जींद : जींद क्षेत्र में अपनी बहन व अन्य तीन साथियों के साथ मिलकर चोरी की वारदातों को अंजाम देने के आरोप में खाकी ने पांच लोगों को दबोचने का काम किया है। रात्रि गश्त के दौरान सीआइए जींद की टीम ने बरसाना गांव के पास सफारी गाड़ी में मौजूद महिला सहित पांच आरोपियों पवन उर्फ पौनी गांव अशरफगढ़ निवासी, पवन की बहन सुनीता जींद निवासी, अमित उर्फ मित्ता निजामपुर जिला सोनीपत निवासी, बंटी व ऋषि विजय नगर जींद निवासी को गिरफतार करने में बड़ी कामयाबी हािसल की हैं।

मंगलवार को पुलिस सभी आरोपियों को अदालत में पेश कर किया जहां से पवन व बंटी को एक दिन के रिमांड पर लिया गया। इस बात का खुलासा डीएसपी सुनील कुमार व सीआइए रविंद्र कुमार ने संयुक्त रूप से सफीदों थाना में प्रेसवार्ता के दौरान किया। डीएसपी ने बताया कि सीआइए टीम में तैनात सब इंस्पेक्टर रविंद्र कुमार व साइबर इंचार्ज एएसआई नवदीप सिंह बरसाना गांव की तरफ रात्रि गश्त कर रहे तो लिंक रोड़ पर एक सफारी गाड़ी डीएल-३सीडब्ल्यू-५०६७ खड़ी थी । जब टीम ने पास जा कर देखा तो उसमें एक महिला सहित चार युवक सवार थे।

हरियाणा में बनाई जाएगी एंटी टेरेरिस्ट फोर्स : मनोहर लाल

जब उनसे उनकी पहचान पूछी तो उन्होंने अपनी पहचान पवन उर्फ पौनी गांव अशरफगढ़ निवासी, पवन की बहन सुनीता जींद निवासी, अमित उर्फ मित्ता निजामपुर जिला सोनीपत निवासी, बंटी व ऋषि विजय नगर जींद निवासी के रूप में बताई। पुलिस ने जब गहनता से पूछताछ की तो उन्होंने स्वीकार किया कि वह किसी बड़ी चोरी की वारदात को अंजाम देने की फिराक में घूम रहे थे । इससे पहले भी उन्होंने जींद क्षेत्र में लगभग 35 चोरी की घटनाओं को अंजाम दिया हैं। उन्होंने बताया कि यह गिरोह लग्जरी गाड़ी में चोरी की वारदात को अंजाम देता था। डीएसपीआगामी जांच के जांच के लिए महिला सहित सभी आरोपियों को अदालत में पेश किया जहां से पवन व बंटी को एक दिन के रिमांड पर लिया गया।

– संजय शर्मा