रोहतक: केन्द्रीय ईस्पात मंत्री चौधरी बिरेन्द्र सिंह ने भाजपा सांसद राजकुमार सैनी पर निशाना साधा और कहा कि वह राजनीतिक सोच के आदमी नहीं है, इसलिए उनके किसी भी सवाल का जवाब देना उचित नहीं है। अगर किसी का बड़ा दिल न हो तो उसे भाषा का चयन सहीं करना चाहिए। केन्द्रीय मंत्री ने एसवाईएल पर भी प्रतिक्रिया दी और कहा कि हर हाल में प्रदेश को पानी मिलेगा और अब पंजाब के पास कोई चारा नहीं बचा है। पंजाब को नहर बनाकर देनी पड़ेगी। बुधवार को केन्द्रीय मंत्री रोहतक पहुंचे और कार्यक्रम में शिरक्त की। भाजपा कार्यकत्र्ताओं द्वारा बिरेन्द्र सिंह का जोरदार स्वागत किया। बाद में पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान प्रदेश में जो माहौल बना था अब वह बदल चुका है और लोगों के बीच आपसी भाईचारा और विश्वास बढ़ा है। बिरेन्द्र सिंह ने कहा कि इसे कायम रखना हम सबकी जिम्मेदारी है। खासतौर पर राजनीतिक लोगों को सकारात्मक सोच बनानी होगी।

केन्द्रीय मंत्री ने प्रदेश में जाट आरक्षण  आन्दोलन के शांतिपूर्ण निपटान के लिए केंद्र सरकार द्वारा पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा प्रदान कर दूरगामी सोच का परिचय दिया है। उन्होंने कहा कि आयोग को संवैधानिक दर्जा देने के लिए संसद में लाया गया बिल लोकसभा में पारित हो चुका है और उसे राज्यसभा की सलैक्ट कमेटी में भेजा गया है जो राज्यसभा के अगले सत्र में प्रस्तुत होगा। उन्होंने आशा व्यक्त की कि राज्यसभा भी इसे पारित करेगी। इस प्रक्रिया के उपरांत अगले दिन से छह महिने में पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा प्राप्त हो जायेगा, जिसकी सिफारिश से आरक्षण का रास्ता प्रशस्त होगा। उन्होंने कहा कि सरकार व धरना देने वाले लोगों में जो समझोता हुआ है उस पर दोनों पक्ष कायम रहेंगे और ये समझोता पार लगेगा। उन्होंने कहा कि समझोते से दोनों पक्षों में विश्वास कायम हुआ है और विश्वास से ही सब कुछ संभव होता है। भाजपा सांसद राजकुमार सैनी को लेकर उन्होंने कहा कि जिसका दिल बड़ा होता है, वहीं राजनेता बनता है। अगर दिल बड़ा न हो तो सामाजिक होना चाहिए और भाषा का चयन भी सहीं होना चाहिए, तो बात ढकी की ढकी रह जाती है।

उन्होंने कहा कि सैनी के किसी भी सवाल का जबाव देना वे उचित नहीं समझते है, क्योंकि वे राजनीतिक सोच के आदमी नहीं है। देशभर में नोटबंदी के दौर को लेकर केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि यह मोदी का सराहनीय व सफल कदम था। नोटबंदी से बैकों में 15 लाख करोड रूपए जमा हुए है। यह सारा पैसा मार्केट में आएगा और सीधे सीधे इसका लाभ ग्रामीण अर्थव्यवस्था व उद्योगों को होगा। उन्होंने कहा कि ब्याज की दर जो आज 12 प्रतिशत तक है, आने वाले समय में ब्याज दर बहुत कम हो जाएगी। इस बदलाव के चलते हम विश्व में दूसरे देशों की बराबरी कर पाएंगे और उस समय लोग कहेंगे यह सबसे बड़ा बदलाव था। केन्द्रीय मंत्री ने एसवाइएल पर भी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि एसवाइएल का आधा पानी तो पहले ही हरियाणा में आ रहा है और आधा भी जल्द आ जाएगा। उन्होंने कहा कि पंजाब के पास कोई चारा नहीं बचा है और उसे नहर बनाकर देनी होगी। सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में साफ आदेश जारी किए है। प्रदेश को उसके हिस्से का पानी हर हाल में मिलेगा।

(मनमोहन कथूरिया)