बहल : निवर्तमान सांसद दुष्यंत चौटाला ने भाजपा ने पिछले चुनावों में तो लोगों से झूठ बोलकर सत्ता हथिया ली थी। पांच साल तक गरीब, कमेरे, किसान वर्ग के दुख दर्द से बेखबर होकर अपने लोगों के लिए सुख सुविधा देने का काम किया है। पर, अब भाजपा के पास लोगों को बरगलाने के लिए कुछ भी नहीं है। लोग भाजपा के झांसे में आने वाले नहीं है। अब सत्ता ही नहीं, व्यवस्था परिवर्तन के लिए लोग जजपा-आप गठबंधन को लोकसभा तथा विधानसभा में समर्थन देंगे।

इनेलो छोड़कर जजपा में शामिल होने वाले लोहारू के इनेलो हलका प्रधान महेन्द्र गोकलपुरा के आवास पर रविवार को निवर्तमान सांसद ने कहा कि चुनावों से पहले भाजपा ने लोगों को सब्जबाग दिखाए थे। जितने वादे किए, सारे खोखले निकले। न किसी के खाते में 15 लाख आए, न किसी बेरोजगार को रोजगार मिला। यही हाल प्रदेश में रहा। प्रदेश में लोगों की हर मांग, आंदोलन को तानाशाही से कुचलने का काम किया गया। प्रदेश में विभिन्न घटनाओं में 80 निहत्थे लोगों की जान ली जा चुकी है।

हाल ही में सीएम सिटी करनाल में विद्यार्थियों पर लाठी और गोलियां बरसाई गई जबकि वे केवल बस सुविधा के लिए बस स्टॉप की मांग कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अब लोकसभा तथा विधानसभा चुनावों में जजपा, आप गठबंधन को कामयाब बनाएं ताकि विरोधी पार्टियों को यह पता चल सके कि अब लोग उनके झांसे में आने वाले नहीं है। इस अवसर पर जिला प्रधान विजय सिंह गोठड़ा, वजीर मान, वेदपाल, महेन्द्र गोकलपुरा, दिनेश सिहाग सुरपुरा, प्रदीप बिधनोई, विकास बिधनोई, राजकुमार ओबरा, हिम्मत जावला सहित अनेक लोग मौजूद रहे।

निवर्तमान सांसद दुष्यंत चौटाला ने पत्रकार वार्ता में कहा कि जजपा-आप गठबंधन जनता के समक्ष एक मजबूत राजनीतिक विकल्प है। जो आने वाले समय में प्रदेश में एक ऐसा परिवर्तन लेकर आएगा जो आने वाले समय में प्रदेश की दशा और दिशा को एक नया चेहरा देगा। उन्होंने कहा कि भाजपा ने बंटवारे, जात, धर्म और मजहब की राजनीति की जबकि कांग्रेस ने लूट की राजनीति की है। ऐसे में लोगों को जजपा-आप जैसे एक ऐसे विकल्प की तलाश थी जो आमजन की आवाज बन सके।

उन्होंने भिवानी-महेन्द्रगढ़ सीट से किसी महिला उम्मीदवार को मैदान में उतारने जाने की चर्चाओं के सवाल पर कहा कि गठबंधन में महिलाओं, युवाओं समेत सभी ऐसे चेहरों को सामने लाया जाएगा जो शिक्षित एवं लोगों के लिए सेवाभावना से काम करने वाले हो। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि जजपा-आप गठबंधन की 16 अप्रैल को बैठक है तथा संभव है कि उसी दिन लोकसभा की 10 सीटों के लिए उम्मीदवारों की घोषणा कर दी जाए।

(अजय गोयल)