कोसली : कोसली में रेलवे अंडर ब्रिज बनने की बाट जोह रहे क्षेत्रवासियों के लिए राहत भरी खबर है। रेलवे स्टेशन, कोसली फाटक नंबर 19 पर बनने वाले आरयूबी के निर्माण का रास्ता अब साफ हो गया है, जिसका निर्माण कार्य शीघ्र ही शुरू हो जायेगा। रेलवे और लोकनिर्माण विभाग की ओर से सभी औपचारिकताएं पूरी कर रेलवे विभाग के उच्चाधिकारियों को भी भेजी जा चुकी हैं। कोसली और आसपास के लोगों के लिए यह होली के त्योहार पर किसी तोहफा से कम नहीं है।

उल्लेखनीय है कि कोसली-नाहड़ स्थित फाटक पर ओवरब्रिज का निर्माण होने के कारण फाटक संख्या 19 को बंद कर दिया गया था, जिसके चलते क्षेत्रवासियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा था, हालांकि ओवरब्रिज का निर्माण हो चुका है, मगर ग्रामीणों की मांग थी कि बंद फाटक के स्थान पर अंडर ब्रिज का भी निर्माण कराया जाए ताकि फाटक के दोनों ओर ग्रामीणों के साथ-साथ वाहनों का भी आवागमन हो सके। हालांकि कि स्थानीय विधायक बिक्रम सिंह यादव की मांग पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने यहां आरयूबी बनाने को मंजूरी भी प्रदान कर दी थी।

यहां तक कि हरियाणा सरकार ने बाकायदा 20-10-16 को इसके निर्माण के लिए 5,20,14,860 रुपये का बजट अलोट कर 2016-17 में ही 5,98,718 रुपये रेलवे विभाग को जमा भी करा दिये थे। लेकिन इस बीच जब आरयूबी बनने की बात आई तो कुछ लोगों ने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर स्थगनादेश ले लिया था, जिसके परिणाम स्वरूप ये परियोजना अधर मे लटक गई थी। लेकिन भाकली-2 की ग्राम पंचायत एवं अन्य ग्रामीण जो लगातार यहां आरयूबी बनाने की मांग कर रहे थे, ने केस की पैरवी कर 10 अगस्त को स्टे हटाने में कामयाबी हासिल करने के साथ ही उपायुक्त रेवाड़ी को निर्देश दिए गए कि वे इस परियोजना से प्रभावित गांवों और आम जनता में मुनादी करावकर सभी का पक्षों की सहमति से आगामी कार्यवाही अमल में लाएं।

हाईकोर्ट के आदेशानुसार आरयूबी से लांभावित और प्रभावित लोगों का पक्ष सुन व जानने के लिए 25 सिंतबर 2018 को प्रभावित लोगों को नोटिस जारी कर हाईकोर्ट के आदेश अनुसार रेलवे विभाग और लोक निर्माण विभाग के कार्यकारी अभियंता ने 29 सितंबर 2018 को कोसली पहुंचकर सभी प्रभावित लोगों से सहमति लेकर रिपोर्ट तैयार कर रेलवे विभाग को आरयूबी निर्माण हेतु आगामी कार्यवाही के लिए 11- 1-2019 को ही रेलवे महाप्रबंधक जयपुर को भेज दी थी, लेकिन तब से लेकर अब तक कोसली में आरयूबी निर्माण का मामला ठंडे बस्ते में चल रहा था।

क्षेत्र के लोगों ने इस संबंध में भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता एवं रेलवे की पीएसी सदस्य वीर कुमार यादव से संपर्क किया तथा मामले में रेल विभाग से बात करने की गुहार की जिसके बाद वीर कुमार मामले को लेकर 6 मार्च को रेल भवन, नई दिल्ली मे रेलवे बोर्ड के चैयरमैन वीके यादव से मिले और सारी परिस्थितियों से अवगत कराया। इसके बाद उन्होंने 8 मार्च को जयपुर मे रेल महाप्रबंधक से मुलाकात कर मामले की ठोस पैरवी करते हुए योजना को सिरे चढ़ाया। इस अवसर पर वरिष्ठ भाजपा नेता वीर कुमार यादव ने रेलवे महाप्रबंधक की संबंधित अधिकारियों से बातचीत भी कराई, जिस पर उन्होंने शीघ्र ही आरयूबी का निर्माण कार्य प्रारम्भ करने का आश्वासन दिया।

 – सुनील गर्ग