नई दिल्ली, चंडीगढ़ : कांग्रेस टिकट ​पर विधान सभा चुनाव लड़ने के इच्छुक नेताओं को पार्टी हाईकमान ने सावधान कर दिया है। हाई कमान ने सख्त लहजे में बोल दिया है कि अगर पार्टी द्वारा घोषित किए गए उम्मीदवार का किसी ने भी विरोध किया या अंदरखाने नुक्सान पहुंचाने की खबरें मिली तो ऐसे नेता को विधान सभा की टिकट बिल्कुल नहीं दी जाएगी। चाहे वह नेता कितना भी प्रभावशाली ही क्यों न हो।

हाई कमान ने वरिष्ठ नेताओं को भी दो टूक कहा है कि पार्टी के लिए एक-एक सीट जीतने का महत्व है, राहुल गांधी क बड़ी जीत दिलाकर प्रधानमंत्री बाने के लिए सभी को एकजुट होकर काम करना पड़ेगा। सभी विधायकों को दो टूक कह दिया गया है कि पार्टी के लिए लोकसभा की एक-एक सीट अहमियत रखती है, इसलिए किसी भी उम्मीदवार का विरोध सहन नहीं किया जाएगा।

सूत्रों के अनुसार पार्टी प्रभारी गुलाम नबी आजाद ने हरियाणा कांग्रेसियों को चेतावनी दे चुके हैं। क्यों​कि आजाद भी कांग्रेस नेताओं की आपसी कलह से अच्छी तरह वाकिफ है। जिन सीटों पर प्रत्याशी घोषित किए हैं वहां किसी भी तरह का विरोध न हो इसका भी ध्यान रखा गया है। खास कर फरीदाबाद और गुरुग्राम सीट पर भीतरी घात का भय कांग्रेस हाईकमान को है।