BREAKING NEWS

आज का राशिफल (28 फरवरी 2021)◾गुजरात में स्थानीय निकाय चुनाव रविवार को, 3.04 करोड़ मतदाता मताधिकार का करेंगे इस्तेमाल◾कांग्रेस कमजोर हो रही है, मजबूत करने के लिए एक साथ आये : असंतुष्ट नेताओं ने कहा ◾राज्यसभा से रिटायर हुआ हूं, राजनीति से नहीं, जम्मू-कश्मीर राज्य के लिए लड़ाई जारी रखूंगा : आजाद ◾पश्चिम बंगाल ओपिनियन पोल : टीएमसी को 156, भाजपा को 100 सीटें मिलने का अनुमान◾भाजपा बंगाल में जीती तो अगली बार एक चरण में सुनिश्चित करेंगे विधानसभा चुनाव: दिलीप घोष◾भाजपा बंगाल में जीती तो अगली बार एक चरण में सुनिश्चित करेंगे विधानसभा चुनाव: दिलीप घोष◾निजी अस्पतालों में कोरोना वैक्सीन की 1 डोज की कीमत होगी 250 रुपये, सरकारी अस्पतालों में टीकाकरण मुफ्त ◾लंबे समय बाद कांग्रेस में एकजुट नजर आई, एक हेलीकॉप्टर में सवार हुए गहलोत- पायलट ◾PM इमरान खान ने सीजफायर समझौते का किया स्वागत, कहा- “अनुकूल वातावरण” बनाने की जिम्मेदारी भारत की◾आजाद की सभा में जुटे 'G23' के नेता, कपिल सिब्बल बोले- सच्चाई है कि कांग्रेस कमजोर हो रही है◾तमिलनाडु चुनाव : भाजपा-अन्नाद्रमुक में सीट बंटवारे पर बातचीत शुरू, CM पलानीस्वामी से किशन रेड्डी ने की मुलाकात ◾सीमा पर सीजफायर है पर जम्मू कश्मीर में आतंकवाद के खात्मे के अभियान जारी रहेंगे : भारतीय सेना ◾चीन जानता है कि प्रधानमंत्री ‘डरे हुए हैं', जमीन वापस नहीं ले पाएंगे और समझौता करेंगे : राहुल गांधी ◾बंगाल चुनाव पर बोले प्रशांत किशोर, '2 मई को मेरा पिछला ट्वीट निकाल लेना'◾ गाजीपुर बॉर्डर : गर्मी बढ़ते ही बेहद कम हुई आंदोलनकारी किसानों की संख्या, भाकियू ने दिया ये बयान ◾रविदास जयंती के मौके पर प्रियंका गांधी पहुंची काशी, पैदल चल जन्मस्थान मंदिर में मत्था टेका◾बंगाल में बुआ VS बेटी की जंग, 'नवरत्नों' के सहारे BJP का ममता दीदी पर तंज◾गुजरात के अहमदाबाद, सूरत समेत चार प्रमुख शहरों में रात्रिकालीन कर्फ्यू 15 दिन के लिए बढ़ाया गया ◾बंगाल चुनाव : BJP के चुनावी रथों में तोड़फोड़, पार्टी ने TMC पर लगाया आरोप◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर बोले-चंद लोग राजनीतिक कारणों से कृषि कानूनों का विरोध कर रहे है

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने रविवार को दक्षिण  नारनौल में "जल अधिकार रैली" को संबोधित करते हुए खट्टर ने कहा कि केंद्र सरकार 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के लिए प्रतिबद्ध है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों का बचाव करते हुए कहा कि चंद लोग "राजनीतिक कारणों" से इन अधिनियमों का विरोध कर रहे हैं। खट्टर ने कहा कि लोकतांत्रिक व्यवस्था में हर किसी को अपने विचार रखने का अधिकार है लेकिन सड़क बंद कर दबाव बनाने के लिए कोई जगह नहीं है। इस रैली में भाजपा के वरिष्ठ नेताओं ने शिरकत की। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों की आय कई चरणों में दोगुनी की जाएगी जिनमें से एक कृषि सुधार हैं। 

उन्होंने कहा, "चंद लोग राजनीतिक कारणों से इन कानूनों का विरोध कर रहे हैं जिन्हें मैं किसानों का प्रतिनिधि नहीं कहूंगा।"खट्टर ने कहा कि विरोध के कई तरीके हैं। यह विधानसभा में किया जा सकता है, मीडिया के जरिए किया जा सकता है, लोगों के बीच जाकर किया जा सकता है और बड़ी या छोटी जनसभाओं के जरिए किया जा सकता है, लेकिन "50-70 हजार लोग इकट्ठा हो जाएं और सड़कें बंद करके दबाव बनाएं... लोकतंत्र ऐसी चीजों के लिए नहीं है।"उन्होंने कहा, "अगर सरकार इसके आगे झुक जाती है तो देश गलत दिशा में जाएगा। बड़ी मुश्किलों से हमने इस लोकतंत्र को स्थापित किया है।" 

पंजाब और हरियाणा समेत देश के विभिन्न राज्यों से आए किसान दिल्ली की सीमाओं पर पिछले चार हफ्तों से कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। वे इन कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे हैं। इन कानूनों के बारे में सत्तारूढ़ दल का दावा है कि ये किसानों के फायदे के लिए हैं। 

प्रदेश भाजपा प्रमुख ओपी धनखड़ ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि कृषि कानून किसानों के लिए हैं और वे उनके समर्थन में हैं। धनखड़ ने कहा कि कुछ दिन पहले टीवी पर एक परिचर्चा के दौरान एक किसान नेता से पूछा गया कि यह आंदोलन कब खत्म होगा तो उन्होंने कहा कि यह उस दिन खत्म हो जाएगा जब इसमें कोई राजनीति नहीं रहेगी। प्रदेश भाजपा प्रमुख ने दावा किया, ‘‘यह आंदोलन किसानों का नहीं है, बल्कि राजनीति के लिए है। यह लाल झंडे वालों (वामपंथियों) का आंदोलन है।’’ 

खट्टर ने फिर दोहराया कि अगर न्यूनतम समर्थन मूल्य प्रणाली को किसी तरह का खतरा होता तो वह राजनीति छोड़ देते। सतलुज-यमुना संपर्क नहर के मुद्दे पर खट्टर ने कहा कि लोकतांत्रिक देश में राज्य मनमानी नहीं कर सकते हैं और पंजाब को मुद्दे पर अपनी जिद छोड़नी होगी। 

उन्होंने उम्मीद जताई कि हरियाणा को अपने हिस्से का पानी निश्चित रूप से मिलेगा। मुख्यमंत्री ने कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों से कहा कि वह केंद्र के साथ बातचीत के दौरान अपनी मांगों में पंजाब में नहर बनाने का मुद्दा भी शामिल करें। केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह ने कहा कि मोदी सरकार के कार्यकाल के दौरान किसानों के कल्याण के लिए कई कदम उठाए गए हैं। रैली के दौरान एक व्यक्ति को कथित रूप से काला झंडा लहराने को लेकर पुलिस ने कुछ समय के लिए हिरासत में ले लिया।