BREAKING NEWS

दिल्ली : तुगलकाबाद गांव की झुग्गियों में लगी भीषण आग, मौके पर पहुंची दमकल की 30 गाड़ियां ◾दिल्ली : तुगलकाबाद गांव की झुग्गियों में लगी भीषण आग, मौके पर पहुंची दमकल की 30 गाड़ियां ◾PNB धोखाधड़ी मामला: इंटरपोल ने नीरव मोदी के भाई के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस फिर से किया सार्वजनिक ◾कोरोना संकट के बीच, देश में दो महीने बाद फिर से शुरू हुई घरेलू उड़ानें, पहले ही दिन 630 उड़ानें कैंसिल◾देशभर में लॉकडाउन के दौरान सादगी से मनाई गयी ईद, लोगों ने घरों में ही अदा की नमाज ◾उत्तर भारत के कई हिस्सों में 28 मई के बाद लू से मिल सकती है राहत, 29-30 मई को आंधी-बारिश की संभावना ◾महाराष्ट्र पुलिस पर वैश्विक महामारी का प्रकोप जारी, अब तक 18 की मौत, संक्रमितों की संख्या 1800 के पार ◾दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर किया गया सील, सिर्फ पास वालों को ही मिलेगी प्रवेश की अनुमति◾दिल्ली में कोविड-19 से अब तक 276 लोगों की मौत, संक्रमित मामले 14 हजार के पार◾3000 की बजाए 15000 एग्जाम सेंटर में एग्जाम देंगे 10वीं और 12वीं के छात्र : रमेश पोखरियाल ◾राज ठाकरे का CM योगी पर पलटवार, कहा- राज्य सरकार की अनुमति के बगैर प्रवासियों को नहीं देंगे महाराष्ट्र में प्रवेश◾राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने हॉकी लीजेंड पद्मश्री बलबीर सिंह सीनियर के निधन पर शोक व्यक्त किया ◾CM केजरीवाल बोले- दिल्ली में लॉकडाउन में ढील के बाद बढ़े कोरोना के मामले, लेकिन चिंता की बात नहीं ◾अखबार के पहले पन्ने पर छापे गए 1,000 कोरोना मृतकों के नाम, खबर वायरल होते ही मचा हड़कंप ◾महाराष्ट्र : ठाकरे सरकार के एक और वरिष्ठ मंत्री का कोविड-19 टेस्ट पॉजिटिव◾10 दिनों बाद एयर इंडिया की फ्लाइट में नहीं होगी मिडिल सीट की बुकिंग : सुप्रीम कोर्ट◾2 महीने बाद देश में दोबारा शुरू हुई घरेलू उड़ानें, कई फ्लाइट कैंसल होने से परेशान हुए यात्री◾हॉकी लीजेंड और पद्मश्री से सम्मानित बलबीर सिंह सीनियर का 96 साल की उम्र में निधन◾Covid-19 : दुनियाभर में संक्रमितों का आंकड़ा 54 लाख के पार, अब तक 3 लाख 45 हजार लोगों ने गंवाई जान ◾देश में कोरोना से अब तक 4000 से अधिक लोगों की मौत, संक्रमितों का आंकड़ा 1 लाख 39 हजार के करीब ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

एसडीओ भर्ती की तरह जेई भर्ती में भी हरियाणा के युवाओं का हक छीन रही खट्टर सरकार : दीपेन्द्र हुड्डा

चंडीगढ़ : कांग्रेस कार्यसमिति के सदस्य दीपेन्द्र हुड्डा से आज छात्रों का एक प्रतिनिधि मंडल मिला और बताया कि हरियाणा में जेई के 1624 पदों के लिये चल रही भर्ती प्रक्रिया में हरियाणा के युवाओं के साथ सामाजिक-आर्थिक मापदंडों के नाम पर अन्याय हो रहा है तथा अन्य राज्यों के अभ्यर्थियों को दस्तावेज सत्यापन के चरण में मात्र सेल्फ डिक्लेरेशन लेकर इस मापदंड में समान अंक दिये जा रहे हैं, जो कि नियमों के हिसाब से भी गलत है। 

हरियाणा के युवाओं के लिये 75 प्रतिशत रोजगार आरक्षित करने का वादा करने वाले इस मुद्दे पर चुप्पी साधे बैठे हैं। इस पर दीपेन्द्र हुड्डा ने कहा कि जिस तरह एसडीओ भर्ती में हरियाणा से बाहर के लोगों को फायदा हुआ उसी तरह खट्टर-2 सरकार हरियाणा के युवाओं के हितों को छीनने का प्रयास कर रही है। उन्होंने छात्रों को भरोसा दिलाया कि इस मुद्दे को जोर-शोर से विधानसभा में उठाया जायेगा। 

दीपेंद्र हुड्डा ने सरकार से मांग करी कि हरियाणा निवासी अभ्यर्थियों की शिकायतों का समाधान होने तक जेई भर्ती का अंतिम परिणाम घोषित न किया जाए। छात्रों के प्रतिनिधि मंडल ने कांग्रेस कार्यसमिति सदस्य दीपेंद्र हुड्डा को इसके बारे में विस्तार से बताते हुए कहा कि हरियाणा में चल रही जेई भर्ती की प्रक्रिया के तहत दस्तावेजों का सत्यापन हो रहा है जो कि संभवतः कल तक खत्म हो जायेगा। 

इस प्रक्रिया में सामाजिक-आर्थिक मापदंडों के तहत 5-10 नंबर, जो अब तक की भर्तियों में चाहे वह ग्रुप-डी की भर्ती हो या हरियाणा पुलिस की भर्ती रही हो केवल हरियाणा के अधिवासियों को ही दिये जाते थे; लेकिन, अब जबकि जेई भर्ती की पूरी प्रक्रिया अंतिम दौर में है तो नियमों में फेरबदल कर बाहरी राज्यों के अभ्यर्थियों से मात्र सेल्फ डिक्लेरेशन लेकर 5-10 नंबर दिये जा रहे हैं। 

इससे साफ है कि सरकार की मंशा नौकरियों में भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने और बाहरी राज्यों के अभ्यर्थियों को जेई के पदों पर लगाने की है। छात्रों ने यह भी बताया कि इन पदों पर आवेदन फॉर्म भरने के समय सामाजिक-आर्थिक मापदंडों वाला खंड केवल हरियाणा निवासी छात्र ही भर पा रहे थे। विज्ञापन संख्या 10/2019 व अधिसूचना में भी साफ लिखा हुआ है कि सामाजिक-आर्थिक मापदंडों के साथ ही हरियाणा का अधिवास प्रमाण देना अनिवार्य है। इतना ही नहीं, नोटिफिकेशन में भी स्पष्ट तौर पर लिखा गया था कि आवेदन फॉर्म भरते समय जो दस्तावेज लगाये जायेंगे वही दस्तावेज, डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के समय मान्य होंगे। 

लेकिन अब, डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के समय बाहरी राज्यों के अभ्यर्थियों से भी पिछली तारीख में सेल्फ डिक्लेरेशन भरवा कर सारे नियम-कायदे ताक पर रखकर नंबर दिये जा रहे हैं। प्रतिनिधि मंडल में शामिल छात्रों ने आरोप लगाया कि पिछली तमाम भर्तियों में बाहरी छात्रों को इस वर्ग में नंबर इसलिये नहीं दिये गये क्योंकि चुनाव सर पर थे। अब जबकि चुनाव खत्म हो चुके हैं और भाजपा-जजपा सरकार सत्ता में आ चुकी है तो हरियाणा निवासी छात्रों के साथ अन्याय शुरु हो गया है। 

छात्रों ने ये भी कहा कि हरियाणा बेरोजगारी के मामले में पूरे देश में नंबर-1 पर पहुंच गया है और यहां 28.7 प्रतिशत के साथ सबसे ज्यादा बेरोज़गारी दर है। ऐसे में हरियाणा के मूल निवासी छात्रों के हितों पर कुठाराघात सही नहीं है। दक्षिण भारत एवं पूर्वोत्तर के राज्यों सहित अन्य राज्य, पंजाब, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, गुजरात, महाराष्ट्र अपने राज्य के युवाओं के हितों की रक्षा करते हैं। 

जबकि, हरियाणा में भीषण बेरोजगारी झेल रहा युवा सरकार की भेदभाव पूर्ण नीतियों का शिकार हो रहा है। प्रतिनिधि मंडल में रोहतक के अंकित, करनाल के रजत सैनी, सौंध के प्रदीप, कुरुक्षेत्र के हर्ष, श्वेता ढुल समेत सैंकड़ों अभ्यर्थी शामिल रहे।