BREAKING NEWS

कोविड-19 : संक्रमण मामलों में एक दिन में दर्ज की गई सर्वाधिक बढ़ोतरी, संक्रमितों की संख्या 1,834 और मृतकों की संख्या 41 हुई◾ट्रंप ने दी ईरान को चेतावनी, कहा- अमेरिकी सैनिकों पर हमला किया तो चुकानी पड़ेगी भारी कीमत ◾NIA करेगी काबुल गुरुद्वारे हमले की जांच, एजेंसी ने किया पहली बार विदेश में मामला दर्ज ◾आवश्यक सामानों की आपूर्ति में लगे वायुसेना के विमान के इंजन में लगी आग, पायलटों ने सुरक्षित उतारा◾राष्ट्रपति, उप-राष्ट्रपति सहित कई नेताओं ने दी देशवासियों को रामनवमी की बधाई◾Covid 19 के खिलाफ लड़ाई को कमजोर करने वालों पर भाजपा अध्यक्ष ने साधा निशाना◾खुफिया रिपोर्ट : मरकज से गायब 7 देशों की 5 महिलाओं सहित 160 विदेशी राजधानी दिल्ली में मिले◾तब्लीगी जमात से लौटे लोगों की सूचना न देने वालों पर मुकदमा दर्ज हो - CM योगी◾PM मोदी ने कोविड-19 से बचने के लिए आयुष मंत्रालय के नुस्खों को किया साझा, बोले- मैं सिर्फ गर्म पानी पीता हूं ◾दिल्ली में बीते 24 घंटे में कोरोना वायरस के 32 नये मामले आने से संक्रमितों की संख्या 152 पहुँची◾स्पेन : कोविड-19 से पिछले 24 घंटों में हुई 864 लोगों की मौत, मरने वाले लोगों की संख्या 9,000 के पार पहुंची ◾भारत-चीन मिलकर करेंगे वैश्विक चुनौतियों का सामना ◾कोविड-19 : रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कोरोना से निपटने के लिए रक्षा मंत्रालय के उपायों की समीक्षा की◾मेरठ में कोरोना से संक्रमित 70 वर्षीय बुजुर्ग की मौत, अब तक 2 लोगों की गई जान◾पिछले 24 घंटे में कोरोना के 386 नये मामले आये सामने, निजामुद्दीन मरकज है प्रमुख वजह : स्वास्थ्य मंत्रालय◾Coronavirus : केजरीवाल सरकार का बड़ा ऐलान- कोरोना का इलाज करते किसी स्वास्थ्यकर्मी की जान गई तो देंगे 1 करोड़ रुपये◾आंध्र प्रदेश में कोरोना के 43 नये मामलें आये सामने, संक्रमितों की संख्या बढ़कर 87 हुई◾निजामुद्दीन : मरकज से निकाले गए कुल 2361 लोग, पिछले 36 घंटे चला ऑपरेशन ◾दिल्ली में एक और डॉक्टर में कोरोना वायरस की पुष्टि, 120 हुई मरीजों की संख्या◾अमेरिका में कोरोना वायरस से मृतकों की संख्या 4000 के पार, 3 दिन में दुगना हुआ आंकड़ा◾

आज नार्दन जोनल काउंसिल की बैठक में शाह

चंडीगढ़ : नॉर्दन जोनल काउंसिल की 29वीं मीटिंग शुक्रवार को चंडीगढ़ में होने जा रही है। गृह मंत्री अमित शाह यह मीटिंग लेने चंडीगढ़ आ रहे हैं। इंडस्ट्रियल एरिया फेज-वन स्थित होटल हयात में होने वाली इस मीटिंग को इस बार हरियाणा होस्ट कर रहा है। केंद्रीय गृह मंत्री काउंसिल के चेयरमैन हैं तो होस्ट स्टेट यानी हरियाणा के मुख्यमंत्री वाइस चेयरमैन हैं। जोन में शामिल सभी राज्यों के राज्यपाल दो मंत्रियों को सदस्य मनोनीत कर भेजेंगे, जबकि यूटी से प्रशासक प्रतिनिधित्व करेंगे। 

हरियाणा ही सभी तरह की तैयारियां और व्यवस्था करने में जुटा है। पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, दिल्ली, राजस्थान, जम्मू, कश्मीर, लद्दाख और चंडीगढ़ इस जोन में आते हैं। अब लद्दाख के केंद्रशासित प्रदेश बनने से उसे भी काउंसिल में शामिल कर लिया गया है। हर साल काउंसिल की मीटिंग होनी होती है। 

2018 में बैठक नहीं हो सकी थी 28वीं मीटिंग भी मई 2017 को चंडीगढ़ में ही हुई थी जिसकी अध्यक्षता तत्कालीन गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने की थी। गृह मंत्री बनने के बाद अमित शाह का यह पहला चंडीगढ़ दौरा था। इससे पहले वह लोकसभा चुनाव के दौरान सांसद किरण खेर के लिए प्रचार करने सेक्टर-27 के रामलीला मैदान आए थे।

एयरपोर्ट, रिंग रोड और ग्रांट जैसे मुद्दों पर होगी चर्चा

इस मीटिंग में राज्यों के आपसी मुद्दों पर चर्चा होगी। चंडीगढ़ इंटरनेशनल एयरपोर्ट का नाम तय करने, ट्राइसिटी में रिंग रोड डेवलप करने पर भी चर्चा होगी। पंजाब और हरियाणा रिंग रोड पर अपनी रिपोर्ट पेश करेंगे। इससे ट्राइसिटी में ट्रैफिक की समस्या हल होगी। पंजाब यूनिवर्सिटी को मिलने वाली ग्रांट को लेकर भी बैठक में चर्चा होगी।

एसवाईएल को लेकर भी मंथन

पंजाब और हरियाणा का पानी विवाद एसवाइएल से हरियाणा को पानी मिलने का एजेंडा भी इसमें शामिल है। साथ ही पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश के सीमा विवाद पर भी चर्चा होती। राज्यों के सीमा संबंधी विवाद, सुरक्षा, इंफ्रास्ट्रक्चर जैसे रोड, ट्रांसपोर्ट, इंडस्ट्रीज, वॉटर एंड पावर जैसे मुद्दों पर चर्चा होगी। इसके अलावा फॉरेस्ट, इन्वायरमेंट, हाउसिंग, एजुकेशन, फूड सिक्योरिटी, टूरिज्म और ट्रांसपोर्ट जैसे मामले भी काउंसिल में उठाए जा सकते हैं।

अर्बन ट्रांसपोर्ट पॉलिसी पर विचार

ट्राइसिटी में ट्रैफिक अर्बन ट्रांसपोर्ट पॉलिसी बनाने और उसकी प्लानिंग कर 100 करोड़ रुपये खर्च किए जाने का प्रस्ताव तैयार होना है। ट्रैफिक कंजेशन कम करने के साथ ही वाहनों के संचालन को बेहतर बनाने के लिए साल 2016 में केंद्र सरकार के साथ तीनों प्रदेशों का एक एग्रीमेंट हुआ था। इसके तहत अर्बन ट्रांसपोर्ट पॉलिसी पर चंडीगढ़, पंजाब, हरियाणा और केंद्र सरकार को मिलकर 25-25 करोड़ खर्च करने हैं।