गुरुग्राम : गुरुग्राम में 12 नवंबर को हरियाणा सीएसआर (कार्पोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी) समिट- 2018 का आयोजन किया जायेगा जिसका उद्घाटन हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल करेंगे। यह राष्ट्रीय स्तरीय समिट गुरुग्राम के सैक्टर-29 स्थित पावर ग्रिड ऑडिटोरियम में आयोजित की जाएगी। इस बारे में जानकारी देते हुए गुरुग्राम के उपायुक्त विनय प्रताप सिंह ने बताया कि हरियाणा विषेशकर गुरुग्राम में बहुत सारी कम्पनिया है जिनके लिए सीएसआर के तहत धनराशि खर्च करनी आवश्यक है परन्तु उन्हें यह नहीं पता होता कि वे किस प्रकार अपने सीएसआर फंड्स का सदुपयोग कर सकते है ।

उनकी इसी दुविधा को दूर करने और सीएसआर फंड्स के सही इस्तेमाल में मदद करने के लिए इस समिट का आयोजन किया जा रहा है। मुख्यमंत्री इस मौके पर सीएसआर में अब तक बेहतरीन कार्य करने वाले कॉर्पोरेट्स, जिलों, ऑफिसर्स आदि को भी सम्मानित करेंगे। यही नहीं, इस मौके पर सी एस आर एडवाइजरी बोर्ड की वेबसाइट भी लॉंच की जाएगी और एम ओ यु भी साइन किये जायेंगे। उन्होंने बताया कि इस वैबसाईट पर सरकारी विभाग के मुख्यालयों व जिलों की आईडी बना ली गई है। इस वैबसाईट के माध्यम से कंपनियो को अपने स्तर पर सीएसआर प्रौजेक्ट अर्थात् ‘शैल्फ ऑफ प्रौजेक्ट’ भी डालने का विकल्प दिया गया था।

यदि कोई कंपनी सीएसआर के तहत जिला प्रशासन के साथ मिलकर काम करना चाहती है तो वह वैबसाईट के माध्यम से भी ऑनलाइन अप्लाई कर सकती थी । इस वैबसाईट के माध्यम से जहां एक ओर कंपनी सीएसआर के तहत गतिविधियां चलाने के बारे में आइडियाज अपलोड किये है , वही जिला और सरकारी विभाग भी अपनी रिक्वायरमेंट भी डाली है कि उन्हें किस परियोजना में सीएसआर फंड की आवश्यकता है। इस वैबसाईट पर सीएसआर में किए गए अच्छे कार्यों की सक्सेस स्टोरी भी अपलोड किए जाने का आप्शन दिया गया है। इसके अलावा, कंपनियां सीएसआर के तहत अपने प्रौजेक्ट की अप्रूवल के लिए भी वैबसाईट पर अप्लाई कर सकेंगी ।

सीएसआर फंड के सही उपयोग के लिए प्रदेश सरकार ने राज्य स्तर पर सीएसआर समिट के आयोजन करने का निर्णय लिया है ताकि प्रदेश में विकास कार्य तथा सरकारी योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन में सीएसआर फंड का इस्तेमाल किया जा सके। उन्होंने बताया कि समिट के दौरान इंडियन इंस्टिटूयट ऑफ कॉर्पोरेट अफेयरस मानेसर के साथ हरियाणा सरकार द्वारा सीएसआर प्रोजेक्ट मैनेजमेंट यूनिट स्थापित करने, सीएसआर पॉलिसी तैयार करने, कॉर्पोरेट जगत के साथ तालमेल स्थापित करने, परियोजना की निगरानी करने तथा परियोजना आधारित क्षमता निर्माण के लिए समझौता ज्ञापन(एमओयू) पर हस्ताक्षर किये जायेंगे।

हरियाणा सीएसआर समिट के लिए इंडियन इंस्टिटूयट ऑफ कॉर्पोरेट अफेयरस तथा केपीएमजी नालेज पार्टनर है । उपायुक्त विनय प्रताप सिंह ने बताया कि सीएसआर फंड के सही इस्तेमाल के लिए प्रौजेक्ट मैनेजमेंट यूनिट बनाई जाएगी, जो प्रदेश के विभिन्न जिलों में संचालित परियोजनाओं तथा सरकारी विभागों में योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन के लिए सीएसआर फंड के यूटिलाइजेशन का काम करेंगी।

स्वास्थ्य देखभाल की सुविधाएं घर-द्वार पर पशुधन के लिए उपलब्ध करवाई जाएंगी : मनोहर लाल