BREAKING NEWS

लेह से चीन को PM मोदी का सख्त सन्देश, बोले- इतिहास गवाह है कि विस्तारवादी ताकतों को हमेशा मिली हार◾PM मोदी के लेह दौरे से तिलमिलाया ड्रैगन, कहा-कोई पक्ष हालात न बिगाड़े ◾चीन और पाकिस्तान से बिजली उपकरणों का आयात नहीं करेगा भारत ◾PM मोदी के लेह दौरे पर सियासत शुरू, मनीष तिवारी बोले- जब इंदिरा गई थीं तो पाक के दो टुकड़े किए थे◾World Corona : दुनियाभर में संक्रमितों का आंकड़ा 1 करोड़ 8 लाख के पार, सवा पांच लाख के करीब लोगों की मौत◾कानपुर में शहीद हुए पुलिसकर्मियों को CM योगी ने दी श्रद्धांजलि, कहा-व्यर्थ नहीं जाएगा यह बलिदान ◾चीन के साथ तनाव के बीच PM मोदी का औचक लेह दौरा, अग्रिम पोस्ट पर जवानों से की मुलाकात◾देश में एक दिन में 20 हजार से अधिक कोरोना मामलों की पुष्टि, संक्रमितों का आंकड़ा सवा छह लाख के पार◾15 अगस्त को लॉन्च हो सकती है स्वदेशी कोरोना वैक्सीन COVAXIN, 7 जुलाई से शुरू होगा ह्यूमन ट्रायल◾जम्मू-कश्मीर : श्रीनगर में मुठभेड़ में CRPF का एक जवान शहीद, एक आतंकवादी भी ढेर◾कानपुर में अपराधियों को पकड़ने गई पुलिस पर हमला, मुठभेड़ में आठ पुलिसकर्मी शहीद◾मुंबई : बॉलीवुड की मशहूर कोरियोग्राफर सरोज खान का कार्डियक अरेस्ट के चलते निधन◾Covid 19 : अमेरिका में संक्रमितों की संख्या 27 लाख के पार, सवा एक लाख से अधिक लोगों की मौत ◾महाराष्ट्र में कोरोना ने तोड़े सारे रिकॉर्ड, एक दिन में 6,330 नए मामलों के साथ राज्य में मौत का आंकड़ा 8,178◾गूगल प्ले स्टोर, एपल ऐप स्टोर से हटी भारत सरकार द्वारा बैन चीन की 59 ऐप, कंपनियों ने रोया दुखड़ा ◾दिल्ली में कोरोना के 2,373 नए मरीज आये सामने , कुल मामले बढ़कर 92,000 के पार ◾अप्रैल 2023 से शुरू होगा निजी ट्रेनों का परिचालन, जानिये सफर में क्या होंगे खास और आधुनिक बदलाव◾कांग्रेस को चुनौती देते हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया का पलटवार, कहा - टाइगर अभी जिंदा है ◾म्यांमार में बड़ा हादसा, हरे पत्थर की खदान में भूस्खलन से करीब 123 लोगों की मौत ◾चीन के साथ तनाव के बीच, लद्दाख में भारत ने स्पेशल फोर्स के जवानों को तैनात किया◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

हरियाणा : कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी शैलजा बोली- एग्जिट पोल को भूल जाइये, कांग्रेस बनाएगी सरकार

हरियाणा विधानसभा चुनावों की एग्जिट पोल में सत्तारुढ़ भाजपा की जीत की भविष्यवाणियों को अनदेखा करते हुए हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी शैलजा ने मंगलवार को जोर देते हुए कहा कि कांग्रेस ही राज्य में अगली सरकार बनाएगी। उन्होंने 90 विधानसभा सीटों में से 45 से अधिक पर जीत हासिल करने के विश्वास के साथ कहा, ‘‘कांग्रेस पार्टी हरियाणा में अगली सरकार बनाने जा रही है।’’ यह पूछे जाने पर कि वह कांग्रेस की जीत को लेकर इतनी आश्वस्त कैसे हैं, शैलजा ने कहा कि राज्य भर में उम्मीदवारों को मिले सहयोग ने उन्हें यह भरोसा दिलाया है। 

उन्होंने कहा, ‘‘जिस तरह से भाजपा ने हरियाणा के लोगों की समस्यायों को नजरअंदाज करते हुए इस (जनमत) अभियान को चलाया है, उसने अपनी हार का रास्ता तैयार कर लिया है। मुझे लगता है कि लोगों को अब होश आ गया है। भाजपा ने लोगों का ध्यान राष्ट्रीय मुद्दों की ओर आकर्षित किया लेकिन बेरोजगारी, अर्थव्यवस्था, किसानों के संकट, बिगड़ती कानून व्यवस्था जैसे मुद्दों पर बात नहीं की। 

अयोध्या मामला : सुप्रीम कोर्ट ने ‘निर्वाणी अखाड़ा’ को लिखित नोट दाखिल करने की दी इजाजत

एग्जिट पोल में हरियाणा में भाजपा की जीत के अनुमानों पर शैलजा ने कहा कि वह इस तरह की भविष्यवाणियों में विश्वास नहीं करती हैं। उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘कुछ लोग मतदान से पहले ही जनमत सर्वेक्षण दिखा रहे थे।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मुझे पता है कि कांग्रेस हरियाणा में चुनाव जीतकर सरकार बनाएगी। भाजपा ने जम्मू-कश्मीर में धारा 370 को खत्म करने जैसे अन्य राष्ट्रीय मुद्दों को बार-बार इसलिए उठाया क्योंकि सत्तारुढ़ पार्टी को अपने कामों और अपनी सरकार को लेकर पूरा आत्मविश्वास नहीं था। 

भाजपा ने पार्टी के सभी शीर्ष नेताओं को प्रचार के लिए भेजा लेकिन उनमें से किसी ने भी स्थानीय मुद्दों पर बात नहीं की। उन्होंने अपने पांच साल के कार्यकाल के दौरान किए गए कामों के बारे में बात नहीं की। मतदान के दौरान कुछ स्थानों पर ईवीएम की गड़बड़ी की शिकायतों के बारे में पूछे जाने पर, उन्होंने कहा कि उन्हें खुद महसूस हुआ कि मशीन का बटन दबाने पर वोट डालने में सामान्य समय से अधिक समय लग रहा था। 

ईवीएम पर संदेह जताते हुए उन्होंने हरियाणा विधानसभा चुनावों की पूर्व संध्या पर सोशल मीडिया पर वायरल असंध विधानसभा क्षेत्र के भाजपा प्रत्याशी बख्शीश सिंह वर्क के ईवीएम को लेकर विवादित बयान वाले एक वीडियो का जिक्र किया। उस वीडियो के संदर्भ में चुनाव आयोग ने विर्क को कारण बताओ नोटिस जारी किया था। साथ ही ‘‘सुधारात्मक कदम’’ उठाने के लिए एक विशेष पर्यवेक्षक नियुक्त किया गया था। हालांकि विर्क ने दावा किया था कि वायरल किया गया वीडियो नकली था और उन्होंने कभी ईवीएम के बारे में कुछ नहीं कहा।