BREAKING NEWS

करनाल से बीजेपी के पूर्व सांसद और वरिष्ठ पत्रकार अश्विनी कुमार चोपड़ा का निधन, कैंसर से थे पीड़ित◾कमलनाथ सरकार के खिलाफ धरने पर बैठे MLA मुन्नालाल गोयल, घोषणा पत्र में किए गए वादों को पूरा नहीं करने का लगाया आरोप ◾नवाब मलिक बोले- अगर भागवत जबरदस्ती पुरुष की नसबंदी कराना चाहते हैं तो मोदी जी ऐसा कानून बनाए◾संजय राउत ने सावरकर को लेकर कांग्रेस पर साधा निशाना, बोले- विरोध करने वालों को भेजो जेल, तब सावरकर को समझेंगे'◾दोषियों को माफ करने की इंदिरा जयसिंह की अपील पर भड़कीं निर्भया की मां, बोलीं- ऐसे ही लोगों की वजह से बच जाते हैं बलात्कारी◾पाकिस्‍तान: सुप्रीम कोर्ट ने देशद्रोह मामले में फैसले के खिलाफ मुशर्रफ की याचिका पर सुनवाई से किया इनकार ◾सीएए और एनआरसी के खिलाफ लखनऊ में महिलाओं का प्रदर्शन जारी◾NIA ने संभाली आतंकियों के साथ पकड़े गए DSP दविंदर सिंह मामले की जांच की जिम्मेदारी◾वकील इंदिरा जयसिंह की निर्भया की मां से अपील, बोलीं- सोनिया गांधी की तरह दोषियों को माफ कर दें◾ट्रंप ने ईरान के 'सुप्रीम लीडर' को दी संभल कर बात करने की नसीहत◾ राजधानी में छाया कोहरा, दिल्ली आने वाली 20 ट्रेनें 2 से 5 घंटे तक लेट◾निर्भया : घटना के दिन नाबालिग होने का दावा करते हुए पवन पहुंचा सुप्रीम कोर्ट◾PM मोदी ने मंत्रियों से कहा, कश्मीर में विकास का संदेश फैलाएं और गांवों का दौरा करें ◾भाजपा ने अब तक 8 पूर्वांचलियों पर लगाया दांव◾यूरोपीय संघ के उच्च प्रतिनिधि ने PM मोदी से भेंट की◾दिल्ली पुलिस आयुक्त को NSA के तहत मिला किसी को भी हिरासत में लेने का अधिकार◾न्यायालय से संपर्क करने से पहले राज्यपाल को सूचित करने की कोई जरूरत नहीं : येचुरी◾ममता ने एनपीआर,जनसंख्या पर केन्द्र की बैठक में नहीं लिया भाग◾सिंध में हिंदू समुदाय की लड़कियों के अपहरण को लेकर भारत ने पाक अधिकारी को किया तलब◾नड्डा का 20 जनवरी को निर्विरोध भाजपा अध्यक्ष चुना जाना तय◾

गुरुग्राम रैपिड मेट्रो के परिचालन को कोई तैयार नहीं

गुरुग्राम रैपिड मेट्रो का परिचालन जारी रखने की समयसीमा 17 सितंबर को समाप्त होने से पहले इस बात की अटकलें तेज हो गई हैं कि क्या हुडा इसका परिचालन करेगा, क्योंकि रैपिड मेट्रो रेल गुड़गांव लिमिटेड (आरएमजीएल) ने आगे इसका परिचालन करने से अपनी असमर्थता जाहिर की है। 

रैपिड मेट्रा का निर्माण आईएलएंडएफएस इन्फ्रास्ट्रक्चर ने दो चरणों में किया था। पहले चरण में कंपनी ने 5.1 किलोमीटर एलिवेटेड ट्रैक का निर्माण किया था, जो राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या आठ स्थित शंकर चौक से सिकंदरपुर डीएमआरसी स्टेशन को जोड़ता है और इसमें छह स्टेशन हैं। इसके दूसरे चरण को 31 मार्च, 2017 को खोला गया। 

तीन साल में 1,450 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित इस मेट्रो की सेवा लोगों के लिए नवंबर 2013 में शुरू हुई थी। हालांकि गुरुग्राम के निवासी आपको बताएंगे कि मेट्रो से सफर करने वालों की तादाद में कमी, खर्चीली सेवा, अनुपयुक्त लोकेशन के कारण मेट्रो का परिचालन बंद होने के कगार पर है। 

आईएलएंडएफएस के दो स्पेशल परपस व्किल्स (एसपीवी)- रैपिड मेट्रो रेल गुड़गांव लिमिटेड (आरएमजीएल) और रैपिड मेट्रो रेल गुड़गांव साउथ लिमिटेड द्वारा क्रमश: 2013 और 2017 से गुरुग्राम में रैपिड मेट्रो का परिचालन किया जा रहा है और दोनों ने प्रदेश सरकार को करार तोड़ने का आरोप लगाते हुए सेवा बंद करने का नोटिस भेजा है। 

अब हरियाणा अर्बन डेवलपमेंट अथॉरिटी (हूडा) पर न सिर्फ इसके परिचालन का दायित्व है, बल्कि यह भी तय करना है कि कौन-सा करार तोड़ा गया है। गुरुग्राम के लोग आपको बताएंगे कि लाइन को एक्सप्रेसवे से होकर पुराने गुरुग्राम तक ले जाना चाहिए, जहां सार्वजनिक परिवहन की नितांत आवश्यकता है। 

हुडा को मेट्रो में यात्रियों की तादाद बढ़ाने के तौर-तरीकों और इलाकों में लाइन का विस्तार करने के संबंध में अध्ययन करना होगा। इसे दिल्ली मेट्रो से जोड़ना बदलावकारी साबित हो सकता है। 

आईएएनएस ने यह जानने की कोशिश की कि निजी क्षेत्र के स्वामित्व वाली भारत की पहले मेट्रो की ऐसी स्थिति आखिर क्यों बन गई कि कोई इसका परिचालन नहीं करना चाहता है। 

आईएलएंडएफ से संपर्क किया तो उसने यह कहते हुए औपचारिक रूप से कोई टिप्पणी करने से इन्कार कर दिया कि मसला न्यायालय में विचाराधीन है।