BREAKING NEWS

चीन ने कहा- 'अमेरिका को ईमानदारी दिखानी चाहिए और श्रीलंका की मदद करनी चाहिए'◾बिहार से असम तक तैयार हो रहा 4 लेन का एक्सप्रेसवे, इन जिलों को मिलने वाला है फायदा ◾अडाणी विवाद को लेकर बोलें शशि थरूर, कहा- संसद में चर्चा नहीं होने दे रही है सरकार◾त्रिपुरा चुनाव: वाम गठबंधन ने जारी किया घोषणापत्र, किए ये वादे ◾मनीष सिसोदिया ने बदले एक दर्जन से ज्यादा फोन, दूसरे नामों से खरीदे Sim cards, शराब घोटाले को लेकर ED ने किए कई बड़े दावे◾आर्थिक कंगाली के बीच अब 'पाकिस्तान 18 दिनों तक ही कर पाएगा अपना गुजारा' ◾पश्चिम बंगाल : चार बांग्लादेशी घुसपैठियों को सशस्त्र सीमा बल के जवानों ने दबोचा◾2019 से राष्ट्रपति की विदेश यात्राओं पर सवा छह करोड़ रुपये खर्च हुए◾भाजपा-ठाकरे गुट में तनातनी: संजय राउत ने 'आधारहीन आरोप' लगाने के लिए नारायण राणे को भेजा कानूनी नोटिस◾चीन: अमेरिकी वायु क्षेत्र में जासूसी गुब्बारा उड़ने की रिपोर्ट पर गौर कर रहे हैं◾ब्रिटेन के PM के रूप में 100 दिनों पर सुनक को औसत ग्रेड◾असम : बाल विवाह करने वालों की अब खैर नहीं, सरकार ने शुरू की मुहिम, 1,800 लोगों की हुई गिरफ़्तारी ◾कंझावला कांड : सच साबित हुई निधि की बात, हादसे के वक्त शराब के नशे में थी अंजलि, विसरा रिपोर्ट में हुआ खुलासा◾ संबंधों को सामान्य करने के लिए समझौते पर हस्ताक्षर करेंगे' 'इजराइल और सूडान◾SC ने किया BBC की Documentary पर तुरंत बैन हटाने से इनकार, केंद्र सरकार से मांगे Original दस्तावेज◾SC को जल्द मिलेंगे 5 नए जज, केंद्र सरकार ने कॉलेजियम की सिफारिश को मंजूरी देने का आश्वासन दिया ◾बढ़ती महंगाई के बीच देश में आटे की कीमत घटी, '6 फरवरी से नए दर पर मिलेगा आटा' ◾अडाणी ग्रुप को लेकर लोकसभा में विपक्ष का हंगामा, कार्यवाही हुई स्थगित◾अदाणी विवाद पर बोलें सभापति धनखड़, कहा- मेरे फैसले की लगातार अवहेलना हुई ◾Adani Enterprises अमेरिकी बाजार के Dow Jones Sustainability Index से बाहर, Share में 35 प्रतिशत की गिरावट◾

कुमारी शैलजा ने हरियाणा सरकार पर खाद को लेकर गुमराह करने का लगाया आरोप, कहि यह बात

हरियाणा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी शैलजा ने राज्य सरकार पर खाद की कमी को लेकर विधानसभा में समूचे सदन को गुमराह करने का आरोप लगाया है। शैलजा ने मीडिया को आज जारी एक बयान में कहा कि कृषि मंत्री ने सदन में दावा किया था कि राज्य में यूरिया खाद की कोई कमी नहीं है लेकिन राज्य में यूरिया की आज भी किल्लत बनी हुई है। किसान यूरिया के लिए मारे-मारे फिर रहे हैं। किसानों को इसके लिये कड़ाके की ठंड के बावजूद तड़के मंडियों के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं। 

उन्होंने कहा कि धान की फसल के मंडी में पहुंचने के साथ ही किसान गेहूं की फसल की तैयारी शुरू कर देते हैं। धान बिक्री से मिली राशि से वे बीज और खाद खरीदते हैं। ऐसे में अक्टूबर माह में ही खाद का इंतजाम हो जाना चाहिए था लेकिन 3 माह बीत जाने के बाद भी खाद के लिए किसान धक्के खाने को मजबूर हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य सरकार ने अपनी कमियां छिपाने के लिए कृषि मंत्री को आगे कर दिया और उनसे विधानसभा में बयान दिलवा दिया कि प्रदेश में खाद की कोई कमी नहीं है। 

उन्होंने मांग करते हुए कहा कि कृषि मंत्री और प्रदेश सरकार को यूरिया की कमी के बारे में श्वेत पत्र जारी कर यह बताना चाहिए कि किस जिले में कितनी खाद मौजूद है और किसानों के सामने बन रहे मौजूदा खाद संकट के लिए जिम्मेदार कौन है। शैलजा यह भी आरोप लगाया कि कृषि कानूनों के खिलाफ एक साल से भी ज्यादा समय तक चले किसान आंदोलन के कारण राज्य सरकार किसानों से रंजिश पाले हुए है। 

उन्होंने कहा कि राज्य में यूरिया का संकट कितना बड़ा है, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इसके आने की सूचना मिलते ही किसान मंडियों की ओर दौड़ पड़ते हैं। जींद जिले में कृषि विभाग के अधिकारी कह रहे हैं कि उन्होंने यूरिया की आपूर्ति को लेकर सरकार को मांग भेजी हुई है। लेकिन इसे पूरा नहीं किया जा रहा है। उन्होंने प्रदेश सरकार से खाद की जल्द कमी दूर करने की मांग की।