BREAKING NEWS

देश के कई हिस्सों में सर्दी का सितम जारी, मैदानी इलाकों को अभी नहीं मिलेगी शीतलहर से राहत◾UP चुनाव को लेकर PM मोदी वाराणसी के भाजपा कार्यकर्ताओं से आज करेंगे वर्चुअल संवाद, देंगे यह मंत्र◾पंजाब विधानसभा चुनाव में CAPF की 1,050 कंपनी तैनात करने की मांग ◾पंजाब विधान सभा चुनाव - गठबंधन तय लेकिन सीटों को लेकर अभी तक नहीं हो पाया है अंतिम फैसला ◾कांग्रेस ने अरबपतियों की संपत्ति बढ़ने संबंधी रिपोर्ट को लेकर सरकार पर निशाना साधा ◾राज्यों की झांकी न शामिल करने के लिए केंद्र की आलोचना करना गलत परम्परा : सरकारी सूत्र ◾ केजरीवाल आज करेंगे पंजाब में ‘आप’ के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार की घोषणा◾गणतंत्र दिवस झांकी विवाद : ममता के बाद स्टालिन ने PM मोदी का लिखा पत्र ◾भारत वर्तमान ही नहीं बल्कि अगले 25 वर्षों के लक्ष्य को लेकर नीतियां बना रहा है : PM मोदी ◾उद्योग जगत ने WEF में PM मोदी के संबोधन का किया स्वागत ◾ कोरोना से निपटने के योगी सरकार के तरीके को लोग याद रखेंगे और भाजपा के खिलाफ वोट डालेंगे : ओवैसी◾गाजीपुर मंडी में मिले IED प्लांट करने की जिम्मेदारी आतंकी संगठन MGH ने ली◾दिल्ली में कोविड-19 के मामले कम हुए, वीकेंड कर्फ्यू काम कर रहा है: सत्येंद्र जैन◾कोविड-19 से उबरने का एकमात्र रास्ता संयुक्त प्रयास, एक दूसरे को पछाड़ने से प्रयासों में होगी देरी : चीनी राष्ट्रपति ◾ ओवैसी की पार्टी AIMIM ने जारी की उम्मीदवारों की दूसरी सूची, 8 सीटों पर किया ऐलान◾दिल्ली में कोरोना का ग्राफ तेजी से नीचे आया, 24 घंटे में 12527 नए केस के साथ 24 मौतें हुई◾अखिलेश के ‘अन्न संकल्प’ पर स्वतंत्र देव का पलटवार, ‘गन’ से डराने वाले किसान हितैषी बनने का कर रहे ढोंग ◾12-14 आयु वर्ग के बच्चों के लिए फरवरी अंत तक हो सकती है टीकाकरण की शुरुआत :NTAGI प्रमुख ◾ अबू धाबी में एयरपोर्ट के पास ड्रोन से अटैक, यमन के हूती विद्रोहियों ने UAE में हमले की ली जिम्मेदारी ◾कोरोना संकट के बीच देश की पहली एमआरएनए आधारित वैक्सीन, खास तौर पर Omicron के लिए कारगर◾

पुलवामा में रेवाड़ी का बेटा शहीद

रेवाड़ी : श्रीनगर के पुलवामा पिगलीना नामक स्थान पर सेना द्वारा चलाए गए कोरडन आपरेशन के दौरान आतंकवादियों से लोहा लेते हुए रेवाड़ी जिले के गांव राजगढ़ निवासी सिपाही हरी सिंह शहीद हो गया। 55-राष्ट्रीय राइफल का जवान हरी सिंह इन दिनों श्रीनगर में तैनात था। इस ऑपरेशन में 55-आरआर बटालिया के एक अधिकारी व हरी सिंह समेत चार जवान वीर गति को प्राप्त हुए। जवान के शहीद होने की सूचना जैसे ही गांव पहुंची तो परिवार के साथ-साथ पूरे गांव में शौक की लहर दौड़ गई।

हरी सिंह तीन बहनों का इकलौता भाई था तथा दो वर्ष पूर्व ही उसकी शादी हुई थी। शहीद हरी सिंह के पिता भी आर्मी में ही थे। शहीद का शव मंगलवार को गांव पहुंचेगा। जवान हरी सिंह के शहीद होने की सूचना उनके परिवारजनों को मिली तो पूरे परिवार में कोहराम मच गया। पत्नी राधाबाई तो अपनी सुधबुध ही खो बैठी। उसके एक वर्षीय बेटे लक्ष्य को किसी प्रकार अन्य परिजन संभाल रहे थे। माता पिस्ता देवी का रो-रोकर बुरा हाल हो गया।

गांव के जवान के शहीद होने की सूचना जैसे ही लोगों को लगी तो घर पर पहुंचने वालों का तांता लग गया। काफी संख्या में लोग शहीद के परिजनों को सांत्वना देने में लगे रहे। परिवारिक सदस्यों के साथ-साथ गांव के गणमान्य लोग शहीद के पार्थिक शरीर के गांव में पहुंचने का इंतजार करने लगे। सैन्य अधिकारियों के अनुसार पहले सायं पांच बजे तक शव के गांव में पहुंचने की बात कही जा रही थी, लेकिन मौसम खराब होने व तकनीकी कारणों के चलते अब मंगलवार सुबह शहीद का शव गांव पहुंचेगा।

जवान के शहीद होने की सूचना जिला प्रशासन को मिलते ही प्रशासनिक अधिकारी भी गांव पहुंचे। नगराधीश कुशल कटारिया की देखरेख में प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों ने शहीद के परिजनों के साथ मुलाकात की। साथ ही शहीद के अंतिम संस्कार संबंधी कार्यों को अमलीजामा पहनाने का कार्यवाही आरंभ की। शहीद के चचेरे भाई विजय के अनुसार वैसे तो परिवार पर बड़ी विपदा आन पड़ी है, लेकिन परिवार को इस बात का गर्व भी है कि उनका बेटा भारत माता की सेवा करते हुए अपने प्राणों को न्यौछावर कर शहीद हो गया।

उन्होंने कहा लगातार हो रहे आतंकी हमले चिंता का विषय है, सरकार को इस पर कड़े कदम उठाने चाहिए। शहीद के सहपाठी दीपक व हरी ने नम आंखों से बताया कि हरीसिंह बचपन से ही हंसमुख व जुुुझारु था। सेना में भर्ती होने के लिए वह घंटों पसीना बहाता था। भर्ती के दौरान जब उसका मेडिकल आया तो उसके सिर से पिता का साया उठ गया, लेकिन उसने हार नहीं मानी व अपनी मंजिल को हासिल किया। उन्होंने बताया कि जब वह छुट्टी आता तो अधिकांश समय अपने दोस्तों के साथ ही बिताता था।

वह गांव के अन्य युवाओं को भी सेना में भर्ती होने के लिए प्रेरित करता था। जानकारी के अनुसार शहीद हरी सिंह का जन्म 15 अगस्त 1993 को हुआ था तथा वर्ष 2011 में 55- राष्ट्रीय राईफल में भर्ती हुए थे। शहीद हरी सिंह के पिता अगडी सिंह भी आर्मी में थे। शहीद हरी सिंह के परिवार में माता पिस्ता देवी, पत्नी राधा बाई व एक वर्षीय लडका लक्ष्य है। शहीद हरी सिंह की तीन बहने है, जिनका वह एकलौता भाई था।

उल्लेखनीय है कि कमाडिंग ऑफिसर कर्नल आरबी अलावेकर ने दिसंबर 2018 में डबल एक्स के सभी रैंको की तरफ से शहीद हरी सिंह को 13 नवंबर 2018 को लांच किये गये ऑपरेशन में आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के दो आंतकवादियों को गिरफ्तार कराने पर बधाई दी थी। उन्होंने पत्र में कहा था कि हरी सिंह की यह उपलब्धि असाधारण साहस और पेशेवर कौशल को प्रदर्शित करती है।

- शशि सैनी