BREAKING NEWS

दिल्ली मेट्रो में हुई कोरोना की एंट्री, 20 कर्मचारियों में संक्रमण की पुष्टि◾'विश्व पर्यावरण दिवस' पर PM मोदी का खास सन्देश, कहा- जैव विविधता को संरक्षित रखने का संकल्प दोहराएं◾उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ में ट्रक और स्कॉर्पियो की भीषण टक्कर, 9 लोगों की मौत◾World Corona : दुनिया में पॉजिटिव मामलों की संख्या 66 लाख के पार, अब तक करीब 4 लाख लोगों की मौत ◾कोविड-19 : देश में 10 हजार के करीब नए मरीजों की पुष्टि, संक्रमितों का आंकड़ा 2 लाख 27 हजार के करीब ◾Coronavirus : अमेरिका में संक्रमितों का आंकड़ा 19 लाख के करीब, अब तक एक लाख से अधिक लोगों की मौत ◾अदालती आदेश का अनुपालन नहीं करने पर CM केजरीवाल के खिलाफ कोर्ट में अवमानना याचिका दायर ◾महाराष्ट्र : निसर्ग तूफान पर मुख्यमंत्री ठाकरे ने की समीक्षा बैठक, दो दिन में नुकसान की रिपोर्ट पूरी करने के दिए निर्देश ◾वंदे भारत मिशन के शुरू होने से अबतक विदेश में फंसे 1.07 लाख से ज्यादा भारतीय स्वदेश वापस आए : विदेश मंत्रालय ◾दिल्ली : पटेल नगर से आप विधायक राजकुमार आनंद कोरोना पॉजिटिव, खुद को किया होम क्वारनटीन◾केंद्र सरकार ने जारी किया राज्यों का जीएसटी मुआवजा, दिए 36,400 करोड़ रुपये◾महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे में कोरोना के 2,932 नए मामले, संक्रमितों का आंकड़ा 77 हजार के पार, अकेले मुंबई में 44 हजार से ज्यादा केस◾INX मीडिया मामले में पी चिदंबरम को बड़ी राहत, SC ने खारिज की जमानत पर सीबीआई की पुनर्विचार याचिका◾देशभर में कोरोना के 1,06,737 सक्रिय मामले, रिकवरी दर 47.99 फीसदी हुई : स्वास्थ्य मंत्रालय ◾फिल्ममेकर बासु चटर्जी के निधन पर राष्ट्रपति कोविंद और पीएम मोदी ने जताया शोक ◾ विजय माल्या का प्रत्यर्पण जल्द होने की संभावना कम, ब्रिटेन सरकार ने कानूनी मुद्दे का दिया हवाला ◾मोदी-मॉरिसन ऑनलाइन शिखर बैठक के बाद भारत, ऑस्ट्रेलिया ने महत्वपूर्ण रक्षा समझौते किये ◾केंद्र ने 2200 से अधिक विदेशी जमातियों को किया ब्लैक लिस्ट, 10 साल तक भारत यात्रा पर रहेगा बैन◾दिल्ली बॉर्डर सील मामले में SC ने तीनों राज्यों को NCR में आवागमन के लिए कॉमन नीति बनाने के दिए निर्देश◾वर्चुअल समिट में PM मोदी ने ऑस्ट्रेलिया के साथ भारत के संबंधों को मजबूत करने के लिए जाहिर की प्रतिबद्धता ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

आनलाइन बिल्डिंग प्लान मंजूरी की प्रक्रिया ने पकड़ी रफ्तार 1824 नक्शे हुए पास

चंडीगढ : व्यवस्था में पारदर्शिता लाने और मानवीय हस्तक्षेप कम करते हुए आमजन को घर बैठे रिहायशी, कमर्शियल नक्शे प्राप्त हो सकें, इसके लिए हरियाणा आनलाइन बिल्डिंग प्लान अपू्रवल सिस्टम ने रफ्तार पकड ली है। पालिका, नगर एवं अभियोजन विभाग और एचएसआईआईडीसी के नक्शा मंजूरी के लिए जहां 554 विशेषज्ञ, आर्किटेक्ट जुड चुके हैं, वहीं अब तक 1824 नक्शों को मंजूरी भी प्रदान की जा चुकी है। 

शहरी स्थानीय निकाय मंत्री कविता जैन ने बताया कि प्रदेश के शहरी इलाकों में हरियाणा बिल्डिंग कोड के अनुरूप भवनों के निर्माण सुनिश्चित करने के लिए प्रक्रिया में एकरूपता लाने के लिए हरियाणा आनलाइन बिल्डिंग प्लान अपू्रवल सिस्टम तैयार किया गया था। यह सिस्टम आमजन को बिचौलिया तंत्र से राहत दिलाने और समय की बर्बादी की बजाय पाबंद समय में आवेदक को उसके नक्शे की मंजूरी प्रदान करे, इसके लिए इसे प्रभावी बनाने की प्रक्रिया नवंबर से ही शुरू की गई थी। 

पहले चरण में तय दिशा-निर्देशा के अनुसार आवेदन होना सुनिश्चित हो, इसके लिए पालिकाओं के अधिकारी, कर्मचारियों के साथ-साथ आर्किटेक्ट, विशेषज्ञों को विभागों के साथ संबद्ध करने की प्रक्रिया एवं प्रशिक्षण प्रारंभ किए गए। इसमें अब तक 33 बार प्रशिक्षण करवाए जा चुके हैं और नगर एवं अभियोजन विभाग में आनलाइन सिस्टम के लिए 261, एचएसआईआईडीसी में 71 तथा शहरी स्थानीय निकाय विभाग में 222 प्रोफेशनल, आर्किटेक्ट अब तक संबद्ध हो चुके हैं, जबकि 174 आवेदन अब भी प्रक्रिया में हैं।

मंत्री कविता जैन ने बताया कि शुरूआती चरण में आमजन के साथ-साथ पालिका अधिकारियों को भी आनलाइन सिस्टम को समझने में थोडा परेशानी आई, लेकिन अब आनलाइन नक्शा आवेदन प्रक्रिया और नक्शे की मंजूरी मिलने की प्रक्रिया ने रफ्तार पकड ली है। उन्होंने बताया कि अब तक पालिका में 3333 नक्शे मंजूरी के आवेदन आए हैं, जिसमें से 1824 आवेदन मंजूर होने के बाद नक्शे सर्टिफिकेट जारी हो चुके हैं। 718 आवेदन नक्शे मंजूरी की प्रक्रिया में हैं, जबकि 749 नक्शे आवेदन जांच-पडताल की प्रक्रिया में हैं।

उन्होंने कहा कि पूर्व में नक्शा मंजूर कराने की प्रक्रिया पर बिचौलिया प्रवृति के लोगों द्वारा हस्तक्षेप करने की संभावना अधिक बनी रहती थी, इसमें आवेदक को समय और धन का नुकसान उठाना पडता था और नक्शे मंजूरी में होने वाली देरी के कारण लोग अवैध निर्माण कर लेते थे। लेकिन आनलाइन प्रक्रिया ऐसी व्यवस्था पर शिकंजा कसेगी और आमजन को बडी राहत प्रदान करेगी।

(राजेश जैन)