BREAKING NEWS

निर्मला सीतारमण पूर्व PM एच डी देवेगौड़ा का हालचाल जानने पहुंचीं◾America Cyclone : अमेरिका के फ्लोरिडा में चक्रवात से भारी तबाही, बिजली गुल होने से 25 लाख लोग प्रभावित◾दशहरे पर हैदराबाद में मंच सजाएंगे केसीआर, राष्ट्रीय दल की करेंगे घोषणा ◾गहलोत को झटका, सचिन को ताज ? सोनिया गांधी से दोनों के मुलाकात अलग -अलग मायने◾Congress: सोनिया गांधी अगले दो दिन के अंदर सीएम पद के लिए करेगी फैसला, जानें पूरी मिस्ट्री ◾दिग्विजय सिंह का कांग्रेस अध्यक्ष बनना तय ? परिस्थिति के अनुसार बदलते गए समीकरण ◾2023 में ही तेजस्वी को सीएम बनाएंगे नीतीश ? आरजेड़ी नेता के बयान को लगी सियासी हवा ◾पंजाब : चर्च में तोड़फोड़, धार्मिक तनाव, छावनी में तब्दील हुआ घटनास्थल◾Maharashtra: ठाकरे का एकनाथ शिंदे पर तीखा वार- भगवा ध्वज दिल में होना चाहिए, केवल हाथ में नहीं ◾14 साल पहले गोद ली गई लड़की ने आशिक के साथ मिलकर घोटा पिता का गला, दोनों गिरफ्तार ◾इशारों-इशारों में अखिलेश ने दिए मायावती से फिर दोस्ती के संकेत, सपा और बसपा का हो सकता है गठबंधन?◾कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव नहीं लड़ेंगे अशोक गहलोत, सोनिया से मांगी माफी◾असम में दर्दनाक हादसा, ब्रह्मपुत्र नदी में नाव डूबने से 10 लोग लापता, SDRF- NDRF ने सर्च ऑपरेशन शुरू किया ◾पीएफआई को केरल हाईकोर्ट ने दी बड़ी चोट, हिंसा में तोड़फोड़ का वसूला जाएगा हर्जाना ◾बिहार : बालू माफियाओं के बीच वर्चस्व की खूनी जंग, पांच लोगों की हत्या ◾राहुल गांधी के कर्नाटक दौरे से पहले फटे पोस्टर, कांग्रेस ने भाजपा पर उठाए सवाल ◾बिहार बीजेपी का अगला अध्यक्ष कौन ? गठबंधन टूटने के बाद सियासी समीकरणों को साधने की कोशिश◾UP News: अलीगढ़ की मीट फैक्ट्री में हादसा, अमोनिया गैस का हुआ रिसाव, 50 मजदूर बेहोश, DM-SP मौके पर मौजूद ◾दिग्विजय भी लड़ेंगे कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव, कल दाखिल करेंगे नामांकन पत्र ◾उत्तर प्रदेश : छोटी सी बात को लेकर हुआ पति-पत्नी में विवाद, लेनी पड़ी एक अपनी जान ◾

ISRO के नए अध्यक्ष बने डॉ एस सोमनाथ, विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र के रह चुकें है निदेशक

देश की अंतरिक्ष केंद्र संस्थान विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र (वीएसएससी) के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ एस सोमनाथ ने भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) एवं अंतरिक्ष विभाग के सचिव के नए प्रमुख के तौर पर पदभार ग्रहण कर लिया है। उन्होंने यह पद डॉ.के.सिवान के सेवानिवृत होने के बाद संभाला है। डॉ सिवान का विस्तारित कार्यकाल शुक्रवार 14 जनवरी को खत्म हो गया था। इसरो की ओर से नए प्रमुख के बारे में जानकारी देते हुए बताया गया कि डॉ सोमनाथ चार साल तक वीएसएससी के निदेशक रहे हैं और वह वलियामाला स्थित तरल प्रणोदन प्रणाली केंद्र (एलपीएससी) के निदेशक के रूप में भी ढाई साल कार्य कर चुके हैं। 

वर्ष 1985 में वीएसएससी में हुए थे शामिल 

इसरो के नए अध्यक्ष डॉ.सोमनाथ ने कोल्लम स्थित टीकेएम इंजीनियरिंग कॉलेज से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में बी.टेक की डिग्री हासिल की है। उन्होंने बेंगलुरु स्थित भारतीय विज्ञान संस्थान से एयरोस्पेस इंजीनियरिंग में संरचना, गतिशीलता और नियंत्रण में विशेषज्ञता तथा स्वर्ण पदक के साथ परास्नातक की डिग्री हासिल की। वह 1985 में वीएसएससी में शामिल हुए और पीएसएलवी के इंटरगेशन के प्रारंभिक चरणों में टीम के लीडर भी रह चुके हैं। डॉ सोमनाथ प्रक्षेपण यानों के सिस्टम इंजीनियरिंग के विशेषज्ञ हैं। उन्होंने पीएसएलवी और जीएसएलवी-एमके 3 प्रक्षेपण यान के पूरे आर्किटेक्चर जैसे स्ट्रक्चरल डिजाइन, स्ट्रक्चरल डायनामिक्स डिजाइन, सेपरेशन सिस्टम, वेहिकल इंटीग्रेशन और इंटीग्रेशन प्रोस्यूजर डव्लपमेंट में योगदान दिया।

कई अवार्ड से किए जा चुके है सम्मानित 

डॉ सोमनाथ ने एस्ट्रोनॉटिकल सोसाइटी ऑफ इंडिया ने ‘स्पेस गोल्ड मेडल’ से सम्मानित किया जा रहा है। इसके अलावा उन्हें इसरो से ‘मेरिट अवार्ड’ और ‘परफॉर्मेंस एक्सीलेंस अवार्ड’ मिला है तथा जीएसएलवी एमके के विकास के लिए ‘टीम उत्कृष्टता पुरस्कार’ भी हासिल हो चुके हैं। गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने गत बुधवार को ही डॉ एस सोमनाथ को अंतरिक्ष विभाग का सचिव और अंतरिक्ष आयोग का अध्यक्ष नियुक्त किया था। कार्मिक मंत्रालय के एक आदेश में कहा गया है कि, उनका कार्यकाल नियुक्ति से तीन साल के लिए होगा। इसमें रिटायरमेंट के बाद उनका विस्तारित कार्यकाल भी शामिल है। डॉ सोमनाथ की पत्नी का नाम वलसाला है और वह जीएसटी विभाग में काम करती हैं। दोनों के दो बच्चे हैं और दोनों बच्चों ने इंजीनियरिंग में मास्टर डिग्री हासिल की है।