BREAKING NEWS

BJP संसदीय दल की बैठक में PM मोदी ने नागरिकता संशोधन विधेयक को बताया ऐतिहासिक◾नागरिकता संसोधन बिल राज्यसभा में पेश होने से पहले बोले राहुल- यह उत्तर पूर्व पर एक आपराधिक हमला◾हैदराबाद एनकाउंटर मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज, CP वीसी सज्जनार भी रहेंगे मौजूद◾निर्भया कांड: अजीबोगरीब दलीलों के साथ दोषी अक्षय ने सुप्रीम कोर्ट में दायर की पुनर्विचार याचिका◾राज्यसभा में आज पेश होगा नागरिकता संशोधन बिल, कांग्रेस देशभर में करेगी प्रदर्शन◾झारखंड: तबरेज अंसारी की हत्या मामले में 6 आरोपियों को हाईकोर्ट से मिली जमानत◾राज्यसभा में CAB पारित कराने के लिए रणनीति बनाने में जुटी भाजपा◾झारखंड विधानसभा चुनाव : तीसरे चरण में भाजपा, झाविमो और आजसू की प्रतिष्ठा दांव पर ◾सोनिया ने पार्टी सांसदों को दिया रात्रिभोज◾UP : चौथी बार बुंदेलियों ने मोदी को लिखी खून से चिट्ठी ◾पूर्वोत्तर में नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ व्यापक प्रदर्शन, सामान्य जनजीवन ठप पड़ा◾लोकसभा चुनाव में भाजपा की जीत पर मोदी के Tweet को इस साल मिले सबसे अधिक LIKE◾नागरिकता संशोधन विधेयक देश के मुसलमानों के खिलाफ नहीं : BJP◾कांग्रेस ने एक व्यक्ति के निजी हित के लिए द्विराष्ट्र के सिद्धान्त को किया स्वीकार : गोयल◾शिवसेना सरकार ने पहले से चल रही परियोजनाओं को रोकने के अलावा कुछ नहीं किया : फडणवीस◾एकनाथ खडसे ने CM उद्धव ठाकरे से की मुलाकात, कहा- भाजपा से कोई दिक्कत नहीं ◾19 साल में मारे गए 22 हजार आतंकी, 370 हटने के बाद भी जारी है घुसपैठ◾शाह की हरी झंडी के बाद होगा कर्नाटक कैबिनेट का विस्तार : मुख्यमंत्री ◾हैदराबाद एनकाउंटर : पुलिस ने दुष्कर्म आरोपियों के एनकाउंटर की रिपोर्ट एनएचआरसी को सौंपी◾TOP 20 NEWS 10 December : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾

हरियाणा

शैलजा नहीं लड़ेंगी विधानसभा का चुनाव

 selja

नई दिल्ली : हरियाणा कांग्रेस की अध्यक्ष कुमारी शैलजा को पार्टी हाईकमान विधानसभा चुनाव नहीं लड़ाएगा।  इसकी घोषणा स्वयं चंडीगढ़ में पार्टी प्रभारी गुलाम नबी आजाद ने कर दी है। कांग्रेस के इस फैसले को राजनीतिक पंडित एक अच्छा फैसला मान रहे हैं। उनका कहना है कि लाेकसभा चुनाव में पार्टी ने अपने सभी दिग्गज नेताओं को मैदान में उतार दिया था, जिससे कि सभी नेता अपने-अपने लोकसभा क्षेत्रों में डटे रहे और वह दूसरी जगह प्रचार को नहीं पहुंच पाए। 

इसका बड़ा उदाहरण यह है कि भूपेन्द्र सिंह हुड्डा सोनीपत में अपनी सीट पर जीत हासिल करने के लिए जोर लगाते रहे। उनके पुत्र दीपेन्द्र हुड्डा बहुत कम वोटों से रोहतक में चुनाव हार गए। राजनीतिक पंडित मानते हैं कि अगर हुड्डा चुनाव नहीं लड़ रहे होते तो वह कम से कम रोहतक सीट को कांग्रेस की झौली में डाल सकते थे। कुछ ​दिन का प्रचार ही वहां कांग्रेस के काम आ जाता। 

कांग्रेस हाईकमान द्वारा हार के कारणों की समीक्षा में यह बात खुलकर सामने आई ​िक सभी दिग्गज नेताओं को चुनाव नहीं लड़ाना चाहिए था। इसलिए पार्टी ने लोकसभा से सबक लेते हुए अपनी रणनीति में परिवर्तन किया है। शैलजा को पूरे प्रदेश में पार्टी उम्मीदवारों के प्रचार के लिए खाली रखा जाएगा। उनके साथ हुड्डा और अन्य बड़े नेता प्रचार को साथ चलेंगे।