BREAKING NEWS

EC ने रैली-रोड शो पर लगी पाबंदी को 31 जनवरी तक बढ़ाया, दूसरे तरीकों से प्रचार करने पर दी गई ढील ◾गृहमंत्री शाह ने कैराना में मांगे घर-घर BJP के लिए वोट, पलायन कराने वालों पर साधा निशाना ◾ चन्नी और सिद्धू दोनों पंजाब के लिए निकम्मे हैं, कांग्रेस के अंदर की लड़ाई ही उनको चुनाव में सबक सिखाएगीः कैप्टन◾निर्वाचन आयोग : चुनाव वाले राज्यों के शीर्ष अधिकारियों से करेगा मुलाकात, कोविड की स्तिथि का लेंगे जायजा ◾ दिग्विजय सिंह के खिलाफ भोपाल पुलिस ने दर्ज की FIR , पूर्व सीएम बोले- हमने कोई अपराध नहीं किया◾पंजाब में नफरत का माहौल पैदा कर रही है कांग्रेस, गजेंद्र सिंह शेखावत ने EC से किया कार्रवाई का आग्रह◾बाबू सिंह कुशवाहा की पार्टी के साथ गठबंधन करेंगे ओवैसी, UP की सत्ता में आने के बाद बनाएंगे 2 CM◾ पिता मुलायम सिंह यादव की कर्मभूमि से लड़ेंगे अखिलेश चुनाव, सपा का आधिकारिक ऐलान◾जम्मू-कश्मीर : शोपियां जिले में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ शुरू, सेना ने रास्ते को किया सील ◾यदि BJP पणजी से किसी अच्छे उम्मीदवार को खड़ा करती है, तो चुनाव नहीं लड़ूंगा: उत्पल पर्रिकर ◾गोवा में BJP के लिए सिरदर्द बनेगा नेताओं का दर्द-ए-टिकट! अब पूर्व CM पार्सेकर छोड़ेंगे पार्टी◾ BSP ने जारी की दूसरे चरण के मतदान क्षेत्रों वाले 51 प्रत्याशियों की सूची, इन नामों पर लगी मोहर◾DM के साथ बैठक में बोले PM मोदी-आजादी के 75 साल बाद भी पीछे रह गए कई जिले◾पूर्व प्रधानमंत्री देवेगौड़ा हुए कोरोना से संक्रमित, ट्वीट कर दी जानकारी ◾यूपी : गृहमंत्री शाह कैराना में करेंगे चुनाव प्रचार, काफी सुर्खियों में था यहां पलायन का मुद्दा ◾उत्तराखंड : टिकट नहीं मिलने से नाराज BJP नेताओं में असंतोष, पार्टी की एकजुटता तोड़ने की दी धमकी ◾मुंबई की 20 मंजिला इमारत में लगी भीषण आग, 7 की मौत, 15 लोग घायल ◾UP में CM कैंडिडेट वाले बयान पर बोलीं प्रियंका-मैं चिढ़ गई थी, क्योंकि.....◾Today's Corona Update : 24 घंटे में 3.37 लाख से ज्यादा नए केस, 488 मरीजों की मौत ◾ UP विधानसभा चुनाव : बिजनौर और अमरोहा का दौरा कर पार्टी नेताओं को जीत का मंत्र देंगे नड्डा◾

मासूम व दो छात्राओं के गायब होने का मामला : पारिवारिक कलह के चलते छोड़ा था घर

झज्जर : झज्जर से एक 12 साल के मासूम व दो स्कूली छात्राओं के अचानक घर से गायब होने के मामले की गुत्थी आखिरकार पुलिस ने घटना के चौबीस घंटे बीत जाने के बाद सुलझा ली है। मासूम को पुलिस ने जहां उसके दिल्ली नांगलोई स्थित ननिहाल से बरामद किया, वहीं गायब छात्राएं पास में आधार कार्ड व पैसे कम होने और किसी भी धर्मशाल या फिर होटल में कोई कमरा न मिलने की सूरत में झज्जर वापिस लौट आई। 

लेकिन इससे पहले कि यह छात्राएं परिजनों के पास पहुंच पाती उससे पहले ही स्थानीय पुलिस ने उन्हें पूछताछ के लिए अपने कब्जे में ले लिया। पुलिस की जांच में इन दोनों ही मामलों में जो बातें खुलकर सामने आई है उसके अनुसार गुरूवार की सुबह अपने घर से घूमने की कह कर निकला 12 साल का छात्र इन दिनों स्कूल द्वारा लिए जा रहे रूटीन के टैस्ट में नम्बर कम आने से परेशान था और उसके अभिभावकों के गुस्से का शिकार न होना पड़े इसी के चलते उसने घर छोड़ दिया। 

पुलिस की माने तो मासूम बस में सवार होकर पहले बहादुरगढ़ पहुंचा और बाद में पैदल-पैदल चलकर नांगलोई दिल्ली स्थित अपने ननिहाल चला गया। दोनों ही मामलों की सुलझाई गई गुत्थी की जानकारी देने के लिए डीएसपी रणबीर सिंह व श्मशेर सिंह ने सिटी थाना प्रभारी जितेन्द्र के साथ एक संयुक्त पत्रकार वार्ता महिला थाने में बुलाई। गायब छात्राओं के मामले का खुलासा करते हुए डीएसपी रणधीर सिंह ने बताया कि बुधवार को घर से टयूशन पढऩे की कह कर निकली दोनों ही छात्राएं काफी समझदार है। 

इस मामले में गलती उनसे यहीं हुई कि यह दोनों छात्राएं अपने पारिवारिक कलह से परेशान थी और इसी के चलते उन्होंने घर छोडऩा बेहतर समझा। डीएसपी ने बताया कि अचानक घर छोडऩे वाली इन दोनों ही छात्राओं के पास न तो आधार कार्ड था और न ही ज्यादा पैसे। गुस्से में आकर इन्होंने अपना घर तो जरूर छोड़ दिया,लेकिन कोई भी आईडी न होने के चलते इन्हें कहीं भी किसी होटल या फिर धर्मशाला में कमरा नहीं मिला। 

जिसके चलते यह जब वापिस आ रही थी तो बस में ही बैठी महिला पुलिस की एक सिपाही ने शक होने पर इनसे थोड़ी पूछताछ की तो मामले की गुत्थी सुलझती चली गई। बाद में महिला पुलिस हीं इन्हें झज्जर लेकर आई। उन्होंने यह भी बताया कि घर छोडऩे से पहले इन दोनों ही छात्राओं ने मिर्ची पॉवडर भी अपने साथ रखा। 

ताकि कहीं कोई इनके साथ अनहोनी घटना न घटे। डीएसपी ने छात्राओं का उनके अभिभावकों के सामने बैठाकर काऊंसलिंग कराने की भी बात कही है। उधर इन छात्राओं का पुलिस ने पहले तो स्थानीय अस्पताल में मैडिकल परीक्षण कराया और बाद में अदालत में इनके बयान कराने के बाद इन्हें परिजनों के हवाले कर दिया।