BREAKING NEWS

श्वेता तिवारी पर टूटा मुश्किलों का पहाड़, धार्मिक भावनाएं आहत करने के आरोप में दर्ज हुई FIR◾देश में गिरता कोरोना का ग्राफ, एक दिन में ढाई लाख नए केस, रिकवरी रेट में भी इजाफा◾World Corona Update : वैश्विक स्तर पर 36.56 करोड़ से अधिक पहुंचा संक्रमितों का आंकड़ा◾दिल्ली के किसानों की फसल बर्बाद, मुआवजा देने के नाम पर CM का झूठ का खेल पंजाब तक चालू : दिल्ली कांग्रेस◾मुंबई : ACB ने तीसरी बार पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह को किया तलब, पिछले दो समन पर नहीं हुए थे पेश ◾ केंद्र सरकार ने देश के 407 में संक्रमण दर 10 फीसदी से ज्यादा होने पर कोविड प्रतिबंध 28 फरवरी तक बढ़या◾पंजाब में सिद्धू या चन्नी में से कौन होगा मुख्यमंत्री का फेस ?राहुल गांधी ने दिया यह जवाब...◾चौधरी चरण सिंह मेरे आदर्श, जाट समुदाय भाजपा से नाराज नहीं रह सकता : राजनाथ◾ दिल्ली में कोविड-19 के 4,291 नये मामले, 34 और लोगों की महामारी से मौत◾ विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर COVID19 पॉजिटिव हुए, कांटेक्ट में आए लोगों को दी एहतियात बरतने की सलाह◾यूपी चुनाव : बीजेपी अध्यक्ष नड्डा कल शाहजहांपुर में करेंगे जन संपर्क अभियान, कार्यक्रम को करेंगे संबोधित ◾दिल्ली के बाद चंडीगढ़ में कोविड प्रतिबंधों में ढील, 10वीं से 12वीं तक के लिए स्कूल खोलने की अनुमति ◾भारत-मध्य एशिया शिखर सम्मेलन में पीएम मोदी ने की मेजबानी, अफगानिस्तान को लेकर कही यह बात ◾SP ने जारी की 56 प्रत्याशियों की लिस्ट, गैर यादव OBC नेताओं पर खास ध्यान, जानें किसे कहां से मिला टिकट ◾यूपी चुनाव : आजम खान ने सीतापुर की जेल से ही भरा नामांकन, SP ने रामपुर से ही दिया टिकट◾आखिरकार टाटा के पास पहुंचा 'महाराजा' का स्वामित्व, अब एयरलाइन में बड़े बदलाव करेगा समूह◾उत्तराखंड चुनाव: कांग्रेस-BJP में जारी है रूठों को मनाने की कवायद, जानें पार्टियों में क्या हुए बदलाव? ◾1971 में मुख्यमंत्री टी एन सिंह को गोरखपुर के लोगों ने हराया था, अब फिर से इतिहास दोहराएंगे : चंद्रशेखर ◾UP में शाह ने भरी हुंकार, विपक्ष पर हुए हमलावर, कहा- माफियाओं पर कार्रवाई से अखिलेश के होता दर्द ◾अब खुले बाजार में मिलेंगी Covishield और Covaxin, पर मेडिकल स्टोर से नहीं ले सकेंगे◾

सरकार ने कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रही महिलाओं की तकलीफों से आंखे मूंद ली : खट्टर

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर ने मंगलवार को कहा कि उन्होंने जब टीवी पर यह देखा कि कांग्रेस नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा प्रदर्शन के दौरान एक ट्रैक्टर पर बैठे हुए हैं और पार्टी की महिला विधायक वाहन को रस्सी से खींच रही हैं, तो उन्हें बहुत दुख हुआ। खट्टर ने कहा कि टीवी पर यह दृश्य देखने के बाद वह पूरी रात सो नहीं पाए। 

सोमवार को पेट्रोल-डीजल तथा रसोई गैस की बढ़ी कीमतों के खिलाफ कांग्रेस के प्रदर्शन का हवाला देते हुए, मुख्यमंत्री ने विधानसभा में कहा, “ महिला विधायकों के साथ ऐसा बर्ताव बंधुआ मजदूरों से भी बदतर है।” प्रदर्शन के दौरान हुड्डा ट्रैक्टर की चालक सीट पर बैठे हुए थे और कांग्रेस विधायक उसे रस्सी से खींच रहे थे। 

वहीं हुड्डा ने जवाब देते हुए कहा कि रसोई गैस और अन्य जरूरी सामान की बढ़ी हुई कीमतों का दर्द महसूस करने वाली महिलाएं ही हैं। उन्होंने कहा कि सरकार ने दिल्ली की सीमाओं पर कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रही महिलाओं की तकलीफों से आंखे मूंद ली हैं। 

इस बीच विधानसभा में अविश्वास प्रस्ताव आने से एक दिन पहले जजपा विधायक देवेंद्र सिंह बबली ने कहा कि वह प्रदर्शनकारी किसानों के साथ खड़े हैं लेकिन सत्तारूढ़ गठबंधन से अलग होने का फैसला वह अकेले नहीं ले सकते हैं। पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि जब पार्टी व्हिप जारी कर देती है तो पार्टी के फैसले का ही पालन करना पड़ता है। 

विधानसभा के बाहर पत्रकारों से बबली ने कहा, “पूरी पार्टी को समर्थन वापस लेना चाहिए, अगर (किसानों का) मुद्दा हल नहीं किया जा रहा है तो दुष्यंत (चौटाला) को कदम उठाना चाहिए... सभी (जजपा) विधायकों को (गठबंधन से) बाहर आना चाहिए।” वहीं विधानसभा की मंगलवार की कार्यवाही खत्म होने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री हुड्डा ने पत्रकारों से कहा कि अविश्वास प्रस्ताव लोगों को यह बता देगा कि कौन से विधायक सरकार के साथ खड़े हैं और कौनसे विधायक किसानों के साथ हैं।