BREAKING NEWS

उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू कोरोना पॉजिटिव ◾IPL-13: जॉनी बेयरस्टो का शानदार अर्धशतक, हैदराबाद ने दिल्ली के सामने रखा 163 रनों का लक्ष्य ◾दिल्ली में कोरोना से 24 घंटे में 48 लोगों की मौत , 3227 नए मामले भी सामने आए ◾सच्चाई से परे और बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है एमनेस्टी इंटरनेशनल का बयान : गृह मंत्रालय◾ भारत ने अवैध तरीके से लद्दाख को बनाया केंद्र शासित प्रदेश, हम नहीं देते मान्यता : चीन ◾रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ‘रक्षा भारत स्टार्टअप चैलेंज’ की शुरुआत की, दिशा-निर्देश भी किये लॉन्च◾हाथरस केस : उप्र में ‘जंगलराज’ ने एक और युवती को मार डाला, सरकार ने कहा 'फ़ेक न्यूज़' - राहुल गांधी◾DC vs SRH आईपीएल-13 : दिल्ली कैपिटल्स ने जीता टॉस, गेंदबाजी का किया फैसला◾6 साल में सेना ने खरीदा 960 करोड़ का खराब गोला-बारूद, तकरीबन 50 जवानों ने गंवाई जान : रिपोर्ट ◾LAC विवाद पर भारत का कड़ा सन्देश - अपनी मनमानी व्याख्या जबरन थोपने की कोशिश न करें चीन◾हाथरस गैंगरेप पीड़िता की मौत पर बवाल, विजय चौक के पास दिल्ली महिला कांग्रेस का जोरदार प्रदर्शन◾बिहार विधानसभा चुनाव : महागठबंधन से अलग हुई RLSP, बसपा के साथ बनाया नया गठबंधन ◾पायल घोष ने महाराष्ट्र के राज्यपाल से की मुलाकात, अनुराग कश्यप मामले में की न्याय की मांग◾विपक्ष के चौतरफा हमले के बीच यूपी सरकार ने हाथरस के पीड़ित परिवार को दी 10 लाख रु की मदद ◾चुनाव आयोग ने 12 राज्यों की 57 सीटों पर उपचुनाव की तारीखों का किया ऐलान, 10 नवंबर को नतीजे◾एनसीबी का बड़ा बयान- ड्रग्स लेने के दौरान सुशांत को रिया ने दिया बढ़ावा◾‘नमामि गंगे’ मिशन के तहत PM मोदी ने उत्तराखंड में 6 बड़ी परियोजनाओं का किया उद्घाटन◾कृषि बिल पर राहुल ने की किसानों से बातचीत, कहा- नए कानून से अन्नदाता बन जाएंगे मजदूर◾हाथरस गैंगरेप पीड़िता की मौत पर विपक्ष का योगी सरकार पर हमला, कानून व्यवस्था पर उठाए सवाल◾देश में एक दिन में कोरोना के 70 हजार नए मामलों की पुष्टि, पॉजिटिव केस 61 लाख के पार◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

लोकसभा चुनाव : रोहतक में 2016 के जाट आंदोलन का असर

रोहतक में चुनाव अभियान अब समाप्ति की ओर है और इस संसदीय क्षेत्र के लोगों का मानना है कि इस बार के चुनाव में 2016 के जाट प्रदर्शन के आधार पर वोटों का विभाजन होगा। लगातार चौथी बार रोहतक से चुनाव लड़ रहे दीपेंद्र हुड्डा यहां अपने पिता भूपेंद्र सिंह हुड्डा के मुख्यमंत्री बनने के बाद 2004 से लोकसभा चुनाव लड़ रहे हैं। दीपेंद्र हुड्डा यहां से भाजपा के उम्मीदवार अरविंद शर्मा से मुकाबला कर रहे हैं, जो चुनाव से पहले कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुए हैं।

रोहतक के लोगों का कहना है कि इस बार का चुनावी प्रचार मुख्यत: जाट और गैर-जाट और 35 अन्य बिरादरियों पर केंद्रित है, जो जिले की 16 लाख आबादी में से 30 प्रतिशत हिस्सेदारी रखती है। भाजपा ने यहां कांग्रेस और अन्य विपक्षी पार्टियों की तरफ से प्रधानमंत्री उम्मीदवार नहीं होने बनाम प्रधानमंत्री मोदी के निर्णायक शासन का मुद्दा उठाया है। यहां के डीएलएफ कॉलोनी निवासी जगदीश मलिक ने आईएएनएस से कहा कि 'फरवरी 2016 में जाट प्रदर्शन के बाद जाट और गैर-जाटों की चर्चा को बल मिला है।'

 झज्जर रोड निवासी बिरेंद्र कुमार ने कहा, 'हम फरवरी 2016 के जाट प्रदर्शन को नहीं भूल सकते, जब हमने बंदूक और चाकू लिए कई लोगों को वाहनों पर आते और संपत्ति को निशाना बनाते व दुकानों को लूटते देखा।' यह पूछे जाने पर कि क्या जिले में कोई विकास कार्य हुआ है? उन्होंने कहा, 'दीपेंद्र और उनके पिता ने रोहतक में ढेर सारे काम किए हैं, जो दिखाई देता है।

लेकिन लोग जाट प्रदर्शन के कारण पार्टियों से खफा हैं।' लोग हालांकि यहां दीपेंद्र हुड्डा के खिलाफ किसी तरह की सत्ता विरोधी लहर से इनकार करते हैं, लेकिन वे उनपर व उनके पिता पर आरोप लगाते हैं कि उन्होंने जाट प्रदर्शन के दौरान नुकसान को रोकने के लिए कुछ नहीं किया।

संसदीय क्षेत्र में प्रचार अभियान के दौरान, दीपेंद्र हुड्डा प्राय: जिले में विभिन्न जाति समूहों के बीच सामाजिक गठबंधन की बात करते हैं, जिसमें 2016 के प्रदर्शन के बाद व्यवधान उत्पन्न हो गया था। दूसरी तरफ, भाजपा ने कांग्रेस पर जाट प्रदर्शन के जरिए मनोहर लाल खट्टर सरकार को अस्थिर करने के लिए जाटों को भड़काने का आरोप लगाया है। कांग्रेस ने यहां लंबे समय से शासन किया है और इस क्षेत्र को हुड्डा परिवार का गढ़ माना जाता है। लेकिन पार्टी इस बार अपने गढ़ को बचाने के लिए कड़ी चुनौती का सामना कर रही है।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने मंगलवार को दीपेंद्र हुड्डा के समर्थन में रोडशो किया था। रोहतक में हुड्डा कॉम्प्लेक्स निवासी कपिल गुलाटी ने कहा, 'शहर के स्थानीय मुद्दे भी महत्वपूर्ण हैं..जैसे पानी की कमी और कानून-व्यवस्था की स्थिति।' गुलाटी ने कहा, 'इन दिनों चेन छीनने की घटना बढ़ गई है और परिवार की महिलाएं अंधेरा होने के बाद बाजार नहीं जाती हैं।' यह पूछे जाने पर कि कौन इस चुनाव में चहेता उम्मीदवार है? उन्होंने कहा, 'इसमें कोई संदेह नहीं कि दीपेंद्र हमारे चहेते हैं, क्योंकि वह स्थानीय हैं और जब भी जरूरत पड़ती है, वह उपलब्ध होते हैं..जबकि कोई नहीं जानता कि अरविंद शर्मा कहां से आए हैं।'