तावडू : ईद पर गांव राहड़ी में दो गुटों में हुए खूनी संघर्ष में हुए डबल मर्डर केस में पुलिस ने 2 और आरोपियों को गत शनिवार को दबोचा है। रविवार को आरोपियों को नूंह कोर्ट में पेश कर 2 दिन के लिएरिमांड पर लिया गया। रिमांड के बाद आरोपियों को मंगलवार को दोबारा अदालत में पेश किया गया। जहां से आरोपियों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। उल्लेखनीय है कि गत जून माह में ईद पर्व पर गांव राहड़ी में दो गुटों में जमकर खूनी संघर्ष हुआ। इस खूनी संघर्ष में लगभग 20 लोग घायल हुए थे। उपचार के दौरान 2 युवकों ने दम भी तोड़ दिया था। पीडि़त पक्ष की शिकायत पर पुलिस ने आरोपित पक्ष के लगभग 2 दर्जन से अधिक लोगों पर मुकदमा दर्ज किया था। इनमें से 1 आरोपी को तो पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी थी। वहीं गत शनिवार को इस केस के 2 और आरोपियों तारिफ व मजलिस उर्फ मज्जर को गांव सीलखो के पास से गिरफ्तार किया। गत रविवार को आरोपियों को अदालत में पेश कर 2 दिन के रिमांड पर लिया गया। वहीं रिमांड की अवधि पूरी होने पर मंगलवार को दोबारा आरोपियों को अदालत में पेश किया गया। जहां से आरोपियों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

2 व्यक्तियों के खिलाफ गौवध अधिनियम के तहत मामला दर्ज: उपमंडल के गांव पचगांवा मोड से पुलिस ने सूचना पर हरियाणा से राजस्थान वध के लिए ले जाई जा रही एक टाटा गाड़ी को काबू किया और टाटा से 2 गायों को मुक्त कराया। जबकि टाटा चालक व परिचालक भागने में कामयाब रहे। पुलिस ने नामजद 2 व्यक्तियों के खिलाफ गौवध अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी। गांव पचगांवा मोड पर पुलिस अपराधों की रोकथाम के लिए मौजूद थी कि सूचना मिली कि नूंह के गांव सौंख निवासियान फौजी उर्फ लतीफ व अज्जी मिलकर गौकसी का धंधा करते हैं।

24 घंटे में सुलझी मर्डर मिस्ट्री

जो आज भी 1 टाटा गाडी में मालिक की शय पर गाडी में पचगांवा से गाय भर कर गौकसी के लिए राजस्थान के गांव सारेकलां लेकर जाएंगे। पुलिस ने सूचना पर नाकाबंदी की तो कुछ समय बाद 1 टाटा गाडी आती दिखाई दी और पुलिस टीम ने गाडी को रूकने का ईशारा किया। लेकिन टाटा चालक ने सामने पुलिस पार्टी को देखकर टाटा को एकदम रोक कर वापिस मोडना चाहा, रास्ता संकरा होने के कारण गाडी को वापिस नहीं मोड पाया और गौधन से भरी टाटा को छोड कर चालक व परिचालक भागने में कामयाब रहे। टाटा को चैक करने पर 2 गाय बंधी हुई मिली, जिन्हें हरियाणा से राजस्थान वध के लिए ले जाया जा रहा था, जिन्हें पुलिस ने मुुक्त करया। पुलिस ने उक्त दोनों व्यक्तियों के खिलाफ गौवध अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

– नरेश मैहंदीरत्ता