कनीना : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल के विशेष प्रयासों के बाद हरियाणा प्रदेश से निकलने वाले तीन ग्रीन फील्ड एक्सप्रेस-वे, जिनमें से एक कोटपूतली-अंबाला जो महेन्द्रगढ जिला के विभिन्न गांवों के निकट से गुजरेगा इस क्षेत्र की तकदीर बदल देगा। ग्रीन फील्ड एक्सप्रेस-वे के निर्माण उपरांत न केवल चंडीगढ़ की दूरी बिल्कुल कम हो जाएगी, बल्कि इस एक्सप्रेस-वे के साथ लगी जमीन पर विभिन्न औद्योगिक इकाईयां व विभिन्न संस्थान भी स्थापित होंगे।

प्रदेश से गुजरने वाले ये तीनों इको फैंडली एक्सप्रेस-वे समूचे हरियाणा को देश में नंबर वन बना देंगे। उक्त विचार हरियाणा के लोक निर्माण एवं वन मंत्री राव नरबीर सिंह ने कनीना उपमंडल के ग्राम सीहोर में लगभग दस करोड़ रुपए की लागत से बनने वाली आधा दर्जन सडकों की आधारशिला रखते हुये व्यक्त किए।

इस अवसर पर आयोजित एक सभा में उन्होंने कहा कि अब नौकरियों में किसी प्रकार का कोई भेदभाव नहीं बरता जाता बल्कि पूर्ण रूप से योग्यता और पारदर्शिता के आधार पर नौकरियां दी जा रही है। उन्होंने कहा कि यदि विगत सरकारों की भांति उन्हें भी नौकरियों में कोटा दिया जाता तो महज 50-60 युवकों को ही नौकरियां मिल सकती थी, किंतु इस बार सीएम मनोहर लाल खट्टर की देखरेख में बरती गई पारदर्शिता रंग लाई गई है और उन सभी योग्य युवकों जो गरीब या जिनकी पहुंच एवं सोर्स नहीं थे उन्हें नौकरी का मौका मिला है।

उन्होंने कहा कि मनोहर लाल खट्टर सरकार हर क्षेत्र में समान विकास कार्य करवाती है। इस मौके पर डिप्टी स्पीकर संतोष यादव ने कहा भाजपा सरकार ने अहीरवारल क्षेत्र में इतने विकास कार्य करवाये है कि इस समूचे क्षेत्र का कायाकल्प हो गया है। उन्होंने बताया कि अटेली विधानसभ क्षेत्र में दो महिला कालेज जिनमें से एक अटेली और दूसरा कनीना में बनाए गए हैं, वही 3 आईटीआई स्थापित करवाए गए हैं।

– दीपचंद यादव