BREAKING NEWS

स्वतंत्रता दिवस के मौके पर दिल्ली सरकार के होंगे 7 खास मेहमान◾चीन को भारत की खरी खरी कहा- सीमा पर बने हालात से तय होगा रिश्तों का भविष्य◾महाराष्ट्र में कोरोना का प्रकोप जारी, 12 हजार से अधिक नए मामले की पुस्टि, 364 लोगों की मौत ◾देश में अशांति पैदा करने वालों को माकूल जवाब देंगे : राष्ट्रपति ◾स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई में केंद्र और राज्य सरकारों की तारीफ की◾कांग्रेस ने सुरजेवाला ने कहा- राजस्थान का ‘विश्वासमत’ प्रजातंत्र के लिए नई रोशनी लेकर आया है◾चीन से तनातनी के बीच बोले रक्षामंत्री - अगर दुश्मन हम पर हमला करता है तो मुंहतोड़ जवाब देंगे◾विधानसभा कार्यवाही के बाद बोले पायलट-पहले मैं सरकार का हिस्सा था, लेकिन अब नहीं◾गृहमंत्री अमित शाह ने कोरोना को दी मात, कोविड टेस्ट रिपोर्ट आई निगेटिव ◾गहलोत सरकार ने हासिल किया विश्वास मत, 21 अगस्त तक के लिए विधानसभा स्थगित◾राजस्थान विधानसभा में सरकार के बचाव में खड़े हुए सचिन पायलट, खुद को बताया सबसे मजबूत योद्धा◾कोर्ट की अवमानना मामले में वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण दोषी करार◾जम्मू-कश्मीर : स्वतंत्रता दिवस से एक दिन पहले श्रीनगर में आतंकवादी हमला, दो पुलिसकर्मी शहीद◾सुशांत मामले में बदले संजय राउत के सुर, कहा-अभिनेता के परिवार को मिले न्याय◾कोरोना वैक्सीन बनाने वाले देशों में से एक होगा भारत, सरकार को वितरण रणनीति बनाने की जरूरत : राहुल गांधी◾कोविड-19 : देश में पिछले 24 घंटे में 64 हजार 533 मामलों की पुष्टि, संक्रमितों का आंकड़ा 25 लाख के करीब◾दुनियाभर में कोरोना पॉजिटिव मामलों की संख्या 2 करोड़ 7 लाख के पार, 7 लाख 52 हजार लोगों की मौत ◾LAC विवाद पर US ने दिया भारत का साथ, चीनी आक्रामकता की आलोचना करने वाला प्रस्ताव अमेरिकी सीनेट में पेश◾राजस्थान विधानसभा का सत्र आज से, BJP के अविश्वास प्रस्ताव के खिलाफ कांग्रेस लाएगी विश्वास प्रस्ताव◾स्वतंत्रता दिवस : कोरोना महामारी के बीच हर साल से अलग होगा समारोह, दिल्ली में की गई बहुस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

जजपा ने 7 उम्मीदवार किए घोषित

चंडीगढ़ : हरियाणा विधानसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है। आचार संहिता लगने से पहले ही जननायक जनता पार्टी ने 7 उम्मीदवारों की सूची जारी कर दी है। इनमें से 5 उम्मीदवार इनेलो छोड़कर जजपा में शामिल हुए नेता हैं। जबकि 2 उम्मीदवार हर्ष कुमार और रामकुमार गौतम का इनेलो से कोई नाता नहीं रहा। इस सूची में इनेलो से 2014 में विधायक रहे अनूप धानक को जजपा ने उसी सीट से उतार दिया है। 

उकलाना सीट के जजपा उम्मीदवार अनूप धानक पहले इनेलो में थे। वे इनेलो के कार्यकर्ता थे, उकलाना सीट रिजर्व होने की वजह से 2014 में पार्टी ने उन्हें टिकट दिया था और वे जीतकर विधायक बन गए। 2018 आते-आते चौटाला परिवार दो फाड़ हो गया। दुष्यंत चौटाला ने नई पार्टी जजपा का गठन कर लिया। अनूप धानक भी जजपा के झंडे तले रैलियों में नजर आए। इसके चलते इनेलो नेता अभय चौटाला की शिकायत पर विधानसभा स्पीकर ने उनकी सदस्यता रद्द कर दी। जजपा में निष्ठा दिखाने की वजह से उनका नाम पहली सूची में आया है। 

इनेलो की सीट पर विधायक रहे पूर्व विधानसभा स्पीकर सतबीर कादियान के बेटे देवेंद्र कादियान को पानीपत ग्रामीण सीट पर टिकट दिया गया है। देवेंद्र ने अभी तक कोई चुनाव नहीं लड़ा है। वे अपने पिता के राजनीतिक कैरियर के दम पर चुनाव में उतरेंगे। उनके पिता 1987, 1991 और 2000 में नौल्था सीट से विधायक बने। टिकट मिलने के पीछे की बड़ी वजह उनकी चौटाला परिवार से रिश्तेदारी मानी जा रही है। 

जिसके चलते जजपा के गठन के दौरान से सतबीर कादियान अजय चौटाला के साथ जुड़े हुए हैं। इसी के चलते पानीपत ग्रामीण से देवेंद्र कादियान को टिकट दिया गया है। नारनौंद से जजपा सीट पर चुनाव लड़ने जा रहे रामकुमार गौतम पहले भाजपा में थे। 2005 में जब भाजपा की पूरे हरियाणा में महज दो सीट आई थी, तब रामकुमार गौतन नारनौंद से जीते थे। लेकिन भाजपा का इनेलो से गठबंधन होने पर उन्होंने पार्टी छोड़ दी थी और कांग्रेस में शामिल हो गए थे। इसके बाद चुनाव लड़ा हा गए, फिर निर्दलीय चुनाव लड़ा हार गए। वे 4 चुनाव लड़ चुके हैं। 

अभी जजपा के गठन के बाद पार्टी ज्वाइन की और उन्होंने आखिरी बार चुनाव लड़ने की इच्छा जताई थी, जो जजपा ने टिकट देकर पूरी कर दी है। हथीन सीट से चुनाव लड़ने वाले हर्ष कुमार 32 वर्ष से चुनावी राजनीति में हैं और हथीन सीट पर 7 विधानसभा चुनाव लड़ चुके हैं। 1987 में पहला विधानसभा चुनाव लड़ने वाले हर्ष कुमार 1996 में हविपा से और 2005 में हथीन से निर्दलीय विधायक बने। 2014 के विधानसभा चुनाव में वे सिर्फ 6000 वोटों से चुनाव हारे थे। वे 1996 में बंसीलाल सरकार में मंत्री भी रहे। 

बावल सीट पर जजपा उम्मीदवार श्याम सुंदर सभरवाल 2014 में इनेलो के टिकट चुनाव लड़े थे लेकिन चुनाव हार गए थे। जजपा का गठन हुआ तो वे इनेलो छोड़कर जजपा में आ गए। एलएलएम व एमबीए पढ़े श्याम सुंदर फिलहाल जजपा के अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ के रेवाड़ी जिलाध्यक्ष हैं। नारनौल सीट पर जजपा उम्मीदवार कमलेश सैनी ने 2014 में इनेलो की सीट पर चुनाव लड़ा था। वे 4 हजार वोटों से हार गई थी। 

उनके ससुर भाना राम सैणी ने भी 2009 में नारनौल से इनेलो की टिकट पर चुनाव लड़ा था, वे भी 3 हजार वोटों से चुनाव हारे थे। इनेलो छोड़कर आए राव मरेश पालड़ी को जजपा ने महेंद्रगढ़ से उम्मीदवार बनाया है। पाली इनेलो में की वरिष्ठ पदों पर रहे हैं। वे जजपा के महेंद्रगढ़ से जिलाध्यक्ष भी हैं।