BREAKING NEWS

असमः गणतंत्र दिवस पर उल्फा(आई) का बंद नहीं, सीएम सरमा ने किया स्वागत◾पश्चिम बंगाल : सांसद अर्जुन सिंह पर फेंके गए पत्थर, BJP-TMC समर्थकों में जमकर हुई हाथापाई ◾अखिलेश के राज में बिजली ही नहीं आती थी, आज वो फ्री बिजली देने की बात कर रहे हैंः सीएम योगी ◾नेताजी जयंती : PM मोदी ने किया सुभाष चंद्र बोस की होलोग्राम प्रतिमा का अनावरण, सम्मान में कही ये बात ◾दिल्ली : बीते 24 घंटों में आए कोरोना के 9 हजार से अधिक मामलें, इतने मरीजों की हुई मौत ◾पीएम की सुरक्षा चूक को लेकर दिल्ली हाई कोर्ट में जनहित याचिका दायर ◾ 10 मार्च को अखिलेश यादव कहेंगे- ईवीएम बेवफा है: अनुराग ठाकुर◾SC एवं ST की बदौलत हम न सिर्फ चुनाव जीतेंगे बल्कि यूपी में सरकार भी बनायेंगेः चंद्रशेखर ◾ उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू हुए दूसरी बार कोरोना संक्रमित, खुद को किया आइसोलेट◾UP: एक और विधायक ने छोड़ा BJP का साथ, बताई यह वजह..., जानें अब तक किन नेताओं ने दिया इस्तीफा ◾नकवी ने मोदी और योगी को बताया 'एम-वाई' फैक्टर, कहा- 3B 'बलवाई, बाहुबली, बेईमानी’ का 'ब्रदरहुड' बेचैन ◾ भाजपा के सहयोगी अपना दल सोनेलाल ने किया मुस्लिम उम्मीदवार का एलान,आजम खान के बेटे के खिलाफ ठोकेंगे ताल◾दिल्ली : गणतंत्र दिवस से पहले दिल्ली में तैनात हुए 27 हजार से अधिक जवान, कमिश्नर ने दी जानकारी ◾हिंदुओं को जलसे की इजाजत दी तो..विवादित बोल पर बवाल, सिद्धू के सलाहकार मुस्तफा ने धर्म विशेष के खिलाफ उगला जहर ◾बेरोजगारी पर राहुल ने किया केंद्र का घेराव, कहा- सरकार कर रही पूंजीपतियों का विकास, सिर्फ ‘हमारे दो’... ◾PLC ने 22 उम्मीदवारों की पहली सूची की जारी, इस शहर से चुनाव लड़ेंगे कैप्टन अमरिंदर सिंह◾अपर्णा यादव ने बांधे BJP की तारीफों के पुल, कहा- राष्ट्र को बचाने के लिए पार्टी की सत्ता में वापसी बहुत जरूरी ◾BJP में शामिल हुई अदिति सिंह ने प्रियंका को दी चुनाव लड़ने की चुनौती, कहा- रायबरेली अब कांग्रेस का गढ़ नहीं ◾SP ने जारी की पहली स्टार प्रचारकों की लिस्ट, मुलायम और अखिलेश समेत मौर्य का भी नाम, जानें पूरी सूची ◾अरविंद केजरीवाल का केंद्र पर बड़ा आरोप, बोले- सत्येंद्र जैन को गिरफ्तार कर सकती है ED◾

बिजली कर्मचारियों ने किया प्रदर्शन

सोहना: सोहना में आज बिजली कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर सड़क पर उतर आए और सब डिवीजन कार्यालय पर लगातार एक घंटे तक विरोध प्रदर्शन किया और कहा कि यदि उनकी मांगे जल्द पूरी ना की गई तो वह सरकार से आरपार की लड़ाई लडऩे की रणनीति बनाएंगे। उपस्थित कर्मचारियों के बीच बोलते हुए विजयपाल, उमेश खटाना, जितेन्द्र फौगाट, रामलाल शर्मा, बलराज सिंगला, राजन वर्मा, सुशील कुमार आदि कर्मचारी नेताओं ने अपने संबोधन में आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल सरकार कच्चे कर्मचारियों के साथ भेदभाव कर रही है। समान कार्य के लिए समान वेतन और कच्चे कर्मचारियों को पक्के कर्मचारियों के समान वेतन भत्ते नही दे रहे है। इतना समय बीतने के बावजूद उन्हे वह सुविधाएं नही मिल रही है, जो मिलनी चाहिए।

कर्मचारी कच्चे पर काम करने को मजबूर है। कर्मचारी नेताओं ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने अपने 26 अक्टूबर, 2016 को दिए गए फैसले में सरकार को समान काम के लिए समान वेतन व्यवस्था लागू करने के निर्देश दिए है लेकिन बिजली निगमों में कार्यरत कच्चे व पार्ट टाईम कर्मचारियों पर अभी तक अदालत का दिया गया फैसला लागू ना करके सर्वोच्च न्यायालय के आदेशों की धज्जियां उड़ाई जा रही है। जिससे बिजली निगमों में कार्यरत कच्चे और पार्ट टाईम कर्मचारियों में भारी रोष देखने को मिल रहा है, जो कभी भी ज्वालामुखी की तरह फटकर सामने आ सकता है।

उन्होने कहा कि आर्टिकल ऑफ एसोसिएशन में ऐसा कोई बदलाव ना किया जाए, जिसमें बिजली निगमों की बीओडी की स्वायत्ता कमजोर हो। इसके लिए जरूरी है कि एचबीपीई में भेजे बगैर निगमों की बीओडी खुद ही कर्मचारियों को 7वें वेतन आयोग को तुरंत प्रभाव से लागू कर लाभान्वित करे तथा बिजली निगमों में कार्यरत आउटसोर्सिंग व पार्ट टाईम कर्मचारियों को नियमित कर सर्वोच्च न्यायालय के दिए गए आदेशों के आधार पर समान काम के लिए समान वेतन लागू किया जाए। नो डिमांड पर बंद की गई थर्मल इकाईयों को दोबारा से चलाया जाए तथा निजी क्षेत्रों से बिजली खरीदने की बजाय अपने प्लांटों को चलाकर बिजली उत्पादन और आपूर्ति को बढ़ावा दिया जाए।

- उमेश गुप्ता