BREAKING NEWS

6 जून से शुरू हो सकता है नयी लोकसभा का पहला सत्र◾लड़ाई कितनी भी लंबी हो, कभी पीछे नहीं हटूंगी : सोनिया गांधी◾BJP के पास अगले साल तक राज्यसभा में हो जाएगा बहुमत , जानिए ! Modi का ये फॉर्मूला ◾MP की घटना में शामिल लोग BJP और Modi के हैं मतदाता : ओवैसी◾ADR रिपोर्ट : नयी लोकसभा में 475 सांसद करोड़पति, ये सांसद है सबसे आमिर◾सीबीआई ने कोलकाता के पूर्व पुलिस प्रमुख पूछताछ के लिए तलब किया ◾दाभोलकर हत्याकांड में गिरफ्तार 2 लोगों को एक जून तक CBI हिरासत में भेजा गया ◾PM मोदी ने माँ हीराबेन से लिया आशीर्वाद◾जेटली का स्वास्थ्य बिगड़ने संबंधी खबरें झूठी, निराधार : सरकार ◾आतंकवादी भारत के खिलाफ कोई कदम नहीं उठाएं, इसलिए किया गया था बालाकोट हमला : जनरल रावत ◾अमेठी में सुरेन्द्र सिंह की हत्या पर स्मृति ईरानी बोली - दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलवायी जाएगी◾राफेल सौदे में FIR या CBI जांच का कोई सवाल ही नहीं है : केंद्र ◾नरेन्द्र मोदी 30 मई को लेंगे प्रधानमंत्री पद एवं गोपनीयता की शपथ ◾इमरान खान ने की प्रधानमंत्री मोदी से बात, मिलकर काम करने की इच्छा जताई ◾मोदी सरकार से जनता की अपेक्षायें बढ़ी : बाबा रामदेव◾TOP 20 News 26 MAY : आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾अमेठी पहुंची स्मृति ईरानी, करीबी पूर्व ग्राम प्रधान सुरेंद्र सिंह की अर्थी को दिया कंधा◾राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ में पार्टी के सफाए से राहुल गांधी ज्यादा नाराज !◾अमेठी : सुरेंद्र सिंह के भाई ने बताया- राजनीतिक रंजिश में हुई हत्या◾शारदा घोटाला : सीबीआई ने जारी किया राजीव कुमार के खिलाफ लुकआउट नोटिस ◾

हरियाणा

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सुल्तान सिंह को पद्मश्री अवार्ड से नवाजा

नीलोखेड़ी : नीलोखेड़ी के बुटाना गांव के किसान सुल्तान सिंह को राष्ट्रपति भवन में पदमश्री अवार्ड से नवाजे गए। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उन्हें अवार्ड तथा प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। 0 मछलीपालन के क्षेंत्र में देश-विदेश में बेहतरीन कार्य करने के लिए सुल्तान सिंह को यह अवार्ड देने का निर्णय लिया गया है। सुल्तान सिंह की उपलब्धि से बुटाना गांव के साथ-साथ करनाल जिला और पूरे हरियाणा में खुशी का माहौल है।

सुल्तान सिंह ने हरियाणा के किसानों का सिर गर्व से उंचा किया है। वह मछलीपालन के व्यवसाय में लगभग 35 सालों से काम कर रहे हैं। उन्होंने हजारों लोगों को मछली पालन का प्रशिक्षण भी दिया है। वैज्ञानिकों ने भी उनके फार्म का दौरा कर सुलतान सिंह की कार्यशैली की सराहना की। सुल्तान सिंह का जन्म बुटाना गांव में वर्ष 1963 में हुआ था।

उनके परिवार के लोग शुरू से ही परंपरागत खेती करते हैं, लेकिन सुल्तान ने बीए की पढ़ाई के दौरान ही मछली पालन की ओर काम करना शुरू कर दिया। इसके बाद वह केवीएफ के संपर्क में आए, जहां डा. मारकंडे ने उन्हें मछी बीज उत्पादन का प्रशिक्षण दिया। सुल्तान सिंह ने उत्तर भारत की पहली मछली बीज हैचरी का निर्माण किया तथा बीज बेचने का काम शुरू कर दिया।

इसके अलावा उन्होंने राजस्थान तथा महाराष्ट्र में भी डैम को पट्टे पर लेकर काम शुरू किया हुआ है। इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मंत्रीमंडल के कई सदस्य और गणमान्य लोग मौजूद थे।

- विजय गुलाटी