BREAKING NEWS

UP चुनाव: SP-RLD के समर्थन में बयान देकर फंसे नरेश टिकैत, यूटर्न लेते हुए कहा- हम ज्यादा बोल पड़े... ◾अखिलेश से लोगों को उम्मीदें, जिंदा लोग BJP को नहीं देंगे वोट : संजय राउत ◾भाजपा ने किया दावा- यूपी में 10 फरवरी से ही शुरू हो जाएगा जीत का सफर, अंतिम चरण तक रहेगा कायम◾UP चुनाव : पीएम मोदी कल अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भाजपा के कार्यकर्ताओं से वर्चुअली करेंगे बातचीत ◾गोवा में कांग्रेस और BJP के बीच मुकाबला, AAP-TMC कर रही गैर-भाजपा मतों को 'विभाजित' करने का काम ◾रावत के निष्कासन पर बोले CM धामी-वंशवाद से दूर और विकास के साथ चलने वाली पार्टी है BJP◾कांग्रेस में शामिल हुए बिना भी कांग्रेस के लिए करूंगा काम : हरक सिंह रावत◾Corona Cases in India : पिछले 24 घंटे में संक्रमण के 2 लाख 58 हजार से अधिक केस दर्ज◾पंजाब में चुनाव टालने की मांग पर आज विचार करेगा निर्वाचन आयोग◾UP विधानसभा चुनाव : निषाद पार्टी ने UP की 15 सीटों पर ठोंका दावा, BJP ने अभी नहीं की पुष्टि ◾PM मोदी आज करेंगे दावोस शिखर सम्मेलन को संबोधित, कोविड समेत कई वैश्विक मुद्दों पर कर सकते हैं बात◾राजधानी दिल्ली समेत कई राज्यों में शीतलहर का कहर जारी, जानें कब तक रहेगा ऐसा मौसम◾Covid-19 : विश्वभर में संक्रमण के आंकड़े 32.57 करोड़ से अधिक, अमेरिका सबसे ज्यादा प्रभावित देश◾किसी व्यक्ति की सहमति के बिना जबरन टीकाकरण नहीं कराया जा सकता : SC को केंद्र ने बताया ◾दिग्गज कथक नर्तक पंडित बिरजू महाराज का हुआ इंतकाल, 83 साल की उम्र में ली अंतिम सांस◾SP-RLD को नहीं दिया समर्थन, लोगों को समझने में हुई गलती: राकेश टिकैत◾हरक सिंह रावत को उत्तराखंड मंत्रिमंडल और पार्टी से किया बर्खास्त, कांग्रेस में हो सकते हैं शामिल ◾भाजपा की वरिष्ठ नेता उमा भारती ने पुरी शंकराचार्य से की मुलाकात ◾ नेपाल सरकार का दावा- लिंपियाधुरा, लिपुलेख और कालापानी उसके अभिन्न अंग, निर्माण रोके भारत◾दिल्ली में कोविड-19 के 18,286 मामले आए सामने , 28 रोगियों की मौत ◾

वायु प्रदूषण दे रहा सांस की बीमारियों को बढ़ावा

फरीदाबाद: औद्योगिक नगरी में दूषित आबो-हवा ही बढ़ते रोगों का प्रमुख कारण है। दूषित पेयजल सप्लाई और शहर में बढ़ रहा वायु प्रदुषण ही जलजनित व सांस की बीमारियों को बढ़ावा देने में अहम भुमिका निभा रहे है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक नगर निगम के द्वारा दुषित पानी की सप्लाई की जा रही है। जिसका खामियाजा आम जनता भुगत रही है। आज इस दुषित पेयजल के कारण से रोजाना इन जलजनित बीमारियों की चपेट में आने वाले मरीजों की सं या दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है।

सबसे ज्यादा ये जलजनित बीमारियां अपनी चपेट में बच्चों को अधिक ले रही है। इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि यह दुषित पेयजल कितना खतरनाक है। शहर की बढ़ रही आबादी इस पानी को प्रयोग कर बीमारियों का शिकार हो रही है, पर इन सबके बावजूद न तो स्वास्थ्य विभाग न ही नगर निगम इस ओर ध्यान है। वही दुसरी तरफ औद्योगिक नगरी में प्रदूषण का स्तर भी तेजी से बढ़ रहा है। डॉक्टरों के मुताबिक इन सभी बीमारियों से मात्र जागरूकता ही एक मात्र उपाय है।

इस बारें में जब बीके अस्पताल के फिजिशियन डॉ. योगेश गुप्ता से बात की गई तो उन्होंने बताया कि बढ़ते प्रदुषण के कारण से शहर में सांस के मरीजों की सं या बढ़ रही है। धुएं में रेस्पेक्ट्री इं लूएंजा वायरस पाया जाता है जो कि सांस के रोगियों के लिए काफी खतरनाक होता है। उन्होंने कहा कि वातावरण में प्रदूषण की मात्रा बढ़ जाने के कारण हवा भारी हो जाती है। जिस कारण धुआं, धूल, आदि सब हवा में घुल जाते हैं और सांस के जरिए लोगों केशरीर में प्रवेश कर जाते हैं। जिस कारण इसका लोगों के शरीर पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

(राकेश देव)