BREAKING NEWS

सावधान! अगर अब भी नहीं सुधरें तो 35 से कम उम्र में आ सकता है Heart Attack◾राहुल गांधी के सामने 'मोदी-मोदी' नारे पर भड़के कन्हैया कुमार, कहा- दिन 'महंगाई-महंगाई' चिल्लाएंगे ◾वीर सावरकर पर टिप्पणी करना राहुल गांधी को पड़ा भारी, सुप्रीम कोर्ट ने मांगी पूरी रिपोर्ट, दो दिन बाद सुनवाई ◾UP News: हिन्दू महासभा के ऐलान से हाई अलर्ट पर मथुरा, धारा 141 लागू, जानें क्या है मामला ◾श्रद्धा मर्डर केस : दुनिया के सबसे महंगे केस से आफताब ने सीखे पुलिस को गुमराह करने दांव-पेच◾लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में आशीष मिश्रा सहित 14 पर आरोप तय, 16 दिसंबर से कोर्ट ट्रायल शुरू ◾Electric Vehicle लेने वालों को जल्द सरकार देगी तोहफा, नितिन गडकरी का ऐलान◾लालू की बेटी रोहिणी को लेकर गिरिराज का ट्वीट, भर-भर कर डाली तारीफ... अगली पीढ़ी के लिए बनोगी उदहारण◾एशिया के सबसे बड़े दानवीरों की लिस्ट में गौतम अडानी समेत तीन भारतीयों के नाम हुए शामिल◾PFI case: इसरार अली और मोहम्मद समून को मिली राहत, अदालत ने दी सशर्त जमानत ◾Babri Masjid Demolition Anniversary : बाबरी मस्जिद विध्वंस की बरसी पर बोले ओवैसी◾AYODHYA ;बाबरी मस्जिद गिराए जाने के तीन दशक बाद तीर्थनगरी का माहौल कैसा?◾Yamuna Expressway: दुर्घटनाएं रोकने के लिए 15 दिसंबर से गति सीमा में होगा बदलाव, नहीं दौड़ पाएंगे तेज वाहन◾CANADA MURDER : कनाडा में भारतीय महिला के सिर पर गोली मारकर शूटर हुआ फ़रार, पुलिस कर रही तलाश ◾अधीर रंजन चौधरी ने केंद्र की नीतियों को लिया आडे़ हाथों, संसद के शीतकालीन सत्र की तारीख को लेकर कही यह बात◾MCD चुनाव 2022: तारीख, समय और परिणाम◾इंडोनेशिया में नया कानून, प्री-मैरिटल सेक्स बैन, अपराध श्रेणी में Live-in-relationship◾मार्केट में 500 रुपये के नकली नोट होने की खबर, RBI ने दी जानकारी...जानें किसे बताया जा रहा जाली ◾6 दिसंबर का दिन हमारी पीढ़ी कभी नहीं भूलेगी.... लोकतंत्र का काला दिन, बाबरी मस्जिद विध्वंस की बरसी पर बोले ओवैसी◾बिहार पुलिस में बंपर बहाली, 62 हजार नए पदों पर मिलेगी नौकरी, महिलाओं को भी दिया जाएगा 35% आरक्षण◾

एशिया की दूसरी बडी कृत्रिम मीठे पानी की झील फिर छलकने को आतुर

उदयपुर : एशिया की दूसरी बडी कृत्रिम मीठे पानी की झील जयसमंद झील पिछले 27 वर्षो में पांचवी बार छलकने को आतुर हैं। जल संसाधन विभाग के सूत्रों के अनुसार 27 फीट भराव क्षमता वाली यह झील वर्ष 1973, 1990,1994,2016 में छलकी थी तथा इस वर्ष लबालब हो चुकी हैं। वर्ष 2006 में मूसलाधार बारिश से जयसमंद का गेज 27 फीट से ऊपर चला गया था। मेवल और छप्पन की लाइफ लाइन कही जाने वाली जयसमंद झील के भरने की उम्मीद लगाये रहते हैं।

\"\"

Source

उदयपुर शहर की जलापूर्ति का सबसे बडा जलापूर्ति का केन्द्र भी यही झील हैं। यहां से पाईपलाइन से रोजाना हजारों लीटर पानी उदयपुर में आता हैं। कहा जाता है कि इस झील को भरने के लिए नौ नदी और 99 नालें मदद करते हैं। इसमें मुख्यत: गोमती नदी जिसको खरका नदी कहते हैं, झाझरी नदी, सिरोली नदी, मकरेडिी नदी, बम्बोरा, खेराटी नदी, रुपारेल नदी, कुराबड, बुंढेल और गींगला नदी समेत 99 नालों का संगम होता हैं।

\"\"

Source

गौरतलब है कि मेवाड के महाराजा जयसिंह ने गोमती नदी पर वर्ष 1685 में इसका शिलान्यास किया और वर्ष 1730 में इसकी पाल बनकर तैयार हो चुकी थी। महाराज जयसिंह के नाम से इसका नाम जयसमंद झील रखा गया था। यहां आने वाले देशी विदेशी पर्यटक इसकी खासियत से खींचा चला आता हैं। पाल की लंबाई 335 मीटर हैं तो ऊंचाई 35 मीटर हैं इसका कुल भंडारण क्षमता 414.6 मिलियन एकड़ फीट है, 37 हजार हेक्टेयर से भी ज्यादा कमांड ऐरिया हैं।

\"\"

Source

भाजपा शहर अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ ने भी बधाईयों का सिलसिला बनाए रखा।पूर्व सांसद रासा सिंह रावत, जिला कलेक्टर गौरव गोयल, पुलिस अधीक्षक राजेंद्र सिंह चौधरी, सिटी मजिस्ट्रेट अरविन्द कुमार सेंगवा आदि ने भी प्रशासन की ओर से ईद की मुबारकबाद दी। अजमेर दरगाह शरीफ स्थित शाहजहांनी मस्जिद, संदली मस्जिद पर भी बड़ी संख्या में जायरीनों ने नमाज अता की।

\"\"

Source

इस मौके पर ख्वाजा साहब की बारगाह में हाजिरी देकर सभी ने पूरे विश्व व हिन्दुस्तान में तरक्की व खुशहाली की दुआ की। दरगाह दीवान जैनुअल आबेदीन, अंजुमन सचिव वाहिद हुसैन अंगारा, दरगाह खादिम शेख जुल्फीकार चिश्ती व एस.एफ.हसन चिश्ती ने भी मुस्लिम भाइयों को ईद की शुभकामनाएं दी व अल्लाह का शुक्राना अदा किया। इसके अलावा ईदगाह नौसर घाटी, ईदगाह रातीडांग, सूफी मस्जिद सोमलपुर, दरगाह मीरासाहब तारागढ़, कच्हरी मस्जिद, मस्जिद घंटाघर पर भी ईद की नमाज अता की गई।

\"\"

Source

जिले के नसीराबाद स्थित कोटा व श्रीनगर रोड की ईदगाहों में शहर काजी मोहम्मद फुरकान ने नमाज अता कराई। साथ ही ब्यावर , पीसागन व अन्य मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्रों से भी ईद की नमाज अदा कर खुशहाली की कामना की दुआ करने के समाचार है।ईद के मुबारक मौके पर अजमेर दरगाह शरीफ स्थित जन्नती दरवाजा आज तड़के सुबह खोला गया। अकीदतमंद देर रात से ही पंक्ति लगाकर जन्नती दरवाजे से निकलकर जियारत करने के लिए बेताब नजर आए। साल में चार बार खुलने वाला यह दरवाजा आज चंद घंटों के लिए खोला गया।दिन में नमाज के बाद ढाई बजे दरवाजे को बंद कर दिया जाएगा।

\"\"

Source

ईद को देखते हुए अजमेर जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन ने सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता बंदोबस्त किए है।साथ ही नगर निगम की ओर से भी सफाई आदि की माकूल व्यवस्था की गई है। ख्वाजा साहब की दरगाह का क्षेत्र ईद की खुशियों से भरा पड़ा है और अब नमाज की धार्मिक क्रिया पूरी होने के बाद 'कुर्बानी' का सिलसिला शुरू हो रहा है जो देर रात तक चलेगा।