हिसार : मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि बाबा भीमराव अंबेडकर 20वीं सदी में हुए थे, जिन्होंने दलितों को ऊपर उठाने के लिए आरक्षण का प्रावधान किया था जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 21वीं सदी के अंबेडकर हैं, जिन्होंने आर्थिक रूप से कमजोर तबके को 10 प्रतिशत आरक्षण देकर हर वर्ग के गरीब व्यक्ति को उपर उठाने का कार्य किया है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर पुराना राजकीय महाविद्यालय मैदान में हरियाणा ओड समाज स्वाभिमान महासम्मेलन में बतौर मुख्य अतिथि विशाल जनसभा को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि कल मकर संक्रांति का दिन है तथा इस दिन सूर्य दक्षिणायन से उत्तरायण में आना शुरू हो जाता है। यह काल परिवर्तन का समय है। आज सिखों के 10वें गुुरुगुरु गोबिंद सिंह का जन्मदिन भी है। उन्होंने प्रदेशवासियों को इन दिवसों की बधाई दी। मुख्यमंत्री ने महासम्मेलन की शुरुआत बाबा भीम राव अंबेडकर, जसमा देवी व कायक योगी सीधारामेश्वर की प्रतिमा पर दीप प्रज्वलित करके की। मुख्यमंत्री ने कहा कि ओड समाज सेवा करने वाला समाज है जो निर्माण व मिट्टी से संबंधित कार्यों से जुड़ा है।

इस समाज के उत्थान के लिए सरकार ने भवन निर्माण के कार्य से जुड़े लोंगों के लिए एक बोर्ड बनाया है। जो मजदूर इस बोर्ड में अपना रजिस्ट्रेशन करवाता है उसे 60 वर्ष की आयु होने पर 2500 रुपये पेंशन दी जाएगी। इसके साथ-साथ भवन निर्माण से जुड़े कारीगरों के लिए और भी कई योजनाएं चलाई जा रही हैं। भारत सरकार ने आयुष्मान भारत नामक योजना चलाई है जिसमें हर व्यक्ति को सालाना पांच लाख रुपये तक का स्वास्थ्य बीमा दिया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने हिसार की ओड धर्मशाला को 21 लाख रुपये, फतेहाबाद में धर्मशाला निर्माण के लिए 11 लाख रुपये तथा भगीरथ जंयती मनाने के लिए 11 लाख रुपये का अनुदान देने की घोषणा की। उन्होंने सभी कार्य एससी कम्पोनेंटस से पूरे करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा प्रदेश में 11 जगहों पर छात्रावास बनवाए गए हैं इन छात्रावासों में 60 प्रतिशत कमरे अनुसूचित वर्ग के छात्रों के लिए आरक्षित रहेंगे।

– राज पराशर