अम्बाला : गांव नगावां के एक 25 वर्षीय युवक इमरान ने अपने घर के एक कमरे में अज्ञात कारणों से छत में फंदा डालकर फांसी लगा ली। जिससे उसकी मौके पर मृत्यु हो गई। लेकिन परिजनों ने मामले में हत्या का इल्जाम लगाया है। मामला पुलिस के लिए उलझन बन गया है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। बीती रात गांव नगावों के युवक इमरान ने अपने घर में फांसी लगा ली थी। मृतक इमरान की मां शीला ने थाना नारायणगढ पुलिस को ब्यान देकर बताया था कि उसके लडके जगजीत उर्फ इमरान की वर्ष 2010 में हुई थी।

शादी के बाद करीब 4 साल तक इमरान की पत्नी उनके घर पर ठीक ठाक रही लेकिन उसके बाद उसने एक व्यक्ति से नाजायज सम्बन्ध बना लिए थे। करीब दो साल से वह व्यक्ति उसके लडके इमरान के घऱ गलत नियत से आता जाता रहता था। जिसके बारे मे उनकी गांव मे आपसी तौर पर वा मौखिक तौर पर पंचायत भी हुई थी।

फैसला हुआ था कि वह व्यक्ति गांव मे इमरान के घर पर नही आएगा। इमरान की पत्नी ने भी अपनी सहमति जताई थी कि आज के बाद उस व्यक्ति के साथ किसी भी प्रकार का कोई सम्बन्ध नही रखेगी। लेकिन ना तो वह व्यक्ति और न ही ईमरान की पत्नी अपनी हरकतो से बाज आए। इमरान की पत्नी व वह व्यक्ति इमरान को अपने आपसी सम्बन्ध मे रोडा अटकाने पर जान से मारने की धमकी देते थे। जिससे उसका लडका इमरान मानसिक तौर पर काफी परेशान रहने लगा था।

रात करीब साढे 8 बजे वह अपने लडके इमरान से मिलने उसके घर गई और इमरान को आवाज लगाई तो घर के अन्दर से वह व्यक्ति निकल कर बाहर की तरफ भाग गया। इमरान की पत्नी रजाई औढ़ कर कमरे मे बैठी हुई थी। पिछले वाले कमरे मे उसने जब देखा तो उसका लडका इमरान घऱ मे गाडर से प्लास्टिक की रस्सी गले मे डाले हुए लटका हुआ था। उसके लड़के इमरान ने अपनी पत्नी व उसके प्रेमी के गलत सम्बन्धो से तंग आकर आत्महत्या की है।

शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया था लेकिन आज शाम मृतक के परिजनों ने गांव नंगावा में कहा कि इमरान की हत्या हुई है पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धारा 302 आईपीसी के तहत मुकदमा दर्ज नहीं किया है। वह मृतक के शव को अग्रसेन चौंक नारायणगढ पर रख कर जाम लगाएगें। इस पर थाना प्रबन्धक नारायणगढ मौका पर पहुंचें और परिजनों को आश्वासन दिया कि पुलिस उनके साथ हैं। उनके ब्यान अनुसार कार्यवाही की गई थी।

वह अपने ब्यान दोबारा लिखवा दें। आरोपियों के खिलाफ उचित कार्यवाही की जाएगी। इस आश्वासन पर परिजन संतुष्ट हो गए। थाना प्रबन्धक नारायणगढ ने मृतक की मां शीला के ब्यान लिख लिए हैं। पुलिस आगामी कार्यवाही कर रही है। इस बारे जब नारायणगढ़ थाना प्रभारी हरभजन सिंह से बात की गई तो उन्होने बताया कि पुलिस लड़के की मां की शिकायत के आधार पर आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया था लेकिन अब परिजनों का कहना है कि उनकी बहु ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर इमरान की हत्या की है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। तमाम जांच के बाद आगामी कार्यवाही की जाएगी।

(राजेन्द्र भारद्वाज)