BREAKING NEWS

लॉकडाउन 5.0 पर गृह मंत्री अमित शाह ने सभी मुख्यमंत्रियों से की बात, मांगे सुझाव ◾दिल्ली में कोरोना ने तोड़ा रिकॉर्ड, 24 घंटे में 1024 नए मामले, संक्रमितों संख्या 16 हजार के पार◾सीताराम येचुरी ने मोदी सरकार पर साधा, कहा- रेलगाड़ियों का रास्ता भटकना सरकार के अच्छे दिन का ‘जादू’ ◾ट्रंप की पेशकश पर भारत ने कहा- मध्यस्थता की जरूरत नहीं, सीमा विवाद के समाधान के लिए चीन से चल रही है बातचीत◾अलग जगहों पर रखे जाएं विदेशी जमाती, दिल्ली HC ने कहा- खुद उठाएंगे अपना खर्चा◾कोविड-19 की वैक्सीन बनाने में जुटे देश के 30 ग्रुप : पीएसए राघवन◾मोदी सरकार के खिलाफ कांग्रेस ने ऑनलाइन आंदोलन किया, केंद्र से गरीबों की मदद की मांग की◾SC का केंद्र और राज्य सरकारों को निर्देश, तत्काल श्रमिकों के भोजन और ठहरने की करें नि:शुल्क व्यवस्था◾महाराष्ट्र में कोरोना की चपेट में 2000 से अधिक पुलिसकर्मी, महामारी से अब तक 22 की मौत◾कोरोना संकट से जूझ रही महाराष्ट्र की सरकार को गिराने की कोशिश कर रही है BJP : प्रियंका गांधी ◾पुलवामा जैसे हमले को अंजाम देने की फिराक में आतंकी, IG ने बताया किस तरह नाकाम हुई साजिश◾दिल्ली-गाजियाबाद बार्डर पर फिर लगी वाहनों की लाइनें, भीड़ में 'पास-धारक' भी बहा रहे पसीना ◾राहुल गांधी की मांग- देश को कर्ज नहीं बल्कि वित्तीय मदद की जरूरत, गरीबों के खाते में पैसे डाले सरकार◾RBI बॉन्ड को वापस लेना नागरिकों के लिए झटका, जनता केंद्र से तत्काल बहाल करने की करें मांग : चिदंबरम◾‘स्पीकअप इंडिया’ अभियान में बोलीं सोनिया- संकट के इस समय में केंद्र को गरीबों के दर्द का अहसास नहीं◾पुलवामा में हमले की बड़ी साजिश को सुरक्षाबलों ने किया नाकाम, विस्फोटक से लदी गाड़ी लेकर जा रहे थे आतंकी◾दुनिया में कोरोना से संक्रमितों का आंकड़ा 57 लाख के करीब, अब तक 3 लाख 55 हजार से अधिक की मौत ◾मौसम खराब होने की वजह से Nasa और SpaceX का ऐतिहासिक एस्ट्रोनॉट लॉन्च टला◾कोविड-19 : देश में महामारी से अब तक 4500 से अधिक लोगों की मौत, संक्रमितों की संख्या 1 लाख 58 हजार के पार ◾मुंबई के फॉर्च्यून होटल में लगी आग, 25 डॉक्टरों को बचाया गया ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

भाजपा आलाकमान तक पहुंचा विज और मनोहर विवाद

चंडीगढ़ : हरियाणा में गृह मंत्री अनिल विज ओर मुख्यमंत्री मनोहर लाल के बीच सीआईडी को अधीन रखने के मुद्दे पर मची घमासान के साथ ही सारा मामला भाजपा आला कमान के पास पहुंच गया है। आला कमान के दखल के चलते अब सीआइडी को पुलिस विभाग की महज एक शाखा से विभाग में बदलने की प्रक्रिया आगे बढ़ने के आसार नहीं है।  हाल में नौकरशाही के स्तर पर वेबसाइटों पर ऐसा प्रदर्शन किया गया था कि सीआइडी मुख्यमंत्री के अधीन एक विभाग  है। 

इस दावे पर गृहमंत्री अनिल विज ने कहा था कि पुलिस संगठन के तहत गुप्तचर शाखा है। यह गृह विभाग का अभिन्न अंग है। इसे अलग विभाग के रूप में कानून संशोधन के जरिए ही लाया जा सकता है।  मुख्यमंत्री इस दावे पर कहते रहे है कि यह तकनीकी मसला है ओर इसे सुलझा लिया जाएगा। मुख्यमंत्री के इस बयान के साथ ही ऐसे संकेत मिले थे कि सीआइडी को अलग विभाग बनाने की कवायद मुख्यमंत्री सचिवालय में शुरू कर दी गई है। 

इन खबरों के बीच विज की ओर से भी संकेत दिए गए की सीआइडी के बिना गृहविभाग बिना आंख ओर कान के होगा। ऐसे में वे गृहविभाग छोड़ने का फैसला कर सकते है। विज ने इसके साथ ही सारे मामले को पार्टी आला कमान के सामने रखा है। समझा जा रहा है कि आला कमान के दखल से सीआइडी को गृहविभाग से अलग करने की प्रक्रिया थमने वाली है। 

वैसे भी सीआइडी को अलग विभाग बनाने की प्रक्रिया गेर जरूरी मानी जा रही है। सीआइडी की रिपोर्ट गृहमंत्री के साथ मुख्यमंत्री व मुख्यसचिव को पेश की जाती है। हाल में गृहमंत्री के पिछले विधानसभा से पहले की राजनीतिक दलों की स्थिति पर रिपोर्ट मांगने ओर कुछ लोगो के फोन टेपिंग मामले में दखल करने पर सीआइडी को मुख्यमंत्री के अधीन बताने की कवायद शुरू की गई थी।