीन के साथ तनाव के बीच मोदी सरकार ने Mig-29 और सुखोई विमानों की खरीद को दी मंजूरी◾रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का लद्दाख दौरा हुआ स्थगित, सैन्य तैयारियों का लेना था जायजा◾राहुल ने केंद्र पर रेलवे का निजीकरण करने का लगाया आरोप, बोले- रेल को भी गरीबों से छीन रही है सरकार◾रविशंकर प्रसाद बोले-अगर कोई बुरी नजर डालता है तो भारत मुंहतोड़ जवाब देगा◾दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए शाह ने आज योगी,केजरीवाल और खट्टर की बुलाई बैठक ◾ जम्मू-कश्मीर के पुंछ में पाकिस्तानी सेना ने एक बार फिर किया संघर्ष विराम का उल्लंघन ◾देश के पहले 'प्लाज्मा बैंक' का CM केजरीवाल ने किया उद्घाटन, जाने कैसे डोनेट कर सकते हैं प्लाज्मा◾मध्यप्रदेश : शिवराज चौहान के मंत्रिमंडल का हुआ विस्तार, 20 कैबिनेट और 8 राज्यमंत्री ने ली शपथ ◾देश में कोरोना का आंकड़ा 6 लाख के पार, पिछले 20 दिनों के अंदर 3 लाख से अधिक केस आए सामने ◾दुनियाभर में कोरोना संक्रमितों की संख्या 1 करोड़ 6 लाख के पार, अब तक 5 लाख से अधिक लोगों ने गंवाई जान ◾असम में बाढ़ से जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर 33 हुई, 15 लाख लोग हुए प्रभावित◾प्रियंका गांधी का मकान खाली कराने का कदम PM मोदी और CM योगी की बेचैनी दिखाता है : कांग्रेस◾रेलवे ने दी निजी यात्री ट्रेने शुरू करने को हरी झंडी, 30,000 करोड़ रुपये का होगा निवेश◾भारत के साथ सैन्य कमांडरों की बातचीत में प्रगति का चीन ने किया स्वागत, कहा - तनाव जल्द कम होगा ◾चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगाने के फैसले पर भारत के साथ खड़ा हुआ अमेरिका, कहा - सुरक्षा के लिए जरूरी ◾दिल्ली में 2,442 नए मामले सामने आने के बाद कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 89 हजार के पार ◾UAPA कानून के तहत गृह मंत्रालय ने खालिस्तानी समूहों से जुड़े नौ लोगों को आतंकवादी घोषित किया ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

गोपाल कांडा ने बिना किसी शर्त BJP को समर्थन देने का किया फैसला, बताई ये वजह

हरियाणा विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित होने के एक दिन बाद ही सरकार गठन की कवायद तेज हो गई और राज्य के शीर्ष नेताओं ने दिल्ली का रुख कर लिया है। इस बीच सिरसा सीट पर जीत दर्ज करने वाले हरियाणा लोकहित पार्टी के गोपाल कांडा ने शुक्रवार को दावा किया कि उन्होंने और अन्य निर्दलीय विजयी उम्मीदवारों ने ‘‘बिना किसी शर्त बीजेपी  को समर्थन देने का फैसला लिया है। 

कांडा ने कहा, ‘‘ मेरा परिवार 1926 से संघ से जुड़ा है। मेरा पिता बीजेपी से जुड़े हैं।’’ सत्तारूढ़ पार्टी ने राज्य में सबसे अधिक 40 सीटों पर जीत दर्ज की है, लेकिन बहुमत से वह छह सीटें पीछे रह गई। वहीं कांग्रेस ने 31 सीटों पर जीत दर्ज की। राज्य में नतीजे घोषित किए जाने के बाद से ही सरकार गठन के लिए सभी पार्टियों ने भाग दौड़ शुरू कर दी है। 

अब सबकी नजर सात विजयी निर्दलीय उम्मीदवारों और जननाक जनता पार्टी (जजपा) पर है, जिसमें राज्य में 10 सीटें हासिल की है। वहीं इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) और हरियाणा लोकहित पार्टी के पास एक-एक सीट है। खट्टर ने शुक्रवार सुबह यहां पहुंचते ही विजयी निर्दलीय उम्मीदवारों से हरियाणा भवन में मुलाकात शुरू कर दी और सरकार गठन पर चर्चा के लिए बीजेपी के शीर्ष नेताओं से भी मुलाकात की। 

राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री हुड्डा ने भी विजयी निर्दलीय उम्मीदवारों से बीजेपी के खिलाफ आने की अपील करनी शुरू कर दी है। वह यहां कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पार्टी के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद से भी मुलाकात करेंगे। राज्य बीजेपी अध्यक्ष का पद छोड़ने की पेशकश करने वाले सुभाष बराला ने दावा किया, ‘‘हरियाणा में बीजेपी ही सरकार बनाएगी और राज्य के पूर्ण विकास के लिए काम करेगी। अधिकतर निर्दलीय हमारा समर्थन कर रहे हैं।’’ 

जेपी नड्डा से मिले हरियाणा के तीन निर्दलीय विधायक, समर्थन की पेशकश की

ऐसी खबर है कि दो विजयी निर्दलीय उम्मीदवारों ने बीजेपी के राज्य प्रभारी और पार्टी के महासचिव अनिल जैन से कल गुरुवार रात मुलाकात की। कांडा और निर्दलीय विजयी उम्मीदवार रणजीत सिंह सिरसा की सांसद सुनीता दुग्गल के साथ एक निजी विमान में दिल्ली पहुंचे। उड़ान भरने से पहले उन्होंने पत्रकारों को बताया कि वे सिरसा के विकास के लिए काम करने वाली पार्टी का समर्थन करेंगे।

दुग्गल ने हालांकि दो निर्दलीय उम्मीदवारों को दिल्ली लाने के सवाल पर टिप्पणी से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा, ‘‘यह बीजेपी का अंदरूनी मामला है।’’ पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला के भाई रणजीत सिंह ने कांग्रेस से टिकट ना मिलने के बाद निर्दलीय चुनाव लड़ने का फैसला लिया था। पूर्व सांसद दीपेन्द्र सिंह हुड्डा ने कहा कि कई निर्दलीय विजयी उम्मीदवार कांग्रेस के सम्पर्क में हैं। 

हुड्डा ने कहा, ‘‘हरियाणा ने बीजेपी का बाहर का रास्ता दिखाया है यह स्पष्ट है। बीजेपी पर निर्दलीय विजयी उम्मीदवारों पर दबाव बनाने की कोशिश कर रही है। लोकतंत्र में इसे स्वीकार नहीं किया जा सकता।’’ कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने भी कांडा का समर्थन हासिल करने की कोशिश के लिए बीजेपी  की आलोचना करते हुए कहा कि सत्तारूढ़ पार्टी हमेशा उनके खिलाफ रही है। 

पार्टी से जुड़े सूत्रों ने बताया कि कांग्रेस निर्दलीय विजयी उम्मीदवारों से सम्पर्क करने से पहले जजपा के निर्णय का इंतजार कर रही है। कांग्रेस हरियाणा में उसके नेतृत्व में ‘महागठबंधन’ बनाने की कोशिश कर रही है ताकि कर्नाटक वाली गलती यहां ना दोहराई जाए, जहां एक मामूली गठबंधन सहयोगी के कारण उन्हें मुख्यमंत्री पद गंवाना पड़ा था।