BREAKING NEWS

अयोध्या फैसले पर बोले यशवंत सिन्हा, कहा- इस फैसले में कुछ खामियां हैं, लेकिन हमें आगे बढ़ने की जरूरत◾UEA के नागरिकों को अब भारत आने पर सीधे मिलेगा वीजा◾महाराष्ट्र सरकार गठन : सोमवार को पवार सोनिया गांधी से करेंगे मुलाकात ◾विपक्ष ने संसद में अपनी संख्या बढ़ाई ◾बाल ठाकरे की पुण्यतिथि पर तेज हुई राजनीति◾PM मोदी ने राजपक्षे को भारत आने का दिया निमंत्रण◾प्रदूषण के मुद्दे पर केंद्र सोमवार को उत्तरी राज्यों के अधिकारियों के साथ करेगा उच्च स्तरीय बैठक ◾कर्नाटक उपचुनावों में उम्मीदवारों को भविष्य के मंत्री के तौर पर पेश कर रही है भाजपा ◾किसानो पर पुलिस बर्बरता शर्मनाक : प्रियंका◾नागरिकता विधेयक से लेकर आर्थिक सुस्ती पर विपक्ष के विरोध से शीतकालीन सत्र के गर्माने की संभावना ◾TOP 20 NEWS 17 November : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾मंत्री स्वाती सिंह के कथित आडियो पर प्रियंका गांधी ने सरकार को घेरा ◾अयोध्या मामले पर पुनर्विचार याचिका दाखिल करेगा मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड◾उपभोक्ता खर्च के आंकड़े छिपाने के आरोपों में चिदंबरम का केंद्र सरकार पर निशाना◾प्रियंका गांधी ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को वास्तविक मुद्दों पर फोकस करने का दिया निर्देश ◾सर्वदलीय बैठक में बोले PM मोदी- सभी मुद्दों पर चर्चा के लिए हैं तैयार ◾गोताबेया राजपक्षे ने जीता श्रीलंका के राष्ट्रपति का चुनाव, PM मोदी ने दी बधाई◾उन्नाव में किसानों का प्रदर्शन, UPSIDC के अधिकारियों और वाहनों पर किया हमला ◾संसद के शीतकालीन सत्र से पहले प्रहलाद जोशी ने बुलाई सर्वदलीय बैठक, कई नेता हुए शामिल◾राउत और उद्धव ने बाला साहेब को दी श्रद्धांजलि, फडणवीस ने ट्वीट कर लिखा-स्वाभिमान की मिली सीख◾

हरियाणा

प्रिंस हत्याकांड में गुरुग्राम पुलिस के तीन अधिकारियों पर गिरी सीबीआई की गाज

गुरुग्राम : मासूम छात्र प्रिंस हत्याकांड के मामले में सीबीआई ने गुरुग्राम पुलिस पर गेरी गाज। तीन पुलिस अधिकारियों को नोटिस देकर सीबीआई कार्यालय में किया तलब। मासूम छात्र हत्याकांड में कंडक्टर अशोक को झूठा फंसाने में इन तीन पुलिस अधिकारियों की रही अहम भूमिका। एक पुलिस आयुक्त कार्यालय में तैनात है जबकि दो भोंडसी थाना में तैनात हैं। सीबीआई के नोटिस से पुलिस विभाग में हड़कंप मचा हुआ है।

नोटिस मिलते ही पुलिस विभाग में मची खलबली : सीबीआई इस बात का खुलासा करने की तैयारी में है कि मासूम प्रिंस हत्याकांड में कंडक्टर अशोक को गिरफ़्तार करने में किसने दिए थे आदेश। इसके पीछे कौन-कौन शामिल हैं। इन तीन पुलिस अधिकारियों को जल्द ही गिरफ्तार कर इस बात का खुलासा करने की तैयारी में है कि हत्या के आरोप में झूठा गिरफ्तार करने में किस पुलिस अधिकारी की भूमिका रही है। पूरे गुरुग्राम पुलिस विभाग में खलबली मची हुई है।

सीबीआई जांच में झूठी साबित हुई एसआईटी : बताते चलें कि आठ सितंबर 2017 को साइबर सिटी एक नामी स्कूल में दूसरी कक्षा के छात्र प्रिंस की बेरहमी से गला रेत कर हत्या कर दी गई थी। केेंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने गुरुग्राम के देशभर में चर्चित हुए इस हत्याकांड में बारीकी से जांच करके कम समय में ही पुलिस की एसआईटी जांच का पासा पलटकर रख दिया।

सीबीआई ने साउथ डीसीपी को भेजा पत्र पुलिस ने आनन-फानन में एक कंडक्टर अशोक को हत्या का आरोपी बनाकर अपनी पीठ थपथपाई, वहीं सीबीआई ने इस हत्याकांड में स्कूल के ही एक छात्र भोलू को हत्या के आरोप में गिरफ्तार करके कंडक्टर को इस मामले में क्लीनचिट दे दी। साथ ही गुरुग्राम पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठा दिए। अब सीबीआई ने गुरुग्राम पुलिस उपायुक्त साउथ को पत्र भेजकर तीन पुलिस अधिकारियों को जांच में शामिल होने को कहा है।

इन पुलिस अधिकारियों को किया तलब भोंडसी थाना के एसआई शमशेर सिंह, भोंडसी थाना के ईएएसआई सुभाष और पुलिस आयुक्त कार्यालय में तैनात वैज्ञानिक सहायक ज्योति सिंह को तलब किया गया। इन अधिकारियों को आज सीबीआई ने दिल्ली जांच में शामिल होने के लिए बुलाया गया है। माना जा रहा है कि सीबीआई इन तीनों अधिकारियों से लंबी पूछताछ कर सकती है।

प्रदेश के कैबिनेट मंत्री पर भी लगे थे आरोप : साइबर सिटी के नामी स्कूल में हुए हत्याकांड के बाद काफी बवाल काटा गया था। यह मामला इतना चर्चित हुआ कि इसमें काफी हिंसा हुई थी और पत्रकारेां को पुलिस की लाठियां खानी पड़ी थी।

अधिक जानकारियों के लिए यहाँ क्लिक करें।

- सतबीर भारद्वाज