BREAKING NEWS

अमेरिका में कोरोना वायरस संक्रमण मामलों की संख्या 3 लाख के पार हुई, इटली में 15362 लोगों की मौत ◾कोविड-19: दिल्ली में संक्रमण के मामले बढ़कर हुए 445, उनमें से 301 लोग हुए थे निजामुद्दीन के कार्यक्रम में शामिल ◾लॉकडाउन : शहर में फंसे विदेशियों के लिए ट्रांजिट पास जारी करेगी दिल्ली सरकार◾ कोरोना वायरस : राष्ट्रपति ट्रम्प ने दी मास्क पहन कर घर से बाहर निकलने की सलाह, खुद नहीं पहनेंगे मास्क ◾PM मोदी ने की उच्चाधिकार प्राप्त समूहों की संयुक्त बैठक की अध्यक्षता◾तिहाड़ जेल कैदियों ने जेल में ही बना डाले 75000 मास्क, सेनेटाइजर◾महाराष्ट्र के मंत्री जितेंद्र आव्हाड का दावा : गृह मंत्रालय ने ही दी थी तबलीगी जमात को अनुमति◾कोविड-19 का प्रकोप : दुनियाभर में कोरोना के मामले 11 लाख के पार, 59 हजार से अधिक लोगों की मौत ◾स्वास्थ्य मंत्रालय : देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 3,072 तक पहुंची, अब तक 75 लोगों की मौत ◾दिल्ली में 445 लोग COVID-19 से संक्रमित, और बढ़ सकते हैं मामलें : CM केजरीवाल◾तबलीगी जमात के मुखिया मौलाना साद ने क्राइम ब्रांच को भेजा जवाब, कहा- अभी सेल्फ क्वारनटीन में हूं, बाकी सवाल बाद में◾स्वास्थ्य मंत्रालय का बयान : देश के कुल कोरोना संक्रमित मामलों में 30 फीसदी तबलीगी जमात के लोग◾राहुल गांधी ने PM मोदी पर साधा निशाना, ट्वीट कर कही ये बात ◾कोविड-19 पर सरकार ने जारी किया परामर्श, चेहरे और मुंह के बचाव के लिए घर में बने सुरक्षा कवर का करे प्रयोग◾जानिये क्यों, पीएम की 9 मिनट लाइट बंद करने की अपील के बाद अलर्ट मोड पर है बिजली विभाग की कंपनियां◾तबलीगी जमातियों पर भड़के राज ठाकरे,कहा- ऐसे लोगों को गोली मार देनी चाहिए ◾PM मोदी ने अटल बिहारी बाजपेयी की कविता को शेयर करते हुए कहा- आओ दीया जलाएं◾देश में कोरोना वायरस का प्रकोप जारी, गौतम बुद्ध नगर में वायरस के 5 नए मामले आए सामने ◾PM मोदी की दीया अपील पर महाराष्ट्र के ऊर्जा मंत्री ने दी प्रतिक्रिया, कहा- दोबारा सोचने की है जरुरत ◾बिजनौर के आइसोलेशन वार्ड में रखे गए जमातियों ने किया हंगामा, अंडे और बिरयानी की फरमाइश की◾

जेबीटी शिक्षकों ने मांगी आत्महत्या की इजाजत

करनाल: सरकार की वादाखिलाफी और अधिकारियों द्वारा किए गए विश्वासघात से आहत जेबीटी शिक्षकों ने राष्ट्रपति को पत्र लिखकर आत्महत्या की इजाजत मांगी है।  शिक्षकों ने राष्ट्रपति को लिखे पत्र में कहा है कि या तो उन्हें नौकरी दी जाए अन्यथा आत्महत्या करने की इजाजत दे दी जाए। जेबीटी ने साफ ऐलान किया है कि इस बार आंदोलन उग्र होगा। या तो वह नौकरी पर सीधे स्कूलों में जाएंगे वरना अनशन स्थल से उनकी लाशें ही घर जाएंगी। उल्लेखनीय है कि 1259 जेबीटी को सरकार एक महीने बाद नौकरी से हटा दिया था। अपने हकों की लड़ाई को लेकर जेबीटी शिक्षकों ने लगभग एक महीना जिला सचिवालय के सामने धरना दिया।

इसके बाद सात दिनों तक 11 शिक्षक आमरण अनशन पर बैठे रहे। 27 जुलाई को शिक्षा विभाग के एडिशनल डायरेक्टर वीरेंद्र दहिया करनाल पहुंचे और शिक्षकों को आश्वासन दिया कि 14 अगस्त तक सभी शिक्षकों को ज्वाइंग लेटर दे दिए जाएंगे।  अधिकारी ने जूस पिलाकर शिक्षकों का अनशन खुलवा दिया। अब 14 अगस्त बीत चुकी है और अधिकारी टाल मटोल का रवैया अपना रहे हैं। जेबीटी में अधिकारी की इस वादाखिलाफी और विश्वासघात से भारी रोष है। शिक्षकों ने बुधवार से फव्वारा पार्क में डेरा डाल लिया है।  गुरुवार को मीटिंग में राकेश जांगड़ा और मुकेश डिडवानिया ने बताया कि राष्ट्रपति को लिखे पत्र में कहा गया है कि हमें अपने परिवार के लिए खाने पीने के लिए कोई साधन नही दिख रहा है।

- आशुतोष गौतम, महिन्द्र