हरियाणा में पहली बार जींद विधानसभा सीट के लिये 28 जनवरी को होने वाले उप चुनाव में वीवीपीएटी मशीनों का इस्तेमाल किया जाएगा जिससे मतदाता को यह जानकारी मिल सकेगी कि उसके द्वारा दिया गया मत उसी उम्मीदवार को गया है या नहीं, जिसके लिए उसने ईवीएम का बटन दबाया है।

उपचुनाव के लिये नियुक्त सामान्य पर्यवेक्षक सौरभ भगत ने उपचुनाव की तैयारियों के लिए एक बैठक ली जिसमें अधिकारियों के अलावा विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि भी उपस्थित थे। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि यह उपचुनाव स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं पारदर्शी तरीके से सम्पन्न कराया जायेगा तथा इसके लिये सभी तैयारियां पूरी की जा रही हैं। चुनाव में आधुनिक तकनीक से युक्त वीवीपीएटी मशीनों का इस्तेमाल किया जायेगा। मतदाता मतदान करने के बाद सात सैकंड तक मशीन की स्क्रीन पर यह देख सकेगा कि उसका मत किस उम्मीदवार को गया है।

उन्होंने सभी राजनीतिक दलों तथा निर्दलीय उम्मीदवारों के प्रतिनिधियों से अपील की कि वे चुनाव में आदर्श चुनाव आचार संहिता की अक्षरश: पालना करें। उन्होंने कहा कि अगर कोई नियमों का उल्लंघन करेगा तो उसके खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि शहरी क्षेत्र के मतदान केंद्रों पर वैब कासि्टंग कैमरे तथा ग्रामीण क्षेत्र के मतदान केंद्र पर वीडियोग्राफी कैमरे लगाए जाएंगे।