रोहतक : बसपा-एलएसपी प्रत्याशी किशनलाल पांचाल नामांकन के लिए पूरे लाव लश्कर के साथ शीतला माता मंदिर से चले, लेकिन उन्हें बिना नामाकंन किए ही वापिस लौटना पड़ा, बताया जा रहा है कि नामांकन के दौरान पहले तो प्रत्याशी नामाकंन की फाइल लाना ही भूल गए और बाद में आनन फानन में फाइल मंगवाई तो उसमें भी कुछ कागजात पूरे नहीं मिले, जिससे बसपा-एलएसपी प्रत्याशी को मायूस होकर लौटना पड़ा। जोकि शहर में चर्चा का विषय बना हुआ है।

शनिवार सुबह बसपा-एलएसपी प्रत्याशी कार्यकर्ताओं के साथ शीतला माता मंदिर में एकत्रित हुए और हवन यज्ञ किया। हवन यज्ञ कार्यक्रम में एलएसपी सुप्रीमो राजकुमार सैनी, बसपा के हरियाणा प्रभारी डॉ. मेघराज भी मौजूद रहे। इसके बाद शहर के चौक चौराहो से होते हुए किशनलाल का जुलुस करीब दो बजे लघु सचिवालय पहुंचा। निर्वाचन अधिकारी कार्यालय में जब अधिकारियों ने प्रत्याशी से नामाकंन फार्म मांगा तो एक दूसरे की तरफ देखने लगे।

आनन फानन में तुंरत नामांकन की फाइल मंगवाई गई, लेकिन उसमें कागजात आधे अधूरे मिले, जिस पर प्रत्याशी ने इस बारे में अधिकारियों को बताया और वापिस लौट आए। ढोल नगाड़े व जुलुस के साथ नामाकंन करने पहुंचे बसपा-एलएसपी प्रत्याशी को बिना नामाकंन किए ही वापिस लौटना पड़ा।

(मनमोहन कथूरिया)