BREAKING NEWS

स्वतंत्रता दिवस के मौके पर दिल्ली सरकार के होंगे 7 खास मेहमान◾चीन को भारत की खरी खरी कहा- सीमा पर बने हालात से तय होगा रिश्तों का भविष्य◾महाराष्ट्र में कोरोना का प्रकोप जारी, 12 हजार से अधिक नए मामले की पुस्टि, 364 लोगों की मौत ◾देश में अशांति पैदा करने वालों को माकूल जवाब देंगे : राष्ट्रपति ◾स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई में केंद्र और राज्य सरकारों की तारीफ की◾कांग्रेस ने सुरजेवाला ने कहा- राजस्थान का ‘विश्वासमत’ प्रजातंत्र के लिए नई रोशनी लेकर आया है◾चीन से तनातनी के बीच बोले रक्षामंत्री - अगर दुश्मन हम पर हमला करता है तो मुंहतोड़ जवाब देंगे◾विधानसभा कार्यवाही के बाद बोले पायलट-पहले मैं सरकार का हिस्सा था, लेकिन अब नहीं◾गृहमंत्री अमित शाह ने कोरोना को दी मात, कोविड टेस्ट रिपोर्ट आई निगेटिव ◾गहलोत सरकार ने हासिल किया विश्वास मत, 21 अगस्त तक के लिए विधानसभा स्थगित◾राजस्थान विधानसभा में सरकार के बचाव में खड़े हुए सचिन पायलट, खुद को बताया सबसे मजबूत योद्धा◾कोर्ट की अवमानना मामले में वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण दोषी करार◾जम्मू-कश्मीर : स्वतंत्रता दिवस से एक दिन पहले श्रीनगर में आतंकवादी हमला, दो पुलिसकर्मी शहीद◾सुशांत मामले में बदले संजय राउत के सुर, कहा-अभिनेता के परिवार को मिले न्याय◾कोरोना वैक्सीन बनाने वाले देशों में से एक होगा भारत, सरकार को वितरण रणनीति बनाने की जरूरत : राहुल गांधी◾कोविड-19 : देश में पिछले 24 घंटे में 64 हजार 533 मामलों की पुष्टि, संक्रमितों का आंकड़ा 25 लाख के करीब◾दुनियाभर में कोरोना पॉजिटिव मामलों की संख्या 2 करोड़ 7 लाख के पार, 7 लाख 52 हजार लोगों की मौत ◾LAC विवाद पर US ने दिया भारत का साथ, चीनी आक्रामकता की आलोचना करने वाला प्रस्ताव अमेरिकी सीनेट में पेश◾राजस्थान विधानसभा का सत्र आज से, BJP के अविश्वास प्रस्ताव के खिलाफ कांग्रेस लाएगी विश्वास प्रस्ताव◾स्वतंत्रता दिवस : कोरोना महामारी के बीच हर साल से अलग होगा समारोह, दिल्ली में की गई बहुस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

इस्तीफा न देते तो हो सकती थी पार्टी से छुट्टी

चंडीगढ़ : हरियाणा प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अशोक तंवर को सोनिया गांधी के आवास के आगे बवाल काटना महंगा पड़ गया। जिसका भुगतान उन्हें पार्टी से इस्तीफा देकर करना पड़ा। तंवर अगर पार्टी से इस्तीफा नहीं देते तो संभ्वत पार्टी उनके विरूद्ध कार्रवाई करने की तैयारी में थी। तंवर ने इस्तीफा देकर खुद को सेफ जोन में पहुंचाने का काम किया है। अशोक तंवर पहले ऐसे अध्यक्ष हैं जिन्होंने सोनिया गांधी के दस जनपथ के आगे हंगामा किया था। 

कांग्रेस में टिकट आबंटन के दौरान अशोक तंवर ने हाईकमान को 40 समर्थकों की सूची देकर उनके लिए टिकटें मांगी थी। टिकट आबंटन में जब हुड्डा की चली तो तंवर बिफर गए। अपने समर्थकों को अपने साथ जोड़े रखने के चलते अशोक तंवर ने पहले तो एक ऑडियो संदेश भेजकर दस जनपथ के आगे एकत्र किया। 

उसके बाद समर्थकों ने जब हुड्डा व गुलाम नबी आजाद के विरूद्ध नारेबाजी की तो तंवर खुद वहां पहुंच गए और हुड्डा व आजाद के विरूद्ध जमकर आग उगली। तंवर की इस हरकत से सोनिया खासी नाराज हुई हैं। तंवर ने अपने समर्थकों को शांत करने की बजाए उन्हें उकसाने का काम किया है। 

सूत्रों की मानें तो सोनिया गांधी अशोक तंवर के विरूद्ध कार्रवाई का मन बना चुकी थी। इस बारे में उन्होंने गुलाम नबी आजाद को निर्देश भी दे दिए लेकिन विधानसभा चुनाव के चलते आजाद ने इस मामले को रोक लिया। दूसरी तरफ अशोक तंवर पर उन कार्यकर्ताओं का दबाव था जिन्हें तंवर ने टिकट दिलवाने का आश्वासन दे रखा था। 

दोनों तरफ से घिरे अशोक तंवर ने खुद को सेफ जोन में पहुंचाने के लिए इस्तीफे की राह चुनी। जिससे हाईकमान को भी उनके विरूद्ध कार्रवाई करने का मौका नहीं मिला और कार्यकर्ताओं के दबाव से भी उन्होंने छुटकारा पा लिया।