BREAKING NEWS

UP चुनाव : BJP ने खेला धार्मिक कार्ड, केशव मौर्य का नारा 'अयोध्या-काशी.... जारी, अब मथुरा की तैयारी' ◾अखिलेश का BJP पर कटाक्ष, बोले- जिनके पास परिवार नहीं है, वे जनता का दर्द नहीं समझ सकते ◾दिल्ली में 8 रुपए सस्ता हुआ पेट्रोल, केजरीवाल सरकार ने VAT में कटौती का किया ऐलान◾SKM का दावा '700 से ज्यादा किसानों ने गंवाई जान', तोमर बोले- सरकार के पास मौतों का कोई रिकॉर्ड नहीं...◾4 दिसंबर को होगी SKM की अहम बैठक, रणनीति को लेकर होगी बड़ी घोषणा, टिकैत बोले- आंदोलन रहेगा जारी ◾मप्र में शिवराज सरकार के लिए मुसीबत का सबब बने भाजपा के नेताओं के विवादित बयान ◾निलंबन के खिलाफ महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने विपक्ष का प्रदर्शन, राहुल समेत कई नेता हुए शामिल ◾EWS वर्ग की आय सीमा मापदंड पर केंद्र करेगी पुनर्विचार, SC की फटकार के बाद किया समिति का गठन ◾Today's Corona Update : एक दिन में 8 हजार से ज्यादा नए मामले, 1 लाख से कम हुए एक्टिव केस◾जम्मू-कश्मीर : पुलवामा मुठभेड़ में जैश-ए-मोहम्मद के शीर्ष कमांडर समेत 2 आतंकी ढेर◾Winter Session: लोकसभा में आज 'ओमिक्रॉन' पर हो सकती है चर्चा, सदन में कई बिल पेश होने की संभावना ◾महंगाई : महीने की शुरुआत में कॉमर्श‍ियल सिलेंडर की कीमतों में हुआ इजाफा, रेस्टोरेंट का खाना हो सकता है मंहगा◾UPTET 2021 पेपर लीक मामले में परीक्षा नियामक प्राधिकारी संजय उपाध्याय गिरफ्तार◾कोरोना के नए वेरिएंट के बीच भारतीय एयरलाइन कंपनियों ने दोगुनी की कीमतें, जानिए कितना देना होगा किराया ◾IPL नीलामी से पहले कोहली, रोहित, धोनी रिटेन ; दिल्ली की कमान संभालेंगे ऋषभ पंत, पढ़ें रिटेंशन की पूरी लिस्ट ◾गृह मंत्री अमित शाह दो दिन के राजस्थान दौरे पर जाएंगे, BSF जवानों की करेंगे हौसला अफजाई◾पंजाबः AAP नेता चड्ढा ने सभी राजनीतिक दलों पर लगाया आरोप, कहा- विधानसभा चुनाव में केजरीवाल बनाम सभी पार्टी होगा◾'ओमिक्रॉन' के बढ़ते खतरे के बीच क्या भारत में लगेगी बूस्टर डोज! सरकार ने दिया ये जवाब ◾2021 में पेट्रोल-डीजल से मिलने वाला उत्पाद शुल्क कलेक्शन हुआ दोगुना, सरकार ने राज्यसभा में दी जानकारी ◾केंद्र सरकार ने MSP समेत दूसरे मुद्दों पर बातचीत के लिए SKM से मांगे प्रतिनिधियों के 5 नाम◾

प्रदेश में बसों की भारी कमी से जनता परेशान : सुरजेवाला

चंडीगढ़ : भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के मीडिया प्रभारी रणदीप सिंह सुरजेवाला ने खट्टर सरकार को घमंडी व बेफ्रिकी सरकार करार देते हुए कहा मौजूदा भाजपा सरकार ने प्रदेश में परिवहन व्यवस्था का भट्टा बैठाकर बंटाधार कर दिया है। प्रदेश में बसों की भारी कमी और परिवहन की लचर व्यवस्था से आम जनता परेशान है, लेकिन प्रदेश की घमंडी सरकार बेपरवाह और बेफिक्र है। रिकॉर्ड की बात है की पिछले पूरे पांच साल में भाजपा सरकार ने केवल मात्र 450 बसें ही खरीदी हैं, जो भाजपा सरकार की परिवहन व्यवथाओं को सुचारू रखने में नाकामी और प्रदेश के परिवहन विभाग को निजीकरण करने की भाजपाई सोच को दर्शाता है। 

इसके दूसरी ओर कांग्रेस सरकार के कार्यकाल के दौरान केवल 2010 से 2014 के बीच केवल चार साल में ही 2,399 नई बसें खरीदी गई थी। वर्ष 2010 में कांग्रेस सरकार ने 1,149, 2012 में 275 व 2013 में 975 बसें खरीदी गई। इनमें 50 वोल्वो व मर्सडीज बसें भी शामिल थी। लेकिन मौजूद सरकार के कार्यकाल में वोल्वो व मर्सडीज बसें तो खरीदी ही नहीं गई।कांग्रेस सरकार के दौरान हरियाणा के परिवहन बेड़े में लगभग 4,500 बसें थीं, जो घटकर अब 3,300 बसें से भी कहीं कम रह गयी हैं, इनमें एक हजार बसें अपनी उम्र पूरी करके कंडम हो चुकी हैं, जिन्हें भाजपा सरकार द्वारा बदला नहीं गया है। 

हैरानी और दु:ख की बात है कि पुरानी बसों को कंडम घोषित करने की बजाए सरकार उनको सडक़ों पर चलाकर प्रदेश की जनता की जान जोखिम में डाले हुए है। बढ़ती आबादी की लिहाज से प्रदेश को आज कम से कम दस हजार बसों की जरूरत है, लेकिन सरकार ने इस जरूरी पहलु की और कोई ध्यान नहीं दिया है। हरियाणा सरकार रोडवेज विभाग की किलोमीटर स्कीम में सैंकड़ों करोड़ का घोटाला पहले ही पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय के समक्ष विचाराधीन है। मुख्यमंत्री स्वयं भी विधानसभा के पटल पर किलोमीटर योजना के तहत टेंडर प्रक्रिया में गड़बड़ी की बात स्वीकार कर चुके हैं, ऐसे में प्रदेश सरकार द्वारा सरकारी बसें न खरीदने से सरकार पर लग रहे आरोपों की पुष्टि होती है। 

खट्टर सरकार प्रदेश के लोगों को कारगर परिवहन व्यवस्था देने में पूरी तरह विफल रही है, जिससे आज पूरे प्रदेश में बसों की कमी के कारण हर रोज़ लाखों लोगों को परेशानियों से दो चार होना पड़ रहा है, यह परेशानी कैथल में तो और भी ज्यादा महसूस की जा रही है। यहाँ तक की महिलाओं और स्कूल- कॉलेज की छात्राओं को बसों में लटककर सफर आम रोजमर्रा की बात हो गयी है। शिक्षण संस्थाओं, कॉलेजों व विश्वविद्यालयों के विद्यार्थियों को बसों की छतों पर चढक़र पढ़ाई के लिए जाना पूरी शासन व्यवस्था के लिए शर्म की बात है। हमारा प्रदेश की जनता से वायदा है की कांग्रेस की सरकार बनने पर बिगड़ी परिवहन प्रणाली को सुधारेंगे और समुचित मात्रा में बसों की व्यवस्था करके इसे वापिस पटरी पर लाएंगे।