BREAKING NEWS

दिल्ली हिंसा: पिंक लाइन पर पांच मेट्रो स्टेशन बंद, चार स्टेशनों को खोला गया◾गाइड के कहने पर ताजमहल में पत्नी मेलानिया का हाथ थामकर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने की चहलकदमी◾कोर्ट ने उपमुख्यमंत्री सिसोदिया को क्लीनचिट देने वाली एटीआर की खारिज, नयी रिपोर्ट दाखिल करने के दिए निर्देश ◾राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के सम्मान में आयोजित भोज में शामिल नहीं होंगे पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह◾T20 महिला विश्व कप : भारत ने बांग्लादेश को 18 रन से हराया, लगातार दूसरी जीत दर्ज की ◾TOP 20 NEWS 24 February : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾ताजमहल का दीदार करके दिल्ली पहुंचे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप◾महाराष्ट्र : मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे बोले- गठबंधन के भागीदारों के बीच कोई मतभेद नहीं◾जाफराबाद में CAA को लेकर पथराव, गाड़ियों में लगाई गई आग, एक पुलिसकर्मी की मौत◾मोटेरा स्टेडियम में दिखी ट्रंप और मोदी की दोस्ती, दोनों दिग्गज ने एक-दूसरे की तारीफ में पढ़ें कसीदे ◾दिल्ली के मौजपुर में लगातार दूसरे दिन CAA समर्थक एवं विरोधी समूहों के बीच झड़प ◾CM केजरीवाल और मनीष सिसोदिया ने दिल्ली विधानसभा की सदस्यता की शपथ ली◾ट्रम्प के स्वागत में अहमदाबाद तैयार, छाए भारत-अमेरिकी संबंधों वाले इश्तेहार◾दिल्ली और झारखंड में BJP विधानमंडल दल के नेता का आज होगा ऐलान ◾जाफराबाद में CAA को लेकर हुई पत्थरबाजी के बाद इलाके में तनाव, मेट्रो स्टेशन बंद◾Modi सरकार ने पद्म सम्मान के लिये ‘गुमनाम’ चेहरे खोजे : केंद्रीय मंत्री◾अब कुछ ही घंटो में भारत यात्रा के लिए अहमदाबाद पहुंचेंगे अमेरिकी राष्ट्रपति Trump , मोदी को बताया दोस्त◾मेलानिया का स्वागत करके खुशी होती, हमने अमेरिकी दूतावास की चिंताओं का किया सम्मान : मनीष सिसोदिया◾Trump की भारत यात्रा से किसी महत्वपूर्ण परिणाम के सकारात्मक संकेत नहीं हैं : कांग्रेस◾US राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत के लिए रवाना, कल सुबह 11.55 बजे पहुंचेंगे अहमदाबाद, जानिए ! पूरा कार्यक्रम◾

राशन देने पहुंचा पति तो पत्नी ने लौटाया, मुझे कोर्ट की ओर से तय गुजारा भत्ता चाहिए

चंडीगढ़ : वैवाहिक विवाद में गुजारा भत्ते में नकदी के बजाय राशन देने पति जब अपनी पत्नी के गांव पहुंचा तो पत्नी ने इससेे मना कर दिया। पत्नी ने राशन लेने से इन्कार करते हुए कोर्ट द्वारा तय गुजारा भत्ता देने की मांग की। पत्नी ने आरोप लगाया कि उसका पति कोर्ट द्वारा तय 5000 गुजारा भत्ता देने में सक्षम है, लेकिन वह जानबूझकर नकदी के बजाय राशन देने का ड्रामा कर रहा है। 

मामला भिवानी जिले के अमित मेहरा का है, जिसका पत्नी से घरेलू विवाद चल रहा है। भिवानी कोर्ट ने अमित मेहरा को आदेश दिया था कि वह पत्नी को हर महीने पांच हजार रुपये गुजारा भत्ते के तौर पर दे और 11 हजार रुपये कोर्ट खर्च भी दे। अमित मेहरा ने इसे हाई कोर्ट में चुनौती देते हुए कहा था कि वह नकदी के बजाय पत्नी को गुजारे के लिए घर का राशन दे सकता है।

याची ने कोर्ट को बताया कि वह पहले एक कंपनी में काम करता था, जो अब कंपनी बंद हो गई। ऐसे में अब वह पैसे नहीं दे सकता। उसने कहा कि वह अपनी पत्नी को 20 किलो चावल, पांच किलो चीनी, पांच किलो दाल, 15 किलो अनाज, पांच किलो देसी घी हर माह देने के अलावा दो किलो दूध रोजाना दे सकता है। इसके अलावा वह हर तीन महीने बाद पत्नी को तीन सूट सिलवा कर देगा।

हाई कोर्ट ने याची की मांग स्वीकार करते हुए आदेश दिया था कि वह तीन दिन के भीतर यह सामान अपनी पत्नी को दे। साथ में गुजारा भत्ते का पिछला भुगतान अदा कर अगली सुनवाई पर हलफनामा देकर जानकारी दे। कोर्ट के इस आदेश के बाद जब याची अपनी पत्नी के गांव उसे यह सामान देने गया तो उसकी पत्नी ने यह सामान लेने से इन्कार कर दिया। इसके बाद पत्नी की तरफ से कोर्ट को बताया गया कि उसका पति कोर्ट द्वारा तय 5000 रुपये गुजारा भत्ता देने में सक्षम है।

पत्नी ने कोर्ट को बताया कि उसे मारा पीटा जाता था और उसको घर से निकाला गया व बच्चों को जबरन दादा-दादी के पास चंडीगढ़ भेज दिया है। उसका पति एक कंपनी में नौकरी करता हैं और 40 हजार रुपये वेतन लेता है। फिर भी उससे दहेज की मांग करता है। इस पर याची की तरफ से बताया गया कि बच्चे अपनी मर्जी से दादा-दादी के पास चंडीगढ़ रह रहे हैंं और वहां पढ़ रहे हैं। उसकी पत्नी लडाकू स्वभाव की है और अपनी मर्जी से घर छोड़कर गई थी। वह गांव में अपनी पुश्तैनी जमीन व घर की देखभाल करता है।

सभी पक्षों को सुनने के बाद हाई कोर्ट ने कहा कि 5000 रुपये याची की हैसियत के अनुसार ज्यादा नहीं है। वह यह भी स्वीकार कर रहा है कि गांव में उसकी पुश्तैनी जमीन व घर हैं, इसलिए उसकी 5000 रुपये गुजारा भत्ता देने के फैमली कोर्ट के आदेश को रद करने की मांग उचित नहीं है। हाईकोर्ट उसकी यह मांग खारिज करता है।