कांग्रेस ने महेंद्रगढ़ में 19 साल की एक युवती के साथ सामूहिक बलात्कार को लेकर रविवार को भाजपा सरकार पर हमला तेज कर दिया और कहा कि उसके शासन में हरियाणा ‘आपराधिक केंद्र’ बन गया है। वरिष्ठ कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला और पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने मांग की कि मुख्मयंत्री मनोहर लाल खट्टर नैतिक आधार पर इस्तीफा दें।

सुरजेवाला ने एक बयान में कहा, ‘‘असंवेदनशील और अहंकारी खट्टर सरकार हरियाणा की बेटियों के विरुद्ध अपराध पर नियंत्रण पाने में पूरी तरह विफल रही है और उन्हें एक दिन के लिए मुख्यमंत्री बने रहने का हक नहीं है।’’

हरियाणा सामूहिक बलात्कार : खट्टर ने DGP को किया तलब , SP को हटाया

रेवाड़ी की यह युवती जब कोचिंग क्लास जा रही थी, तब रास्ते में कथित रुप से अगवा कर उससे सामूहिक बलात्कार किया गया। इस मामले में एक सैन्यकर्मी समेत तीन मुख्य आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

हुड्डा रेवाड़ी में युवती के घर गये। उन्होंने वहां भेंट के बाद कहा, ‘‘राज्य में कानून व्यवस्था पूरी तरह चौपट हो गयी है। यह सरकार की पूर्ण विफलता है। मुख्यमंत्री को नैतिक आधार पर इस्तीफा दे देना चाहिए।’’

हुड्डा के अनुसार पीड़िता के परिवार ने उनसे कहा कि पुलिस ने त्वरित कार्रवाई नहीं की और मुख्य आरोपियों को भागने का मौका मिल गया।
भाजपा सरकार की आलोचना करते हुए सुरजेवाला ने कहा, ‘‘सच्चाई है कि बेटियों को बचाने का निश्चय करने वाली राज्य सरकार के शासन में राज्य में बलात्कार और सामूहिक बलात्कार की सबसे अधिक मामले सामने आए हैं।’’

इस बीच, पुलिस महानिदेशक बी एस संधू के साथ इस मामले की जांच की प्रगति की समीक्षा करने के बाद खट्टर ने चंडीगढ़ में कहा कि इस घटना में शामिल व्यक्तियों को कानून के अनुसार कड़ी सजा दी जाएगी। उन्हें उनके शीघ्र ही पकड़े जाने की उम्मीद है।