BREAKING NEWS

Udaipur Murder Case: उदयपुर हत्याकांड के बाद अलर्ट पर यूपी पुलिस ◾Maharashtra News: हमारे पास 50 विधायकों का समर्थन......., एकनाथ शिंदे का बड़ा दावा◾ कन्हैयालाल की हत्या पर बोले औवेसी- घटना आतंकी कृत्य ◾उदयपुर में हत्या के मामले पर अनुराग ठाकुर बोले- गहलोत हमेशा अपनी जिम्मेदारी से बचते रहते है ◾Vice President Election: उपराष्ट्रपति चुनाव की रूपरेखा तैयार, 6 अगस्त को होगा मतदान, इस दिन भरा जाएगा नामांकन ◾ युवाओं को अग्निवीर बनने का चढ़ रहा जुनून, छह दिन में वायुसेना को प्राप्त हुए दो लाख से ज्यादा आवेदन ◾Kanhaiya Lal Murder: कन्हैया लाल का हुआ अंतिम संस्कार, उदयपुर हत्याकांड की जांच एनआईए को सौंपी गई ◾GST के दायरे में आएंगे खाद्य पदार्थ, राहुल बोले-PM का ‘गब्बर सिंह टैक्स’ बना ‘गृहस्थी सर्वनाश टैक्स’ ◾बिहार में ओवैसी को बड़ा झटका, AIMIM के चार विधायक RJD में शामिल ◾नवाब मलिक और अनिल देशमुख ने किया SC का रुख, शक्ति परीक्षण में भाग लेने की मांगी अनुमति◾मुकेश अंबानी को सुरक्षा देने के मामले में SC ने त्रिपुरा HC के फैसले पर लगाई रोक, जानिए क्या है मामला ◾कराह उठा हर कोई, राक्षस से ऊपर बढ़कर किया गया कन्हैयालाल का कत्ल, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बड़ा खुलासा ◾उदयपुर हत्याकांड को लेकर उमा भारती ने गहलोत सरकार को घेरा, प्रज्ञा बोली- कांग्रेस अभी भी जिंदा है देश शर्मिंदा है◾कन्हैयालाल मर्डर केस : राज्यवर्धन राठौर बोले-राजस्थान में कांग्रेस की नंपुसक सरकार◾ जीटीए चुनाव में तृणमूल कांग्रेस ने खोला खाता, एक सीट जीती , मतगणना जारी ◾'दोषियों को तुरंत ठोंक देना चाहिए', कन्हैयालाल की हत्या पर बोले प्रताप सिंह खाचरियावास◾असम में बाढ़ राहत कार्य के लिए शिवसेना के बागी विधायकों ने दिए 51 लाख रुपए, कल पेश करेंगे विश्वास मत ◾उदयपुर : NIA अपने हाथ में लेगी कन्हैया लाल हत्याकांड की जांच, गृह मंत्रालय का निर्देश◾उदयपुर हत्याकांड पर बोले CM गहलोत- यह कोई मामूली घटना नहीं, जांच के लिए गठित की SIT ◾नवीन कुमार जिंदल को मिली जान से मारने की धमकी, ईमेल में भेजा उदयपुर हत्याकांड का वीडियो◾

तेलंगाना के हैदराबाद में पीएम मोदी की हुंकार ,बोले- युवाओं से मौके छीन लेता है परिवारवाद....

आज यानी गुरूवार को इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस की 20वीं वर्षगांठ समारोह में शामिल होने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हैदराबाद पहुंचे। जहां उन्होंने सभा को संबोधित किया और कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी पार्टी पर निशाना साधा। पीएम ने कहा कि जहां से परिवारवादी पार्टियां साफ, वहां विकास तेज होता है। परिवारवादी पार्टियां लोकतंत्र की दुश्मन, परिवारवाद युवाओं से मौके छीन लेता है। परिवारवादी पार्टियां सिर्फ अपना भला चाहती हैं- ऐसी पार्टियों का नारा है एक परिवार लगातार। परिवारवाद युवाओं के सपनों को कुचलता है। परिवारवादी पार्टियां सिर्फ अपनी तिजोरियां ही भरती हैं प्रदेश का भला कभी नहीं चाहती हैं।

परिवारवादी पार्टियों को गरीब की कोई चिंता और परवाह नहीं होतीः पीएम 

 पीएम ने कहा कि तेलंगाना ने देखा है कि जब एक परिवार के लोग सत्ता में आते हैं तो कैसे भ्रष्टाचार का सबसे बड़ा चेहरा बन जाते हैं। किस तरह ये पार्टियों सिर्फ अपना विकास करती हैं और अपने रिश्तेदारों की तिजोरियां भरती हैं। इन परिवारवादी पार्टियों को गरीब की कोई चिंता और परवाह नहीं होती। इनकी राजनीति सिर्फ यही है कि एक परिवार लगातार सत्ता पर कब्जा करके लूट सके तो लूटता रहे। इसीलिए ये लोग समाज को बांटने की साजिश रचते हैं।

 सीएम योगी आदित्यनाथ का भी किया जिक्र

इस दौरान पीएम मोदी ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि, मैं तेलंगाना की इस धरती से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी को भी बधाई देता हूं। उनको किसी ने कहा कि फलां जगह पर नहीं जाना चाहिए, लेकिन योगी जी ने कहा कि मैं विज्ञान पर विश्वास करता हूं और वो चले गए। आज वो दोबारा मुख्यमंत्री बने हैं।

पीएम मोदी ने आगे कहा कि, परिवारवाद की वजह से देश के युवाओं को, देश की प्रतिभाओं को राजनीति में आने का अवसर भी नहीं मिलता है। परिवारवाद उनके हर सपनों को कुचलता है और उनके लिए हर दरवाजे बंद करता है। इसलिए आज 21वीं सदी के भारत के लिए परिवारवाद से मुक्ति एक संकल्प भी है और एक नैतिक आंदोलन भी है। जहां ये परिवारवादी पार्टी हटी हैं, वहां विकास के रास्ते खुले हैं। इस अभियान को आगे बढ़ाने की जिम्मेदारी तेलंगाना की है। भाजपा की लड़ाई तेलंगाना के भविष्य के लिए है।

 8 साल पूरे

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार ने 8 साल पूरे कर लिए हैं, पीएम मोदी 26 मई 2014 को पहली बार देश के प्रधानमंत्री बने थे। वैसे तो प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ ग्रहण करने के साथ ही उन्होंने कई रिकॉर्ड बना दिए थे लेकिन पिछले 8 वर्षों से रिकॉर्ड बनाने का उनका सफर लगातार जारी है। 2014 में सत्ता की बागडोर संभालने वाले नरेंद्र मोदी देश के पहले ऐसे प्रधानमंत्री थे, जिनका जन्म आजाद भारत में हुआ था।